• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • MP में जनसंख्या नियंत्रण की सारी जिम्मेदारी महिलाओं की, साल भर में केवल 2769 पुरुषों ने कराई नसबंदी

MP में जनसंख्या नियंत्रण की सारी जिम्मेदारी महिलाओं की, साल भर में केवल 2769 पुरुषों ने कराई नसबंदी

मध्य प्रदेश में बीते एक साल में 3.17 लाख लोगों ने नसबंदी कराई है. (सांकेतिक फोटो)

मध्य प्रदेश में बीते एक साल में 3.17 लाख लोगों ने नसबंदी कराई है. (सांकेतिक फोटो)

Population Control Issue: मध्य प्रदेश में जनसंख्या नियंत्रण करने की सारी जिम्मेदारी महिलाओं पर है. स्वास्थ्य संचालनालय की नसबंदी रिपोर्ट के मुताबिक एक साल में जहां 3 लाख 14 हजार से ज्यादा महिलाओं ने नसबंदी कराई, जबकि पुरुषों की संख्या केवल 2769 रही है.

  • Share this:
    भोपाल. पूरे देश में बेतरतीब ढंग से बढ़ती आबादी को लेकर जनसंख्या नियंत्रण कानून (Population Control Law) बनाने की चर्चा हो रही है. वहीं, कोई बढ़ती आबादी पर ब्रेक लगाने के लिए महिलाओं में शिक्षा और जागरूकता लाने की बात कर रहा है तो कोई दो बच्चे जन्म लेने के बाद नसबंदी (Sterilization) कराने की सलाह दे रहा है. इसी बीच मध्य प्रदेश में नसबंदी को लेकर एक चौंकाने वाली रिपोर्ट सामने आई है.

    यहां पर जनसंख्या नियंत्रण करने की सारी जिम्मेदारी जैसे महिलाओं के कंधों पर है. स्वास्थ्य संचालनालय की फैमिली प्लानिंग सेक्शन की नसबंदी रिपोर्ट से यही जानकारी सामने आई है. रिपोर्ट के मुताबिक, मध्य प्रदेश में बीते एक साल में 3.17 लाख लोगों ने नसबंदी कराई है, लेकिन खास बात यह है कि इनमें से नसबंदी कराने वालों पुरुषों की संख्या सिर्फ 2769 ही हैं.

    2019 में ये थे हाल
    वहीं, बात यदि 2019 की करें तो 3 लाख 40 हजार 760 महिलाओं ने नसबंदी कराई थी. तब नसबंदी कराने वाले पुरुषों की संख्या महज 4491 थी. यानी कोरोना काल में साल 2019 के मुकाबले कम लोगों ने नसबंदी कराई. वहीं, प्रदेश के 42 जिलों में सालभर में पुरुष तो 30 जिलों में महिला नसबंदी ऑपरेशन घटे हैं. भोपाल में पुरुष नसबंदी 2019 की तुलना में 2020 में 42% घटी है. आलीराजपुर में तो एक साल में एक भी पुरुष की नसबंदी नहीं हुई.

    पुरुषों की तुलना में महिलाएं ज्यादा नसबंदी करा रही हैं
    डॉ. ललित मोहन पंत (Dr. Lalit Mohan Pant) का कहना है कि अभी भी पुरुषों की तुलना में महिलाएं ज्यादा नसबंदी करा रही हैं. कई बार ऐसे केस आए हैं कि जब पुरुष ने नसबंदी कराना चाहा तो पत्नी ने डर के कारण मना कर दिया. ऐसे में महिलाएं पति की जगह खुद ऑपरेशन करवा लेती हैं. लेकिन, अब पापुलेशन मोमेंटम बन गया है. सभी को सीमित परिवार के फायदे समझ आने लगे हैं. यही वजह है कि अब धीरे-धीरे पुरुष भी नसबंदी कराने लगे हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज