Home /News /madhya-pradesh /

दिल्ली से भोपाल लौटी युवती को सोसायटी वालों ने 5 दिन तक घर में नहीं घुसने दिया,लॉकडाउन में अकेले होटल में रही

दिल्ली से भोपाल लौटी युवती को सोसायटी वालों ने 5 दिन तक घर में नहीं घुसने दिया,लॉकडाउन में अकेले होटल में रही

दिल्ली से भोपाल लौटी युवती को सोसायटी वालों ने 5 दिन तक घुसने नहीं दिया

दिल्ली से भोपाल लौटी युवती को सोसायटी वालों ने 5 दिन तक घुसने नहीं दिया

नेहा की दिल्ली एयरपोर्ट (airport) और भोपाल एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग भी हुई. उन्हें न तो कोरोना है और न ही कोरोना (corona) का कोई लक्षण है

भोपाल.कोरोना (corona)आपदा में दूसरे राज्यों में फंसे लोग अपने घर लौट रहे हैं. लेकिन राजधानी भोपाल (bhopal) की एक ऐसी कॉलोनी है, जिसके ठेकेदारों ने वहां रहने वाली एक युवती को अपनी ही कॉलोनी में 5 दिन तक घुसने नहीं दिया. न्यूज़ 18 (news18) की मदद से युवती को अपने घर में एंट्री मिली. युवती ने कॉलोनी के सोसाइटी अध्यक्ष की शिकायत पुलिस थाने में दर्ज कराई है.

भोपाल के शाहपुरा थाना इलाके के साउथ एवेन्यू में रहने वाली नेहा 5 दिन पहले दिल्ली से भोपाल लौटीं.नेहा की दिल्ली एयरपोर्ट और भोपाल एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग भी हुई. उन्हें न तो कोरोना है और न ही कोरोना का कोई लक्षण है. लेकिन जब नेहा अपने घर पहुंचीं तो उन्हें सोसायटी में नहीं घुसने दिया गया. उन्हें गेट पर ही रोक दिया गया.

सोसायटी के अध्यक्ष ओझा और उपाध्याय ने उन्हें अंदर नहीं आने दिया. गेट पर तैनात सुरक्षा कर्मियों को नेहा को अंदर नहीं आने के निर्देश दिए. नेहा ने सोसाइटी के इन ठेकेदारों से काफी रिक्वेस्ट की लेकिन उन्होंने उसकी एक नहीं सुनी. वो कहां जातीं, ऐसे हालात में थक हारकर उन्हें होटल में जाना पड़ा.लॉकडाउन के कारण शहर की ज़्यादातर होटल बंद या सूनी पड़ी हैं, नेहा को वहां ठहरना पड़ा.

होटल में अकेली रहीं नेहा

कोरोना की वजह से शहर के तमाम होटल खाली पड़े हैं. नेहा जिस होटल में रुकी थीं, वहां स्टाफ के अलावा कोई नहीं था. पूरी होटल खाली पड़ी थी. नेहा को डर लग रहा था. वह खुद को असुरक्षित महसूस कर रही थी.उन्होंने अपनी आपबीती न्यूज़ 18 को बतायी. न्यूज़ 18 ने उनकी मदद की और प्रशासन को पूरे मामले की जानकारी दी.

स्क्रीनिंग के बावजूद कॉलोनी में एंट्री नहीं
नेहा को उसके घर में इसलिए एंट्री नहीं दी गयी कि वो फ़्लाइट से दिल्ली से आई हैं. सोसायटी के अध्यक्ष का कहना है जब तक वो14 दिन कहीं क्वेरन्टीन नहीं करेंगी, उन्हें सोसायटी में घुसने नहीं दिया जाएगा. नेहा का परिवार दिल्ली में है. वो भोपाल में अकेले जॉब करती हैं. उनकी दिल्ली और भोपाल एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग हुई थी. वो ना तो कोरोना पॉजिटिव हैं और न ही इस बीमारी का कोई लक्षण है.क्योंकि पर्याप्त जांच के बाद ही उन्हें दिल्ली से भोपाल की फ्लाइट का टिकट मिला था.

न्यूज़ 18 ने की नेहा की मदद
नेहा से मिली जानकारी के बाद न्यूज़ 18 ने उनकी मदद की और उन्हें घर में रहने का अधिकार दिलाया. न्यूज़ 18 ने पुलिस प्रशासन को पूरे घटनाक्रम के बारे में बताया. पुलिस ने नेहा की मदद की. शाहपुरा थाना प्रभारी कॉलोनी में पहुंचे और सोसायटी अध्यक्ष और जिम्मेदारों को समझाया. उन्हें चेतावनी भी दी कि आप कॉलोनी में रहने वाले किसी भी व्यक्ति को इस तरीके से नहीं रोक सकते हैं. अगर आपको कोई दिक्कत है तो प्रशासन में शिकायत कीजिए. नेहा ने सोसाइटी की शिकायत पुलिस थाने में दर्ज कराई है.

नेहा के साथ कोई घटना होती तो कौन लेता जिम्मेदारी
नेहा का भोपाल में साउथ एवेन्यू के अलावा कोई ठिकाना नहीं है. दिल्ली में उसका पूरा परिवार रहता है.वो भोपाल में जॉब करती है. लेकिन जब घर में एंट्री नहीं मिली तो मजबूरी में उसे एक होटल में रुकना पड़ा.होटल पूरे खाली थे.ऐसे में अगर उसके साथ कोई अनहोनी हो जाती तो इसका जिम्मेदार कौन होता. एक अकेली लड़की असुरक्षित रहने पर मजबूर हुई. यदि सोसाइटी के लोग उसे कॉलोनी में एंट्री देते तो उसे चार दिन तक उस सुनसान होटल में रुकना नहीं पड़ता. नेहा ने सोसायटी के लोगों से कहा कि वह अपने घर में 14 दिन तक होम क्वॉरेंटीन रहेगी. लेकिन किसी ने उसकी सुरक्षा के बारे में नहीं सोचा.

ये भी पढ़ें-

जबलपुर में बोले BJP अध्यक्ष- कमलनाथ छिंदवाड़ा की सोचते हैं, पब्लिक लीडर नहीं

मंदिर में घंटा, गुरुद्वारा में लंगर और मस्जिद में अब नहीं होगा वजु

Tags: Bhopal, Corona epidemic, COVID 19, India Lockdown

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर