Home /News /madhya-pradesh /

indian peoples theatre association ipta campaign on 75th year of independence azadi ka amrit mahotsav

ढाई आखर प्रेम काः सद्भाव का संदेश लेकर चल पड़े इप्टा के साथी, 19 मई को पहुंचेंगे भोपाल

Bhopal News: आजादी के 75वें वर्ष के उपलक्ष्य में IPTA की सांस्कृतिक यात्रा 'ढाई आखर प्रेम का' 9 अप्रैल को रायपुर से चली है, जो 19 मई को भोपाल पहुंचेगी. (फोटो साभारः इप्टा)

Bhopal News: आजादी के 75वें वर्ष के उपलक्ष्य में IPTA की सांस्कृतिक यात्रा 'ढाई आखर प्रेम का' 9 अप्रैल को रायपुर से चली है, जो 19 मई को भोपाल पहुंचेगी. (फोटो साभारः इप्टा)

IPTA Cultural Karwan: सांस्कृतिक यात्रा के दौरान इप्टा के संस्कृतिकर्मी युवाओं की टोली नाटक, कविता, गीत, जनगीत, संवाद, पोस्टर प्रदर्शनी सहित तमाम कला प्रस्तुतियां करते हुए 9 अप्रैल को रायपुर, छत्तीसगढ़ से चल पड़ी है. उनकी यह यात्रा झारखंड, बिहार, मध्य प्रदेश के गांव-शहर और कस्बों से होते हुए 19 मई को भोपाल पहुंचेगी. यात्रा का समापन 22 मई को इंदौर में होगा.

अधिक पढ़ें ...

भोपाल. ढाई आखर प्रेम का, यह नाम है उस सांस्कृतिक यात्रा का, जो आजादी की 75वें वर्ष के उपलक्ष्य में प्रेम और सद्भाव का अलख जगाने निकल पड़ी है. भारतीय जन नाट्य संघ (इप्टा) के तत्वावधान में इस सांस्कृतिक यात्रा के दौरान युवाओं की टोली नाटक, कविता, गीत, जनगीत, संवाद, पोस्टर प्रदर्शनी सहित तमाम कला प्रस्तुतियां करते हुए 9 अप्रैल को चल रायपुर छत्तीसगढ़ से चल पड़ी है. उनकी यह यात्रा झारखंड, बिहार, मध्य प्रदेश के गांव-शहर और कस्बों से होते हुए 19 मई को भोपाल पहुंचेगी. यात्रा का समापन 22 मई को इंदौर में होगा.

इप्टा की इस सांस्कृतिक यात्रा ‘ढाई आखर प्रेम का’ के स्वागत और कार्यक्रमों की तैयारी के सिलसिले में हाल ही भोपाल के कवि दुष्यंत कुमार संग्रहालय में लेखकों, रंगकर्मियों, कलाधर्मियों की एक बैठक का आयोजन किया गया है. वरिष्ठ कवि राजेश जोशी आयोजन समिति के अध्यक्ष बनाए गए हैं. यात्रा के संयोजक इप्टा के राज्य सचिव सचिन श्रीवास्तव ने बताया कि 19 और 20 मई को भोपाल और सीहोर में कई स्थानों से कार्यक्रम करते हुए गुजरेगी. भोपाल में 5 कार्यक्रम होंगे. वरिष्ठ कवि और इप्टा मध्य प्रदेश के पूर्व अध्यक्ष राजेश जोशी ने कहा नफरत की सियासत के दौर में ढाई आखर प्रेम के बोलना और इस प्रेम की बात को आगे बढ़ाने का कम हम सभी मिल-जुलकर करेंगे. शोर के इस दौर में प्रेम की गूंज को सुनना और सुनाना बेहद जरूरी है.

IPTA की यात्रा के बारे में

9 अप्रैल को रायपुर से शुरू हुई यह यात्रा छत्तीसगढ़, झारखंड, बिहार और उत्तर प्रदेश के विभिन्न शहरों, कस्बों, गांवों से होते हुए 15 मई को छतरपुर के रास्ते मध्य प्रदेश में प्रवेश करेगी और टीकमगढ़, चंदेरी, अशोकनगर, गुना से होते हुए 19 मई को भोपाल पहुंचेगी. 19 और 20 मई को भोपाल समेत आसपास के विभिन्न स्थानों पर कार्यक्रम होंगे. भोपाल से 20 मई को यात्रा इंदौर के लिए निकलेगी, जहां 22 मई को समापन कार्यक्रम होगा.

5 राज्यों में 250 से अधिक स्थानों पर कार्यक्रम

इस 45 दिवसीय यात्रा के दौरान प्रगतिशील लेखक संघ, जनवादी लेखक संघ, जन संस्कृति मंच, दलित लेखक संघ, जन नाट्य मंच समेत अन्य संगठनों, समूहों के सहयोग से 250 से अधिक स्थानों पर गीत, संगीत, नाटक, फिल्म, किस्सागोई के तमाम कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं. यात्रा में करीब 25 ख्यातिलब्ध कलाकार साथ-साथ चल रहे हैं. साथ ही स्थानीय कलाकारों के सहयोग से प्रस्तुतियां की जा रही हैं.

भोपाल में कहां, क्या कार्यक्रम

19 मई को दोपहर में श्यामपुरा दोराहा पर एक सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. इसके बाद शाम 6 बजे भोपाल में शहर के कलाकारों और कलाप्रेमियों के बीच रंगारंग कार्यक्रम होंगे. इनमें नाटक, जनगीत, गायन, वादन और अन्य कलात्मक अभिव्यक्तियों के जरिये संवाद होगा. 20 मई को शहर में दो बस्तियों में कार्यक्रम होंगे. इसके बाद यात्रा देवास के रास्ते इंदौर पहुंचेगी.

Tags: Art and Culture, Mp news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर