अपना शहर चुनें

States

महाकाल की नगरी में बोले शिवराज-माफिया को मिट्टी में मिलाने के लिए चौथी बार CM बना हूं

सीएम शिवराज ने माफिया को खुली चुनौती दी.
सीएम शिवराज ने माफिया को खुली चुनौती दी.

सीएम (CM Shivraj) ने कहा चार सौ करोड़ की जमीन हथिया के बैठे थे कोई मज़ाक है. मैं धन्यवाद देता हूं यहां के प्रशासन को और चेतावनी देता हूं माफिया को सावधान हो जाएं वरना माटी में मिला देंगे.

  • Share this:
उज्जैन. उज्जैन (Ujjain) के लोगों को आज सरकार ने एक बड़ी सौगात दी. सीएम शिवराज सिंह (CM shivraj) ने महाकाल मंदिर को आधुनिक और सुविधा संपन्न बनाने के लिए 500 करोड़ के प्रोजेक्ट को मंज़ूरी दे दी है. सीएम शिवराज उज्जैन में आज कई कार्यक्रमों में शामिल हुए.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कलिदास अकादमी परिसर में उज्जैन आलोट संसदीय क्षेत्र के दिव्यांगों को बैटरी से चलने वाली पहियेदार कुर्सी दीं. उसके बाद महाकालेश्वर और भारत माता मंदिर के पीछे चल रहे स्मार्ट सिटी के काम का जायज़ा लिया और फिर अधिकारियों के साथ समीक्षा की. सीएम ने यहां अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नये भवन का उद्धघाटन किया.

कालिदास अकादमी के कार्यक्रम में सीएम ने अपने भाषण की शुरुआत सभी विद्वानों को हाथ जोड़कर नमस्कार करके की.यहां पढ़ें उनके भाषण की मुख्य बातें-
-उन्होंने कहा-दिव्यांग भाई बहन, किसान, गरीब, मध्यम निम्न मध्यम वर्गीय, आम जनता यही हमारे भगवान हैं.महाकाल महाराज को साक्षी मान कर कहता हूं इनकी सेवा में सरकार कोई कसर नहीं छोड़ेगी.
2-गुंडे, माफिया, छेड़छाड़ कर माता बहनों को परेशान करने वाले, ड्रग तस्कर, अवैध शराब व्यपारी ध्यान रखें महाकाल का तीसरा नैन जो खुल गया तो तबाह करके रख देंगे.



-सीएम ने कहा चार सौ करोड़ की जमीन हथिया के बैठे थे कोई मज़ाक है. मैं धन्यवाद देता हूं यहां के प्रशासन को और चेतावनी देता हूं माफिया को सावधान हो जाएं वरना माटी में मिला देंगे.
-माफिया को मिट्टी में मिलाने के लिए चौथी बार सीएम बना हूं वरना हमने तो सोचा था पांच साल के लिए गए.

-आम जनता के कल्याण में कोई कसर नहीं रहेगी चारों तरफ अभियान जारी रहेगा.
-ये सब छुड़वाई हुई जमीन आम जनता के काम आना है.सभी दिव्यांगों को सौगात के लिए एक बार और शुभकामनाएं बधाई.

-मुरैना में दुर्भाग्य पूर्ण घटना घटी. मैंने TI और आबकारी अधिकारी को ससपेंड किया है. घटना की जांच जारी है.
- आज के कार्यक्रम में मीडिया और संतों को दूर रखने की बात पर कहा सबसे पहले संतों के साथ ही चर्चा हुई है. हम खुले दिल दिमाग वाले लोग हैं.
-कमलनाथ जी के स्मार्ट सिटी में 300 करोड़ शामिल के सवाल पर कहा पूरी स्मार्ट सिटी का प्रोजेक्ट मैं तय करके गया था.कोई कमलनाथ नही हैं बीच में.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज