लाइव टीवी

Honey Trap Racket: नेताओं और IAS-IPS अफसरों को ब्लैकमेल कर रही थी 'हनी', देखें Video

News18 Madhya Pradesh
Updated: September 19, 2019, 7:14 PM IST
Honey Trap Racket: नेताओं और IAS-IPS अफसरों को ब्लैकमेल कर रही थी 'हनी', देखें Video
इंदौर में पकड़ी गयी इन युवतियों से ख़ुला राज़

इस मामले में गृह मंत्री बाला बच्चन ने कहा मामले की जांच जारी है. जो भी कोई इसमें शामिल होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के हाई प्रोफाइल हनी ट्रैप (Honey Trap) मामले में एक पुरुष और 5 युवतियों की गिरफ्तारी हो चुकी है. इंदौर (Indore) के एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र ने इसकी पुष्टि की है. आरोपियों से 14 लाख रुपए और एक कार बरामद हुई है. पुलिस (Police) के मुताबिक गिरोह की सरगना छतरपुर की रहने वाली युवती है जिसे पकड़ा गया है. आरोपी से पुलिस की पूछताछ जारी है. माना जा रहा है कि इसमें कई बड़े अफसरों और नेताओं के नाम सामने आ सकते हैं. आरोप है कि यह गिरोह आईएएस और आईपीएस अफसरों (IAS-IPS Officers) को हनी ट्रैप कर उन्हें ब्लैकमेल (Blackmail) करता था. सूत्रों से पता चला है कि हनी ट्रैप गिरोह ने एक मौजूदा मंत्री का भी वीडियो बनाया था. पुलिस अब इसकी जांच कर रही है कि क्या उन्हें भी ये गिरोह ब्लैकमेल कर रहा था.

ऐसे हुआ खुलासा
इस पूरे रैकेट का खुलासा इंदौर नगर निगम के एक इंजीनियर की शिकायत के बाद हुआ. एसएसपी रुचिवर्धन मिश्रा के मुताबिक गिरोह नगर निगम इंजीनियर को ब्लैकमेल करने की धमकी देकर तीन करोड़ रुपए मांग रहा था. इंजीनियर ने इसकी शिकायत पुलिस में की जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए इस हनी ट्रैप रैकेट का पर्दाफाश किया.



इंदौर पुलिस के मुताबिक इस मामले में अब तक कोई और फरियादी नहीं मिला है. शिकायत मिलने पर कार्रवाई और आगे बढ़ेगी. अभी गिरोह के पूरे नेटवर्क का पता लगाया जा रहा है. उसके बाद कुछ और नामों का खुलासा और गिरफ्तारी हो सकती है.

इंदौर के बाद भोपाल में हुई गिरफ्तारी 
इंदौर में शिकायत दर्ज होने के बाद गिरोह की दो युवतियों को शहर से ही पकड़ा गया. पूछताछ में उनसे मिली जानकारी के आधार पर एटीएस और भोपाल पुलिस ने मंगलवार देर रात भोपाल में तीन अन्य युवतियों और एक पुरुष को गिरफ्तार किया. जिसके बाद इंदौर पुलिस बुधवार सुबह इन सभी को लेकर इंदौर रवाना हो गयी.
Loading...

पूर्व मंत्री के बंगले में किरायेदार
पकड़ी गयी महिलाओं में से एक आरोपी भोपाल की पॉश रिवेयरा टाउनशिप में पूर्व मंत्री के बंगले में किराये से रह रही थी. हालांकि पूर्व मंत्री का कहना है कि उन्होंने एक ब्रोकर के जरिए अपना बंगला किराये पर दिया था. उन्होंने कहा कि वो हर तरह की जांच के लिए तैयार हैं.



इंटेलिजेंस पुलिस की थी नजर
बता दें कि कुछ दिन पहले मध्य प्रदेश के एक सीनियर आईएएस अफसर का वीडियो वायरल हुआ था. उसके बाद मिले इनपुट के आधार पर इंटेलिजेंस पुलिस इस मामले पर नजर रखे हुए थी. इंदौर में शिकायत दर्ज होते ही एटीएस और लोकल पुलिस ने मिलकर रिवेयरा टाउन और मीनाल रेसिडेंसी पर छापा मारकर युवतियों और पुरुष को पकड़ा.

ब्लैकमेलिंग का आरोप
बताया जा रहा है कि ये महिलाएं नेताओं और अफसरों के आपत्तिजनक वीडियो बनाकर उन्हें वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल कर रही थीं. कुछ दिन पहले जिस सीनियर आईएएस अफसर का वीडियो वायरल हुआ उसके पीछे भी इसी गिरोह का हाथ था.

मंत्री का बयान
इस मामले में गृह मंत्री बाला बच्चन ने कहा मामले की जांच जारी है. जो भी कोई इसमें शामिल होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

(इंदौर से विकास सिंह चौहान और भोपाल से जितेन्द्र शर्मा का इनपुट)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 19, 2019, 4:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...