होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /

बीजेपी की अहम बैठक : शिवराज की दो टूक, बिना मरे स्वर्ग नहीं मिलता, सांसद - विधायक पार्टी के लिए समय निकालें

बीजेपी की अहम बैठक : शिवराज की दो टूक, बिना मरे स्वर्ग नहीं मिलता, सांसद - विधायक पार्टी के लिए समय निकालें

भोपाल में बीजेपी प्रदेश मुख्यालय में हुई बैठक में सीएम शिवराज ने 2023 के लिए तैयार रहने का आव्हान किया.

भोपाल में बीजेपी प्रदेश मुख्यालय में हुई बैठक में सीएम शिवराज ने 2023 के लिए तैयार रहने का आव्हान किया.

बैठक के दौरान बीजेपी के मिशन 2023 की तैयारी पर भी मंथन हुआ. विधायक और सांसदों को बूथ सशक्तिकरण का टास्क दिया गया है. इसके लिए बीजेपी ने सरल एप तैयार किया है. इस ऐप का भी बैठक के दौरान प्रेजेंटेशन किया गया. एप के ज़रिए विधायक और सांसदों को बूथ मजबूत करने का टास्क दिया गया है. एक विधायक को अपने विधानसभा क्षेत्र में 25 ऐसे बूथों की डिटेल देनी होगी जो कमजोर हैं या पिछली बार हार गए थे. इसी तरह सांसद के लिए 100 बूथ का टारगेट फिक्स किया गया है. खास बात ये है कि कमजोर बूथ के कम मतदाताओं की जाति सहित पूरी जानकारी विधायक और सांसदों को देनी होगी. इस एप की मॉनिटरिंग दिल्ली तक होगी.

अधिक पढ़ें ...

भोपाल. मिशन 2023 की तैयारी में जुटी बीजेपी की बुधवार को भोपाल में प्रदेश मुख्यालय में एक अहम बैठक हुई. इसमें राष्ट्रीय संगठन महामंत्री शिव प्रकाश के साथ सीएम शिवराज, प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, सांसद, विधायक, जिलाध्यक्ष और प्रमुख पदाधिकारी शामिल हुए. बैठक को सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी संबोधित किया. अपने संबोधन में सीएम शिवराज ने सांसद और विधायकों से दो टूक कहा कि बिना मरे स्वर्ग नहीं मिलता. विधायक सांसद समय निकालें. पार्टी के कार्यक्रम से ज्यादा अहम और कोई काम नहीं है.

सीएम ने कहा विधायकों को जितने बूथ सशक्तिकरण के लिए बताए गए हैं केवल उतने पर ही न जाएं बल्कि हर बूथ पर जाएं. सीएम निकाय चुनाव में मिली हार पर भी बोले. उन्होंने कहा चुनाव में कुछ कमियां रह गई हैं. किसी ने गड़बड़ की है तो उस पर भी कार्रवाई होगी. अगर किसी ने पार्टी ने निर्देशों का पालन नहीं किया तो फिर उस पर तो विचार होगा ही. उन्होंने कहा- अध्यक्ष और पार्षदों का सम्मेलन होगा. सांसद विधायक के साथ सरकारी अधिकारी भी इन कार्यक्रमों में शामिल होंगे. अधिकारी कार्यक्रम में अधिकारों के बारे में बताएंगे. सीएम ने कहा माफिया से जो जमीन मुक्त कराई गई है वहां स्वराज कॉलोनी बनाई जाएंगी. जमीन के टुकड़े देने के कार्यक्रम आयोजित होंगे.

सरल एप से तैयारी, जाति भी बतानी होगी

बैठक के दौरान बीजेपी के मिशन 2023 की तैयारी पर भी मंथन हुआ. विधायक और सांसदों को बूथ सशक्तिकरण का टास्क दिया गया है. इसके लिए बीजेपी ने सरल एप तैयार किया है. इस ऐप का भी बैठक के दौरान प्रेजेंटेशन किया गया. एप के ज़रिए विधायक और सांसदों को बूथ मजबूत करने का टास्क दिया गया है. एक विधायक को अपने विधानसभा क्षेत्र में 25 ऐसे बूथों की डिटेल देनी होगी जो कमजोर हैं या पिछली बार हार गए थे. इसी तरह सांसद के लिए 100 बूथ का टारगेट फिक्स किया गया है. खास बात ये है कि कमजोर बूथ के कम मतदाताओं की जाति सहित पूरी जानकारी विधायक और सांसदों को देनी होगी. इस एप की मॉनिटरिंग दिल्ली तक होगी.

समीक्षा के साथ नसीहत

बैठक में निकाय चुनाव की रिपोर्ट तलब की गई. पांच दिन के भीतर निकाय चुनाव में हारे हुई सीटों की जानकारी बागी उम्मीदवारों से लेकर पार्टी के खिलाफ काम करने वाले कार्यकर्ताओं के साथ प्रदेश मुख्यालय को देनी है. इन पर कार्रवाई तय मानी जा रही है. कार्रवाई के लिए प्रदेश अध्यक्ष को अधिकृत किया गया है. बैठक में राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिव प्रकाश ने सांसद, विधायकों और पदाधिकारियों को सोच समझकर बोलने की नसीहत दी.  शिवप्रकाश ने बैठक में लोक सभा और राज्यसभा सांसदों की खड़े होकर हाजिरी भी ली.

Tags: Madhya Pradesh Assembly, Madhya pradesh latest news

अगली ख़बर