लाइव टीवी

मध्‍य प्रदेश: लालजी टंडन ने विधानसभा अध्यक्ष को लिखा पत्र, कहा- बटन दबाकर नहीं होगा मतदान
Bhopal News in Hindi

News18 Madhya Pradesh
Updated: March 16, 2020, 12:02 AM IST
मध्‍य प्रदेश: लालजी टंडन ने विधानसभा अध्यक्ष को लिखा पत्र, कहा- बटन दबाकर नहीं होगा मतदान
सियासी संकट के बीच राज्यपाल लालजी टंडन ने विधानसभा स्पीकर ने एक चिट्ठी लिखी है. (फाइल फोटो)

प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन (Lalji Tandon) ने विधानसभा स्पीकर को एक चिट्ठी लिखी है. इस चिट्ठी में उन्होंने कहा है कि फ्लोर टेस्ट की स्थिति में बटन दबाकर मतदान नहीं होगा.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश विधानसभा (Madhya Pradesh Assembly) के बजट सत्र की शुरुआत सोमवार से होने जा रहा है. सत्र की कार्यसूची भी जारी कर दी गई है. हालांकि इसमें कहीं भी फ्लोर टेस्ट का जिक्र नहीं है. इस पूरे घटनाक्रम के बीच खबर है कि प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन (Lalji Tandon) ने विधानसभा स्पीकर को पत्र लिखकर कहा है कि फ्लोर टेस्ट होने की स्थिति में बटन दबाकर मतदान नहीं होगा. उन्होंने कहा ‌कि इस दौरान सभी विधानसभा सदस्य हाथ उठाकर ही अपना मत दर्ज करवाएंगे.

कार्यसूची में नहीं है जिक्र
मध्य प्रदेश में राजनीतिक संकट चल रहा है. इस बीच सोमवार से होने वाले बजट सत्र की कार्यसूची जारी हो चुकी है. लेकिन बजट सत्र के पहले दिन की कार्यसूची में कही भी फ्लोर टेस्ट का जिक्र नहीं है. इस सूची के अनुसार, इस दिन सबसे पहले राज्यपाल का विधानसभा में अभिभाषण होगा. बता दें, बीजेपी नेता लगातार फ्लोर टेस्ट की मांग कर रहे हैं. वहीं कांग्रेस नेता इस परिस्थिति में बहुमत सिद्ध करने का दावा कर रहे हैं.



उन्होंने बीजेपी पर आरोप लगाया कि कांग्रेस के विधायकों को बेंगलुरु में बंदी बना कर रखा गया है. कमलनाथ ने यह भी कहा कि बीजेपी की इस हरकत पर प्रदेश की जनता को ही सोचना है कि किस हद तक बीजेपी घबराई हुई है.

बीजेपी के नेता ही लाए इस्तीफे
इस बातचीत में कमलनाथ ने कहा कि बीजेपी अपने ही जहाज में बैठाकर कांग्रेस विधायकों को बेंगलुरु ले गई. वहां कर्नाटक पुलिस उनकी सुरक्षा कर रही है और अब उनके इस्तीफे भी बीजेपी नेता लाकर दे रहे हैं. ऐसे में साफ है कि कांग्रेस के विधायकों को बंदी बनाकर रखा जा रहा है.

उन्होंने कहा कि मतदान का अर्थ तो तभी है जब सारे लोग स्वतंत्र होकर वोट दें. इसके साथ उन्होंने यह भी कहा कि फ्लोर टेस्ट को लेकर वे पूरी तरह से आश्वस्त हैं और उनकी सरकार को कोई खतरा नहीं है.

डर गई है बीजेपी
सीएम कमलनाथ ने कहा कि उनकी ओर से प्रदेश में चलाए जा रहे अभियानों के कारण बीजेपी डर गई है. सीएम ने कहा कि माफियाओं और कालाबजारी के खिलाफ लगातार चल रहे अभियानों के बाद बीजेपी ने बचने के लिए यह नया पैंतरा चला है. उन्होंने कहा कि पिछले 15 सालों में बीजेपी सरकार के कार्यकाल में हुए घोटालों के उजागर होने के डर से अब ये काम किया जा रहा है. उन्होंने सारे विधायकों के साथ होने का दावा किया और कहा किसी भी तरह का डर नहीं है.

विधानसभा अध्यक्ष को करना है निर्णय
कोरोना के खतरे को लेकर विधानसभा सत्र पर खतरे के सवाल पर सीएम ने कहा कि इस संबंध में फैसला पूरी तरह से विधानसभा अध्यक्ष का होगा. इसके साथ ही कमलनाथ ने राज्यपाल से वे संविधान के रक्षक की भूमिका निभाने की अपील की.

ये भी पढ़ें: MP में नहीं होगा फ्लोर टेस्ट! बजट सत्र की कार्य सूची में नहीं है जिक्र

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 15, 2020, 9:36 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर