MP By Election Result 2020: कमलनाथ का बड़ा ऐलान, बोले- आखरी सांस तक प्रदेश में रहूंगा, अभी से करेंगे 2023 की तैयारी

कमलनाथ ने कहा- रिपोर्ट के आधार पर समीक्षा होगी.

मध्‍य प्रदेश उपचुनाव में कांग्रेस को 28 में से 9 सीट पर जीत मिली हैं. इसके बाद भाजपा (BJP) नेताओं ने बयान दिया कि कमलनाथ (Kamalnath) अब प्रदेश छोड़कर दिल्‍ली रवाना हो जाएंगे. इस पर पूर्व सीएम ने कहा कि मैं आखरी सांस तक प्रदेश में रहूंगा.

  • Share this:
भोपाल. मध्‍य प्रदेश उपचुनाव के नतीजे को लेकर बीजेपी (BJP) नेताओं द्वारा कमलनाथ (Kamalnath) के दिल्ली रवाना होने के बयानों मची हलचल के बाद पूर्व सीएम ने बड़ी बात कही है. कांग्रेस के दिग्‍गज नेता और पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा,' जो कहते हैं कमलनाथ प्रदेश छोड़कर चले जाएंगे, वह यह सुन लें, कमलनाथ पूरे जीवन प्रदेश में ही रह कर कांग्रेसियों के साथ जनता की सेवा करने का काम करेंगे.' साथ ही उन्‍होंने कहा है कि मैंने कभी किसी कांग्रेसी का सिर झुकने नहीं दिया है. इसके साथ ही कांग्रेस विधायक दल की बैठक में कमलनाथ ने उपचुनाव में दम लगाने वाले सभी कांग्रेसियों को धन्यवाद दिया है.

हम हिम्मत हारने वालों में से नहीं
मध्‍य प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा कि नतीजे पार्टी की अपेक्षा के अनुरूप नहीं आए हैं, लेकिन वह हिम्मत हारने वालों में से नहीं है और संघर्ष का रास्ता खुला रखेंगे. उन्‍होंने कहा कि साल 2023 के लिए अभी से कांग्रेसियों को कमर कसना होगी. इसके अलावा आगामी नगरी निकाय और पंचायत चुनाव को लेकर भी कमलनाथ ने कांग्रेसियों को अभी से जुटने को कहा है. कांग्रेसियों का मनोबल बढ़ाने के लिए उन्‍होंने कहा कि सभी को मिलकर संघर्ष करना होगा. निराशा का भाव नहीं लाना है. पार्टी ने 77 का वह दौर भी देखा है जब लोग कहते थे कि कांग्रेस खत्म हो गई. हमने वह दौर भी देखा जब भाजपा के पास मात्र एक दो सीटें थी.

Kamalnath,Digvijay Singh,कमलनाथ, दिग्विजय सिंह, ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया
कमलनाथ ने कहा है कि यह हार अप्रत्याशित है, क्‍योंकि कांग्रेस पार्टी उन बूथों पर भी हारी जहां हम आज तक नहीं हारे थे.


कमलनाथ ने किया बड़ा खुलासा
कमलनाथ ने कहा है कि उनका सिद्धांत है जो कुछ करो, ईमानदारी से करो. इसके अलावा दावा किया है कि सौदेबाजी की जानकारी उन्हें अक्टूबर में पता चल गई थी, लेकिन 20 मार्च को मैंने इस्तीफा दिया. कमलनाथ ने कहा है कि इस्तीफा देने के बाद उनके पास दो रास्ते थे या तो सब छोड़कर चला जाऊं या फिर यहीं रहकर प्रदेश की जनता की सेवा करूं. उन्‍होंने कहा,' मैंने तय किया प्रदेश में रहकर ही जतना की सेवा करने का काम करेंगे और कांग्रेसियों को अकेला नहीं छोड़ेंगे. हर चुनौती का डटकर सामना होगा. कमलनाथ ने कहा है कि नतीजों की समीक्षा होगी. वहीं, कमलनाथ ने उम्मीदवार और उपचुनाव के प्रभारियों से हार के कारणों पर रिपोर्ट बनाकर देने को कहा है. रिपोर्ट के आधार पर समीक्षा होगी. कमलनाथ ने कहा है कि यह हार अप्रत्याशित है कांग्रेस पार्टी उन बूथों पर भी हारी जहां हम आज तक नहीं हारे थे.

बैठक में दिग्विजय सिंह ने सिंधिया पर भी साधा निशाना
कांग्रेस विधायक दल की बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने कहा कि चुनाव में हार जीत होती है. ग्वालियर चंबल संभाग में सभी लोग कहते थे कि ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया के जाने के बाद कांग्रेस का सफाया हो जाएगा और कांग्रेस का एक कार्यकर्ता भी नहीं मिलेगा, लेकिन ग्वालियर चंबल में 16 में से 7 सीटें कांग्रेस ने जीती हैं. इसके अलावा उन्‍होंने कहा कि अनुभवी और सक्रियता से चुनाव लड़ने लड़ाने के कुशल प्रबंधन वाले नेता कमलनाथ पर सभी को भरोसा है और 2023 के चुनाव के लिए पार्टी अभी से जुटना होगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.