Home /News /madhya-pradesh /

Gwalior : भेस बदलकर प्रेमिका से मिलने आया था डबरा उप जेल ब्रेक का फरार वॉंटेड जुगरु, पुलिस ने उठा लिया

Gwalior : भेस बदलकर प्रेमिका से मिलने आया था डबरा उप जेल ब्रेक का फरार वॉंटेड जुगरु, पुलिस ने उठा लिया

जुगरू दो साल से ग्वालियर पुलिस को चकमा दे रहा था

जुगरू दो साल से ग्वालियर पुलिस को चकमा दे रहा था

Gwalior : जुगरू पर अकेले डबरा तहसील के थानों में ही 19 संगीन मामले दर्ज हैं. इनमे लूट-डकैती, अपहरण, पॉक्सो एक्ट, मारपीट, कुल्हाड़ी से हमला और अवैध हथियारों की तस्करी के अपराध हैं.

ग्वालियर. डबरा जेल ब्रेक (Dabra jail Break) का आरोपी और ग्वालियर-डबरा पुलिस का मोस्ट वॉन्टेड वीरेन्द्र रावत उर्फ जगरू पकड़ा गया. पुलिस (Police) ने लंबी निगरानी के बाद उसे उसकी प्रेमिका के घर पकड़ा. वो भेष बदलकर प्रेमिका से मिलने आया था. लेकिन पहले से उसके इंतजार में खड़ी पुलिस ने उसे वहीं धरदबोचा.

अपनी गर्लफ्रेंड से मिलने आए शातिर बदमाश वीरेन्द्र रावत को पुलिस ने दबोच लिया. हजीरा पुलिस को खबर मिली थी कि डबरा का मोस्ट वांटेड बदमाश वीरेंद्र रावत उर्फ जुगरु इलाके में रहने वाली प्रेमिका के घर मिलने आता है. बदमाश को पकड़ने के लिए हजीरा पुलिस 15 दिन से प्रेमिका के घर की निगरानी कर रही थी. वो भेस बदलकर प्रेमिका के घर पहुंचा. मुखबिर का इशारा मिलते ही पुलिस ने वीरेंद्र को दबोच लिया. शातिर बदमाश वीरेंद्र पर डबरा तहसील के थानों में ही 19 अपराध दर्ज़ हैं.

प्रेमिका से नहीं मिल पाया…
शातिर बदमाश वीरेंद्र रावत उर्फ जुगरू डबरा के कंचनपुर का रहने वाला है. डबरा पुलिस को डकैती, अवैध हथियार और तस्करी के मामले में लंबे समय से उसकी तलाश थी. वो लगातार 2 साल से पुलिस को चकमा दे रहा था. पुलिस के दबिश देने से पहले ही वह फरार हो जाता था. इसी बीच हजीरा TI आलोक सिंह परिहार को मुखबिर ने खबर दी थी कि वीरेन्द्र रावत उर्फ जुगरु हजीरा थाना के सुभाषपुरा में रहने वाली अपनी गर्लफ्रेंड से मिलने महीने- 15 दिन में आता रहता है. टीआई ने प्रेमिका के घर की निगरानी के लिए एक टीम को लगा दिया. प्रेमिका जब बाजार या रिश्तेदार के घर जाती थी पुलिस उसकी निगरानी रखती थी. इस बीच बदमाश के ग्वालियर में अपनी गर्लफ्रेंड के घर आने की पुख़्ता खबर मिली. इस पर टीआई ने SI आनंद कुमार की अगुआई में टीम बनाकर घेराबंदी कर दी. अब प्रेमिका के साथ पुलिस को भी उसके आने का इंतजार था. खबर सही निकली. जुगरू रात के अंधेरे में भेष बदलकर अपनी गर्लफ्रेंड के घर पहुंचा. लेकिन वो मिल पाता उससे पहले ही चारों से तरफ से पुलिस ने घेराबंदी कर बाहर से ही उठा  लिया.

जेल से फरार हो चुका वीरेंद्र 19 से ज्यादा मामलों में वांटेड…
CSP रवि सिंह भदौरिया ने बताया कि वीरेंद्र उर्फ जुगरु से हजीरा थाना लाकर पूछताछ की गई. दस्तावेजी कार्रवाई करने के बाद जुगरु को डबरा पुलिस के हवाले कर दिया. साल 2011 में डबरा उपजेल जेल ब्रेक कांड हुआ था. चाय में नींद की गोलियां मिलाकर प्रहरियों को पिलाकर कैदी फरार हुए थे. उन कैदियों में वीरेन्द्र रावत उर्फ जुगरू भी शामिल था.  2016 में जुगरू पकड़ा भी गया था. वो डकैती के एक मामले में भी फंसा था और फरार होने के बाद से पुलिस को लगातार चकमा दे रहा था. जुगरू पर अकेले डबरा तहसील के थानों में ही 19 संगीन मामले दर्ज हैं. इनमे लूट-डकैती, अपहरण, पॉक्सो एक्ट, मारपीट, कुल्हाड़ी से हमला और अवैध हथियारों की तस्करी के अपराध हैं.

Tags: Gwalior Central Jail, Gwalior crime, Gwalior news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर