• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • MP के विश्वविद्यालयों पर आयकर विभाग की नज़र,संस्थानों में करोड़ों की टैक्स चोरी

MP के विश्वविद्यालयों पर आयकर विभाग की नज़र,संस्थानों में करोड़ों की टैक्स चोरी

बरकतउल्ला विवि

बरकतउल्ला विवि

आयकर की जांच में पता चला है कि आरजीपीवी का 900 करोड़ रुपए से ज़्यादा फंड बैंक में एफडी है.बरकतउल्ला विवि के पास 700 करोड़ रुपए जमा है. इन दोनों विश्वविद्यालयों को बैंक में जमा इस पैसे के ब्याज से ही करोड़ों की आमदनी होती है

  • Share this:
मध्य प्रदेश के व्यवसायिक संस्थानों के बाद अब आयकर विभाग की नज़र शैक्षणिक संस्थानों पर है. वो विश्वविद्यालयों की आमदनी का लेखा-जोखा खंगाल रहा है. ये पहला मौका है जब विश्वविद्यालयों के खिलाफ आयकर विभाग कार्रवाई कर रहा है.

दरअसल विश्वविद्यालय अपने बैंक खातों में जमा पैसे का ब्यौरा आयकर विभाग को नहीं दे पाए हैं और टैक्स भी जमा नहीं किया. एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स को आयकर विभाग की धारा 12(ए) के तहत टैक्स में छूट मिलती है. लेकिन विश्वविद्यालयों का रजिस्ट्रेशन 12(ए) के तहत नहीं हुआ है. यही वजह है कि उन्हें टैक्स देना पड़ता है. टैक्स चोरी करने पर आयकर विभाग कार्रवाई कर रहा है.

भोपाल स्थित राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय आरजीपीवी से संबंद्ध 308 कॉलेज हैं. एडमिशन फीस के नाम पर यूनिवर्सिटी को सालाना 100 करोड़ की आय होती है. लेकिन उसने टैक्स चोरी कर ली. उसके बाद आयकर विभाग ने उससे 20 करोड़ रुपए ज़ब्त किए थे. इसी तरह बरकतउल्ला विश्वविद्यालय से 12 करोड़ रुपए ज़ब्त किए.

आयकर की जांच में पता चला है कि आरजीपीवी का 900 करोड़ रुपए से ज़्यादा फंड बैंक में एफडी है.बरकतउल्ला विवि के पास 700 करोड़ रुपए जमा है. इन दोनों विश्वविद्यालयों को बैंक में जमा इस पैसे के ब्याज से ही करोड़ों की आमदनी होती है.

विश्वविद्यालय कई साल से खर्च का विवरण ही तैयार नहीं कर पाए हैं. विश्वविद्यालयों को मिलने वाली ऱाशि किस मद में खर्च की जाती है, इसका ब्यौरा भी विश्वविद्यालयों के पास नहीं है.बीयू को तीन से पांच साल के खर्च का ब्यौरा आयकर विभाग को देना है. विश्वविद्यालयों को विकास के लिए मिलने वाली राशि बैंक खातों में फंड के रूप में जमा है. उसके ब्याज से ही विश्व विद्यालयों को करो़ड़ों की कमाई हो रही है.

आयकर विभाग की कार्रवाई के बहाने ही सही विश्वविद्यालयों में जमा पैसा अब बाहर आ रहा है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज