Home /News /madhya-pradesh /

रानी कमलापति अंतिम हिंदू साम्राज्ञी थीं, हबीबगंज स्टेशन का नाम बदलने के लिए PM मोदी का धन्यवाद: शिवराज

रानी कमलापति अंतिम हिंदू साम्राज्ञी थीं, हबीबगंज स्टेशन का नाम बदलने के लिए PM मोदी का धन्यवाद: शिवराज

मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम रानी कमलापति करने पर पीएम नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया है. (ANI)

मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम रानी कमलापति करने पर पीएम नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया है. (ANI)

Habibganj Railway Station renamed as Rani Kamlapati Railway Station: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया है. उन्होंने ये धन्यवाद भोपाल के हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम रानी कमलापति के नाम पर करने के लिए दिया है. उनका कहना है कि वे गोंड समुदाय का गौरव हैं. रानी कमलापति अंतिम हिंदू साम्राज्ञी थीं. केंद्र ने शनिवार सुबह हबीबगंज स्टेशन का नाम बदलने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी थी. 15 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद इस स्टेशन का उद्घाटन करेंगे.

अधिक पढ़ें ...

    भोपाल. हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम रानी कमलापति करने पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया है. उन्होंने कहा- आदिवासी साम्राज्ञी रानी कमलापति के नाम पर हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नामकरण करने के लिए मैं प्रधानमंत्री मोदी को धन्यवाद देता हूं. वे गोंड समुदाय का गौरव हैं. वे अंतिम हिंदू साम्राज्ञी थीं.

    गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने देश के पहले वर्ल्ड क्लास हबीबगंज स्टेशन के नाम बदलने के प्रस्ताव को शनिवार को मंजूरी दे दी थी. हबीबगंज स्टेशन का नाम अब रानी कमलापति स्टेशन होगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 15 नवंबर को इस स्टेशन का उद्घाटन कर सकते हैं. वे इसके नाम की भी औपचारिक घोषणा कर सकते हैं. बता दें, मध्य प्रदेश सरकार के परिवहन विभाग ने हबीबगंज का नाम बदलने का प्रस्ताव केंद्रीय गृह मंत्रालय को भेजा था. इसमें कहा गया था कि हबीबगंज स्टेशन का नाम बदलकर रानी कमलापति किया जाना चाहिए. अब इस प्रस्ताव को मंजूरी मिलने के बाद नाम बदल गया है.

    बीजेपी के नेताओं ने की थी मांग

    बता दें, हबीबगंज का नाम बदलने के लिए बीजेपी नेताओं ने पहले भी मांग की थी. उनकी मांग थी कि इस स्टेशन का नाम पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेई के नाम पर होना चाहिए. बीजेपी के पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया, पूर्व राज्यसभा सांसद प्रभात झा और भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने नाम बदलने के लिए आवाज उठाई थी. हबीबगंज स्टेशन का नाम तो बदला जा रहा है लेकिन वह स्व. अटल बिहारी वाजपेई पर ना होकर गोंड रानी, रानी कमलापति पर किया जाएगा. इसके पीछे वजह आदिवासियों को लुभाने की भी कोशिश हो रही है.

    गौरतलब है कि यह स्टेशन तीन मायनों में देश का पहला वर्ल्ड क्लास स्टेशन है. यह 5 स्टार जीईएम रेंटिंग वाला देश का पहला रेलवे स्टेशन है. पूरा स्टेशन सोलर एनर्जी से जगमग होगा. साथ ही ये देश का पहला ग्रीन स्टेशन भी है. यह देश का पहला रेलवे स्टेशन है जो एनएफपीए (राष्ट्रीय अग्नि सुरक्षा अधिनियम) का अनुपालन कर रहा है. आग जैसी घटनाओं को रोकने के लिए भी स्टेशन पर खास इंतजाम किए गए हैं. नो स्मोकिंग जोन में धुआं उठने पर तत्काल स्प्रिंकलर एक्टिव हो जाएगा और आग पर काबू पा लिया जाएगा. स्टेशन में यात्रियों की आवाजाही को लेकर भी इस तरीके से व्यवस्थाएं की गई हैं कि 4 मिनट के अंदर पूरा स्टेशन खाली हो सकेगा और यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाला जा सकेगा.

    Tags: Bhopal news, Mp news, Shivraj singh chouhan

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर