लाइव टीवी

रोड एक्सीडेंट में चौथे नंबर पर है MP : सरकार ने जनता से मांगी मदद

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 12, 2019, 2:02 PM IST
रोड एक्सीडेंट में चौथे नंबर पर है MP : सरकार ने जनता से मांगी मदद
रोड एक्सीडेंट रोकने के लिए सरकार ने जनता से मांगे सुझाव (सांकेतिक तस्वीर)

देश भर में रोड एक्सीडेंट (road accident) के मामले में चौथे और मौत के मामले में एमपी (mp) दूसरे नंबर पर है.इनमें से अधिकतर दुर्घटनाएं और मौत (death) हमारी ही लापरवाही के कारण होती हैं.यातायात नियम तोड़ना एक आम प्रवृत्ति बन गई है

  • Share this:
भोपाल.मध्यप्रदेश (Madhya pradesh) में साल दर साल बढ़ रहे सड़क हादसों (road accidents) पर अंकुश लगाने के लिए कमलनाथ सरकार (kamalnath government) ने जनता से मदद मांगी है.सरकार ने ऑनलाइन (online) जनता से सुझाव (suggestion) और विचार मांगे हैं ताकि नए साल में ट्रैफिक सुरक्षा (Traffic safety) उपायों को लेकर नया प्लान तैयार कर लागू किया जा सके.पुलिस विभाग के साथ दूसरी एजेंसी इस प्लान पर काम कर रही है.लेकिन सरकार की कोशिश है कि जनता सुझाव दे ताकि एक पुख्ता प्लान तैयार किया जा सके.

सरकार का मानना है छोटे-छोटे एहतियाती उपायों से रोड एक्सीडेंट से बचा जा सकता है. कम स्पीड, सीटबेल्ट और हेलमेट ये ऐसे उपाय हैं जिनके ज़रिए दुर्घटना एक हद तक कम की जा सकती हैं. यातायात विभाग राज्य में रोड सेफ्टी के उपाय बेहतर बनाने के लिए काम कर रहा है.यातायात को और अधिक सुरक्षित और सुविधा जनक बनाना कोई असंभव कार्य नहीं है. विभाग का कहना है हमारी तरफ से तमाम कोशिशें की जाती हैं, लेकिन जिम्मेदार नागरिकों को भी इस काम में अपनी भूमिका निभाना चाहिए.यदि नागरिक जागरुक होकर ट्रैफिक नियमों का पालन करेंगे और दूसरे व्यक्ति को यातायात के प्रति जागरुक करेंगे, तो सब सुरक्षित रहेंगे.

दूसरे नंबर पर एमपी
देश भर में रोड एक्सीडेंट के मामले में चौथे और मौत के मामले में एमपी दूसरे नंबर पर है.इनमें से अधिकतर दुर्घटनाएं और मौत हमारी ही लापरवाही के कारण होती हैं.यातायात नियम तोड़ना एक आम प्रवृत्ति बन गई है.अक्सर हड़बड़ी या जल्दबाजी में, रैड लाइट जंप करना, हेलमेट और सीट बेल्ट ना लगाना आम बात है. तेज़ रफ़्तार में गाड़ी चलाना और ओवरटेक करने से सबसे ज़्यादा एक्सीडेंट होते हैं. शराब पीकर और फोन पर बात करते हुए गाड़ी चलाना भी दुर्घटना को न्यौता देना है.

ऐसे दें सुझााव
एहतियाती और सुरक्षात्मक उपायों को लेकर ट्रैफिक डिपार्टमेंट ने जनता से सुझाव मांगे हैं.कोई भी व्यक्ति अपने महत्वपूर्ण सुझाव और विचार mp.mygov.in पर शेयर कर सकता है.सबसे पहले अपने सुझाव सरकार से साझा करने के लिए mp.mygov.in पर लॉग इन करना होगा. सुझाव विषय संबंधी होने चाहिए.इसमें डुप्लीकेट और दो से ज्यादा प्रविष्टियां मान्य नहीं होंगी.

नये साल में नया प्लानसरकार को सुझाव मिलना शुरू हो गए हैं.इन विचारों और सुझाव की लिस्टिंग शुरू हो गई है.किसी ने ट्रैफिक नियम सख्ती से पालन कराने के लिए कहा, तो कई लोगों ने कहा इसके लिए लापरवाही ज़िम्मेदार है. कई लोगों ने सड़क को सुधारने का सुझाव सरकार को दिया.इसके अलावा भी कई सुझाव ऐसे आए, जिन्होंने हादसों के लिए सरकार को जिम्मेदार ठहराया.

ये भी पढ़ें-अगर किन्नर आपके घर आएं तो ध्यान से सुनिए उनकी बात...

शादी के 7 महीने बाद तीन तलाक और फिर हलाला के नाम पर तांत्रिक ने किया रेप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 12, 2019, 2:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर