• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • होशंगाबाद SP संतोष सिंह के करीबी के ठिकानों पर IT की रेड, करोड़ों की काली कमाई की आशंका

होशंगाबाद SP संतोष सिंह के करीबी के ठिकानों पर IT की रेड, करोड़ों की काली कमाई की आशंका

पीयूष गुप्ता अपने नौकरों के नाम पर करोड़ों की संपत्ति की खरीद-फरोख्त करता था.

पीयूष गुप्ता अपने नौकरों के नाम पर करोड़ों की संपत्ति की खरीद-फरोख्त करता था.

इनकम टैक्स (Income tax) विभाग को लंबे समय से मामले की शिकायत मिल रही थी. इसके बाद रणनीति बनाकर टीम ने मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal) में छापेमारी की कार्रवाई की.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की राजधानी भोपाल (Bhopal) में इनकम टैक्स विभाग (Income Tax Department) की टीम ने बड़ी कार्रवाई की है. एक आईपीएस (IPS) अफसर के करीबी के घर इनकम टैक्स की दिल्ली की टीम ने छापा मारा है. पुरानी भोपाल में चौक बाजार समेत कई जगहों पर छापेमारी कार्रवाई की गई है. जानकारी के मुताबिक आय से अधिक की संपत्ति के मामले में यह कार्रवाई की गई है. बताया जा रहा है कि रेड में करोड़ों रुपयों की काली कमाई उजागर हो सकती है. दिल्ली की विशेष टीम गुरुवार को सुबह भोपाल में संदिग्धों के ठिकानों पर पहुंची और जांच शुरू कर दी.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक आईपीएस अफसर व होशंगाबाद के एसपी संतोष सिंह गौर के करीबी साले राघवेन्द्र सिंह तोमर के ठिकानों पर छापेमारी की गई है. संदिग्ध ने काली कमाई को सफेद करने के लिए अलग अलग व्यावसायों में इन्वेस्ट किया है. लंबे समय से विभाग को आय से अधिक संपत्ति, काली कमाई और टैक्स चोरी की शिकायतें मिल रहीं थीं, जिसके बाद रणनीति बनाकर कार्रवाई की गई है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक भोपाल में संचालित फेथ ग्रुप आफ कंपनीस के ठिकानों पर रेड पड़ी है.

ये भी पढ़ें: कांग्रेस नेता का दावा: 'ज्योतिरादित्य सिंधिया को चुनाव जिताने मैं वोटर्स को धमकाता था'

नेताओं का भी लगा है पैसा
सूत्रों के मुाताबिक फेथ ग्रुप के चूनाभट्ठी व पुरानी भोपाल के ठिकानों पर छापेमारी की गई है. ग्रुप द्वारा रियल एस्टेट, होटल, क्रिकेट क्लब, डेयरी, एग्रो व अन्य व्यावसायों में पैसा लगाया गया है. ग्रुप संचालक का नाम राघवेन्द्र सिंह तोमर बताया जा रहा है, जो आईपीएस अफसर संतोष सिंह गौर के करीबी रिश्तेदार हैं. संतोष भोपाल में भी एसपी रह चुके हैं. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक ग्रुप में एक रिटायर्ड आईपीएस व कुछ नेताओं के भी पैसे लगे हैं. इसके सबूत भी इनकम टैक्स की टीम को मिले हैं. फिलहाल इस मामले में कोई जिम्मेदार खुलकर सामने नहीं आ रहा है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज