बेटे आकाश की करतूत पर सवाल पूछने पर कैलाश विजयवर्गीय बोले- तुम्हारी हैसियत क्या?

एक निजी चैनल के पत्रकार ने आकाश के पिता कैलाश विजयवर्गीय से सवाल पूछा कि आपके बेटे ने कानून को अपने हाथ में लेकर निगम अधिकारियों की पिटाई की. इस पर कैलाश विजयवर्गीय ने पत्रकार को कहा कि आप जज हैं क्या? तुम्हारी हैसियत क्या है?

News18 Madhya Pradesh
Updated: June 27, 2019, 9:10 AM IST
बेटे आकाश की करतूत पर सवाल पूछने पर कैलाश विजयवर्गीय बोले- तुम्हारी हैसियत क्या?
कैलाश विजयवर्गीय (फाइल फोटो)
News18 Madhya Pradesh
Updated: June 27, 2019, 9:10 AM IST
इंदौर से बीजेपी विधायक आकाश विजयवर्गीय के करतूत पर उनके पिता और बीजेपी के सीनियर लीडर कैलाश विजयवर्गीय से जवाब देते नहीं बन रहा है. आकाश के नगर निगम कर्मचारियों की पिटाई की घटना पर जब एक निजी चैनल के पत्रकार ने कैलाश विजयवर्गीय से सवाल पूछा तो वो उसे सुनकर भड़क गए.

बुधवार को मामला सामने आने के बाद पत्रकार ने कैलाश विजयवर्गीय से पूछा कि आपके बेटे ने कानून को अपने हाथ में लेकर निगम अधिकारियों की पिटाई की. इस पर पहले तो उन्होंने कहा कि मेरा बेटा गलत काम नहीं कर सकता. फिर जब पत्रकार ने दोबारा पूछा कि यह तो वीडियो में दिख रहा है कि आकाश अधिकारियों की पिटाई कर रहे हैं. इस पर वो और ज्यादा भड़क गए और पत्रकार को कहा कि आप जज हैं क्या? पत्रकार के बार-बार सवाल पूछने पर कैलाश विजयवर्गीय ने अपना आपा खो दिया और कहा कि तुम्हारी हैसियत क्या है?

आकाश विजयवर्गीय ने नगर निगम कर्मचारियों की बैट से की थी पिटाई

दरअसल आकाश विजयवर्गीय ने बुधवार को इंदौर नगर निगम के अधिकारियों की बल्ले से सरेआम पिटाई कर दी थी. मारपीट की इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. बताया जा रहा है कि निगम के कर्मचारी शहर में जर्जर हो चुके मकानों को तोड़ने आए थे. इस पर आकाश विजयवर्गीय ने उनसे बदसलूकी की और उन पर बुरी तरीके से भड़क गए. उन्होंने अधिकारियों की जोरदार तरीके से पिटाई कर दी. दरअसल, निगम की टीम जर्जर मकानों को खाली कराकर तोड़ना चाहती थी, ताकि किसी भी प्रकार की दुर्घटना से बचा जा सके.

इसके बाद आकाश विजयवर्गीय को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. उन्हें स्थानीय कोर्ट में पेश किया गया. आकाश को कोर्ट ले जाने के दौरान पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी. विधायक के समर्थक आसपास इकट्ठा हो गए. वे सरकार और निगम के खिलाफ नारेबाजी करने लगे. घटना के बाद थाने पहुंचे आकाश ने अपना पक्ष रखा. आकाश ने कहा कि यह तो शुरुआत है हम भ्रष्टाचार और गुंगागर्दी को खत्म करेंगे.

बता दें कि कैलाश विजयवर्गीय पिछले कुछ वर्षों से राष्ट्रीय राजनीति में बड़ी भूमिका निभा रहे हैं. साथ ही वो पश्चिम बंगाल में बीजेपी के प्रभारी भी हैं. इसलिए उन्होंने पिछले साल हुए मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव खुद नहीं लड़ा था. उनकी जगह पार्टी ने उनके बेटे आकाश विजयवर्गीय को टिकट दिया था.

ये भी पढ़ें -
Loading...

आकाश विजयवर्गीय को नहीं मिली ज़मानत, भेजे गए जेल

MP में गरीब सवर्णों को 10 फीसद आरक्षण, कैबिनेट ने दी मंज़ूरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 27, 2019, 8:22 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...