Assembly Banner 2021

MP में 800 रुपए से ऊपर पहुंचे रसोई गैस के दाम, जानिए महानगरों में कितनी हुई LPG की कीमत

मध्य प्रदेश में महंगाई बेकाबू होती दिखाई दे रही है. (सांकेतिक तस्वीर)

मध्य प्रदेश में महंगाई बेकाबू होती दिखाई दे रही है. (सांकेतिक तस्वीर)

मध्य प्रदेश में घरेलू गैस सिलेंडर के दाम बढ़ गए हैं. सभी जिलों में दाम 800 या उससे ऊपर पहुंच गए हैं. राजधानी में घरेलू गैस सिलेंडर की कीमत 25 रुपए बढ़कर 800 पर पुहंच गई. हालांकि BJP ने महंगाई से पल्ला झाड़ लिया है.

  • Last Updated: February 27, 2021, 12:42 PM IST
  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश में घरेलू गैस सिलेंडर के दाम बढ़ गए हैं. भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर सहित सभी जिलों में गैस सिलेंडर के दाम 800 या उससे ऊपर पहुंच गए हैं. राजधानी में घरेलू गैस सिलेंडर की कीमत 25 रुपए बढ़कर 800 पर पुहंच गई. इस मामले में प्रदेश के मंत्री का कहना है कि गैस के दामों से सरकार का सीधा-सीधा लेना-देना नहीं है.

घरेलू गैस सिलेंडर की कीमत इंदौर में 818.93, जबलपुर में 800.34 और ग्वालियर में 878 रुपए हो गई है. गैस के ये दाम तीन महीने 6 बार बढ़े हैं. फरवरी माह में यह तीसरी बढ़ोत्तरी हुई है. बता दें, दिसंबर के बाद से घरेलू गैस सिलेंडर 150 रुपए महंगा हुआ है.

कॉमर्शियल गैस का भाव
बता दें वैसे हर महीने की पहली तरीख को एलपीजी के दाम में बदलाव होते हैं. इस बार एक फरवरी को सिर्फ कामर्शियल गैस सिलेंडर के दामों में 190 रुपये की बढ़ोतरी हुई थी. इसके बाद देश की राजधानी में 19 किलो वाले सिलेंडर का भाव 1533.00 रुपये, कोलकाता में 1598.50 रुपये, मुंबई में 1482.50 रुपये और चेन्नई में 1649.00 रुपये हो गए हैं.
देश में एलपीजी की पहुंच करीब 99.5 फीसदी भाग तक हो गई है. देश में एलपीजी के करीब 28.9 करोड़ कंज्यूमर हो गए हैं. हालांकि जनवरी महीने में एलपीजी की कीमत में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई, लेकिन दिसंबर में दो बार की गई बढ़ोतरी के चलते दिल्ली में एलपीजी के दाम 100 रुपये प्रति सिलेंडर तक बढ़ गए थे. वहीं, फरवरी 2021 में 50 रुपये का दिल्‍ली के लोगों को झटका लगा है.



मंत्री विश्वास सारंग ने महंगाई से झाड़ा पल्ला
गैस के इन दामों पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि कीमतों का बढ़ना अंतरराष्ट्रीय बाजार पर आधारित है. हमारी सरकार में महंगाई कम हुई है. क्योंकि डिमांड और सप्लाई का सीधा-सीधा खेल है. आगे अर्थव्यवस्था और बाजार ठीक करने के प्रयास किए जाएंगे. वहीं सदन में विपक्ष के मुद्दों पर जवाब नहीं देने पर का सारंग ने कहा कि कांग्रेस सदन का इस्तेमाल राजनीति के लिए करती है. कांग्रेस के नेता ना अध्ययन करते हैं और ना ही विचार करते हैं. उन्होंने भ्रष्टाचार के कई कारनामे किए. हम सदन का सदुपयोग करते हैं. जनता कल्याण के लिए हम हर प्रश्न का उत्तर देना चाहते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज