लाइव टीवी

'माननीयों' के सम्मान में अफसरों को खड़े होकर करना होगा नमस्कार

Ranjana Dubey | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 13, 2019, 2:31 PM IST
'माननीयों' के सम्मान में अफसरों को खड़े होकर करना होगा नमस्कार
माननीयों को खड़े होकर करना होगा नमस्कार

जनसंपर्क मंत्री पी सी शर्मा (P C Sharma) का कहना है, सामान्य प्रशासन विभाग (GAD) ने अब पत्र जारी किया है.ये तो बहुत पहले ही हो जाना चाहिए था. ये तो शिष्टाचार (Etiquette) है

  • Share this:
भोपाल.मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में विधायकों और सांसदों (mla-mp) के स्वागत में अफसरों (officer) को खड़े होना होगा. सिर्फ खड़े ही नहीं होना होगा बल्कि हाथ भी जोड़ना होंगे. प्रदेश के सामान्य प्रशासन विभाग (GAD) ने आदेश दे दिए हैं.

मध्यप्रदेश की अफसरशाही के रवैए से कमलनाथ सरकार के मंत्री और नेता खुश नहीं हैं. वो अधिकारियों की मनमर्ज़ी और रवैए पर नाराज़गी जाहिर कर चुके हैं. इन माननीयों की नाराज़गी पर सरकार ने गौर किया तो मंत्रालय हरक़त में आ गया. सामान्य प्रशासन विभाग ने सभी विभागों के प्रमुखों को आदेश जारी कर दिया है. इसमें साफ-साफ कहा गया है कि जब भी कोई सांसद या विधायक अधिकारियों से मिलने आएं तो अफसर उनके सम्मान में खड़े होकर उनका स्वागत करें. वो अपनी सीट से उठें और हाथ जोड़कर उनका अभिवादन करें.

शिष्टाचार ज़रूरी
पत्र में कहा गया है कि अफसरों को माननीयों के साथ अपने व्यवहार में शिष्टाचार बरतना चाहिए.सभी विभागों के प्रमुखों को निर्देश दिए गए हैं कि वो अपने अधीनस्थ अधिकारियों औऱ कर्मचारियों को भी ये आदेश बता दें और सख्ती से इसका पालन कराएं.

जनता ने जिन्हें चुना उनका सम्मान ज़रूरी
सामान्य प्रशासन विभाग के इस आदेश पर जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा का कहना है, सामान्य प्रशासन विभाग ने अब पत्र जारी किया है.ये तो बहुत पहले ही हो जाना चाहिए था. ये तो शिष्टाचार है.एक चुना हुआ प्रतिनिधि है,एमएल है या सांसद है, जिसे जनता ने चुनकर भेजा है.वहीं मंत्री कानून बनाते हैं. उसी नियम-कानून पर देश चलता है.

कांग्रेस सरकार में सम्मान नहींभाजपा विधायक विश्वास सारंग का कहना है ये तो पुराना शिष्टाचार है. लेकिन जब से कांग्रेस की सरकार आई है तब से इसका पालन नहीं हो रहा है.जनप्रतिनिधियों का अपमान हो रहा है.कांग्रेस को समर्थन देने वाली बसपा विधायक भी इस बात को कई बार कह चुकी हैं.बहुत सारे मंत्रियों ने ये शिकायत की है कि प्रशासन और ब्यूरोक्रेसी,जनप्रतिनिधियों का सम्मान नहीं करती है.कांग्रेस के विधायक भी असंतोष जाहिर कर चुके हैं.मुझे लगता है लोकतंत्र में जनप्रतिनिधि,कार्यपालिका और लोकपालिका इन सभी को बहुत सामंजस्य के साथ काम करना चाहिए.

ये भी पढ़ें-मंदसौर नगर पालिका CMO सविता प्रधान के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट

स्कूल के टॉयलेट में बच्ची से रेप! झाड़ियों में खून से लथपथ मिली एक और मासूम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 13, 2019, 1:29 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर