Honey trap : आरोपी युवतियों के ठिकानों से मिले अहम सबूत, आज इंदौर कोर्ट में पेशी
Bhopal News in Hindi

Honey trap : आरोपी युवतियों के ठिकानों से मिले अहम सबूत, आज इंदौर कोर्ट में पेशी
आरोपी महिला के पति ने कहा-मेरी पत्नी ने कुछ गलत नहीं किया. (प्रतीकात्मक फोटो)

हनी ट्रैप (HONEY TRAP)केस में भोपाल (bhopal)से गिरफ्तार हुई तीनों आरोपी महिलाओं को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है.एसआईटी (SIT)तीनों आरोपियों को भोपाल लेकर पहुंची और उनके घर के साथ संभावित ठिकानों पर दबिश दी.इस दबिश के दौरान एसआईटी को कई महत्वपूर्ण सबूत मिले

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश(Madhya pradesh) के हाई प्रोफाइल तबकों में हड़कंप मचाने वाले हनीट्रैप (honey trap) मामले में एसआईटी (SIT)को जांच दौरान भोपाल में आरोपी (Accused)महिलाओं के ठिकानों से कई महत्वपूर्ण सबूत मिले हैं.सबूत जुटाने में समय लगने की वजह से एसआईटी(SIT) तीनों महिला आरोपियों को इंदौर कोर्ट (INDORE COURT)में पेश नहीं कर सकी.इसलिए एसआईटी ने भोपाल कोर्ट में तीनों आरोपियों को पेश किया और उनका एक दिन का ट्रांजिट रिमांड लिया. आज अब इन आरोपियों को इंदौर कोर्ट में पेश किया जा रहा है.

इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस, डायरी, दस्तावेज मिले
भोपाल से गिरफ्तार हुई तीनों महिलाओं को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है.एसआईटी तीनों आरोपियों को भोपाल लेकर पहुंची और उनके घर के साथ संभावित ठिकानों पर दबिश दी.इस दबिश के दौरान एसआईटी को कई महत्वपूर्ण सबूत मिले.सूत्रों ने बताया कि एसआईटी को जांच के दौरान इन महिलाओं के ठिकानों से कई दस्तावेज़, पासपोर्ट, एनजीओ से जुड़े काग़ज़ात, डायरी और कई इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस मिली हैं.
सबूत जुटाने में समय लगने की वजह से एसआईटी तय समय पर आरोपियों को इंदौर कोर्ट में पेश नहीं कर सकी.इसलिए एसआईटी ने भोपाल की तीनों आरोपियों को भोपाल कोर्ट में पेश किया और एक दिन का ट्रांजिट रिमांड लिया.अब मंगलवार यानि आज एसआईटी तीनों आरोपियों को इंदौर कोर्ट में पेश कर रही है.
कोर्ट में रो पड़ी आरोपी महिला
भोपाल कोर्ट में पेश होने के दौरान एक आरोपी महिला प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए रो पड़ी.उसने एसआईटी पर आरोप लगाए.न्यूज 18 ने आरोपी महिलाओं से बातचीत करने को कोशिश की, लेकिन महिलाओं ने अपना मुंह नहीं खोला.कोर्ट ने एक दिन का ट्रांजिट रिमांड दिया तो दो आरोपी महिलाओं के वकीलों ने ट्रांजिट रिमांड का विरोध किया.उनकी दलील थी कि एसआईटी अनावश्यक विलंब कर रही है और इंवेस्टिगेशन के लिए रिमांड़ बढ़ा रही है.


इनका कहना है
आरोपियों के वकील विजय चौधरी ने ट्रांजिट रिमांड का विरोध किया. उन्होंने सुबह से पुलिस क्या कर रही है...ये आरोपियों को रात और कल दिनभर रख सकते हैं.हमने तीन से चार घंटे तक का रिमांड दिए जाने की बात कही थी.

ये भी पढ़ें-भूख़ से तड़पते छोटे भाई-बहन की रोटी के लिए बच्ची ने मंदिर में की चोरी

झाबुआ उप चुनाव : CM कमलनाथ का वादा- हम 3 साल में बदल देंगे तस्वीर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज