Home /News /madhya-pradesh /

मध्यप्रदेश सरकार अब बकरी का दूध भी बेचेगी, सॉची पॉर्लर से शुरू हुई सप्लाई

मध्यप्रदेश सरकार अब बकरी का दूध भी बेचेगी, सॉची पॉर्लर से शुरू हुई सप्लाई

बकरी का दूध हड्डियों को मजबूत करने, हृदय के लिए फायदेमंद और एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुणों से भी भरपूर है.

बकरी का दूध हड्डियों को मजबूत करने, हृदय के लिए फायदेमंद और एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुणों से भी भरपूर है.

Jabalpur : मध्य प्रदेश सहकारी दुग्ध संघ अब बकरी का दूध लेकर बाजार में आ गया है. फिलहाल ये जबलपुर के सांची पार्लर्स ( Sanchi Parlour) पर उपलब्ध है. धीरे धीरे इसका मार्केट बढ़ाया जाएगा. बकरी का दूध 30 रुपये में 200 मि सांची के ब्रांड नेम से बकरी का दूध बाजार में उतार दिया गया है। लोग जगह-जगह बने सांची के पार्लर से बोतल बंद दूध रेडी टू ड्रिंक खरीद सकते हैं।

अधिक पढ़ें ...

जबलपुर. मध्य प्रदेश का सहकारी दुग्ध संघ नया प्रोडक्ट लेकर बाजार में उतर आया है. संघ अब बकरी का दूध भी बेचेगा. सांची (Sanchi) के ब्रांड नेम से बकरी का दूध बाजार में लॉन्च कर दिया गया है. लोग जगह-जगह बने सांची पार्लर से बोतल बंद रेडी टू ड्रिंक बकरी का दूध खरीद सकते हैं. फिलहाल ये जबलपुर के सांची पार्लर से इसकी शुरुआत हो गयी है. धीरे धीरे इसका मार्केट बढ़ाया जाएगा.

बकरी के दूध में कई पौष्टिक तत्व
विशेषज्ञ मानते हैं कि बकरी के दूध से इम्यून सिस्टम के साथ मेटाबोलिज्म भी बढ़ता है. बकरी का दूध हड्डियों को मजबूत करने, हृदय के लिए फायदेमंद और एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुणों से भी भरपूर है. बकरी का स्टरलाइज्ड दूध इम्युनिटी बूस्टर का काम करेगा. क्योंकि दूध पौष्टिक खनिज तत्वों से भरपूर होता है. महात्मा गांधी भी बकरी का दूध पीते थे.

रोजगार का नया ज़रिया
अभी आमतौर पर बकरी का दूध बाजार में नहीं मिलता है. लोग अपने इस्तेमाल के लिए बकरी पालते हैं. लेकिन अब दुग्ध संघ की कोशिश के बाद जबलपुर के लोगों को आसानी से स्वास्थ्यवर्धक और सुपाच्य बकरी का दूध मिलने लगेगा. इससे ग्रामीण आजीविका मिशन को भी लाभ होगा.  गांव के किसान कम दाम में बकरी पालन का व्यवसाय अपना सकेंगे. इससे उन्हें आय का एक जरिया मिलेगा.

ये भी पढ़ें- जब सियासत और खेल के दो धुरंधरों शिवराज और सचिन तेंदुलकर की हुई मुलाकात, क्या बात हुई ? 

30 रुपये में 200 मिमी
मध्यप्रदेश दुग्ध संघ का लोकप्रिय ब्रांड सांची के नाम से मार्केट में है. इसमें दूध-दही से लेकर श्रीखंड और पेड़े तक हैं. संघ अभी सहकारी समितियों के जरिए गांव-गांव से दूध इकट्ठा करता है. अब वो बकरियों का दूध भी लेगा. मध्यप्रदेश दुग्ध संघ,जबलपुर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी दीपक शर्मा ने बताया कि 200 मिली की बॉटल में बकरी के दूध की अधिकतम कीमत 30 रुपये रखी गई है. फिलहाल ये दूध जबलपुर दुग्ध संघ के सांची पार्लर पर ही उपलब्ध है. ग्राहकों का रिस्पॉंस देखते हुए धीरे धीरे इसका मार्केट बढ़ाया जाएगा.

Tags: Jabalpur news, Madhya pradesh latest news, Milk

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर