Home /News /madhya-pradesh /

कांग्रेस ने मेरी योजनाएं बंद की तो ईंट से ईंट बजा दूंगा: शिवराज सिंह चौहान

कांग्रेस ने मेरी योजनाएं बंद की तो ईंट से ईंट बजा दूंगा: शिवराज सिंह चौहान

फाइल फोटो

फाइल फोटो

सूबे पर पहले से पौने दो लाख करोड़ का कर्ज़ है. ऐसे में ये तय माना जा रहा है कि कमलनाथ सरकार पुरानी कुछ योजनाओं को बंद कर सकती है या उनमें बदलाव किया जा सकता है.

    मध्य प्रदेश में सत्ता पलटते ही कमलनाथ सरकार नई योजनाएं बनाने लगी है. किसानों की कर्ज़माफ़ी के साथ ही कन्या विवाह के दौरान मिलने वाली राशि बढ़ा दी गई है. ऐसे में अब सवाल यह उठ रहा है कि शिवराज सरकार के दौरान शुरू हुईं योजनाओं का क्या होगा. राज्य के खाली ख़ज़ाने को देखते हुए पुरानी योजनाएं चला पाना मुश्किल लग रहा है. दूसरी तरफ खुद शिवराज यह बयान दे चुके हैं कि अगर उनके कार्यकाल के दौरान शुरू की गई योजनाओं को बंद किया गया तो वे ईंट से ईंट बजा देंगे. अब देखना यह है कि कमलनाथ सरकार इन योजनाओं को लेकर क्या रुख़ अपनाती है?

    सूबे पर पहले से पौने दो लाख करोड़ का कर्ज़ है. ऐसे में ये तय माना जा रहा है कि कमलनाथ सरकार पुरानी कुछ योजनाओं को बंद कर सकती है या उनमें बदलाव किया जा सकता है. सरकारी योजनाएं बंद होगी या नहीं लेकिन उससे पहले ही सूबे में सियासी पारा गरम है.

    मध्य प्रदेश में सरकार पलटते ही कमलनाथ सरकार ने शिवराज सरकार के दौरान जमे आईएएस अधिकारियों को एक झटके में इधर से उधर कर दिया. पहली बड़ी प्रशासनिक सर्जरी में 45 से ज्यादा अधिकारियों को हटाया गया. इस बदलाव के साथ ही अब ये अटकलें भी शुरू हो गई हैं कि क्या शिवराज सरकार के दौरान शुरू हुईं सरकारी योजनाओं को भी बंद किया जाएगा.

    शिवराज सरकार ने चुनावी फायदे के लिहाज से भावांतर से लेकर संबल जैसी बड़ी योजनाएं लॉन्च की थीं. संबल योजना में एक करोड़ से ज़्यादा ग़रीब लोगों को फायदा देने का टारगेट था. 200 रुपए में बिजली और पुराने बिजली बिल माफ करने जैसे प्रावधान शामिल थे. इस योजना के लिए शुरुआती दौर में करीब 800 करोड़ रुपए का बजट तय था. इसके कार्ड में शिवराज सिंह चौहान की फोटो लगाई गई थी. किसानों को उनके भाव का अंतर देने के लिए भावांतर योजना भी शुरू की गई थी.

    कमलनाथ सरकार ने सत्ता में आते ही सबसे पहले किसानों के कर्ज़माफी की फाइल पर दस्तखञत किए. इसका फायदा सूबे के 33 लाख किसानों को होगा. कर्ज़माफ़ी से सरकार पर करीब 20 हजार करोड़ रुपए का भार आएगा. इस योजना को अमली जामा पहनाने और पुरानी योजनाओं को जारी रखने के लिए सरकार को भारी भरकम बजट की ज़रूरत है.

    ये भी पढ़ें: न बर्फबारी का खतरा न फिसलने का डर, अब भक्त रोपवे से पहुंचेंगे मां वैष्णो के द्वा

    Tags: Madhya pradesh news, Shivraj singh chauhan, Shivraj singh chouhan, Trending news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर