लाइव टीवी

MP में अलर्ट: संदिग्ध युवकों की तलाश जारी, आतंकी कनेक्शन की जांच में जुटी इंटेलिजेंस

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 6, 2019, 8:26 PM IST
MP में अलर्ट: संदिग्ध युवकों की तलाश जारी, आतंकी कनेक्शन की जांच में जुटी इंटेलिजेंस
संदिग्ध युवकों के आतंकी कनेक्शन की जांच कर रही इंटेलिजेंस

पचमढ़ी आर्मी कैंप (Pachmarhi army Camp) से जवानों की 2 बंदूकें, 20 जिंदा कारतूस, 3 मैगजीन लूटने वाले युवकों के आतंकी कनेक्शन की जांच की जा रही है. इंटेलिजेंस ने प्रदेश के सभी एसपी को अलर्ट जारी कर दिया है. सेना की इंटेलिजेंस के साथ तमाम सुरक्षा एजेंसियों से अज्ञात आरोपियों की जानकारी को साझा भी किया गया है.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश में पचमढ़ी के आर्मी कैंप की सुरक्षा में बड़ी चूक होने के बाद प्रदेश की पुलिस अलर्ट पर है. शुक्रवार तड़के कैंप में घुसे दो संदिग्ध युवक 2 इंसास राइफल, तीन मैगजीन और 20 कारतूस चोरी करके ले गए. आर्मी कैंप में हुई इस घटना के बाद एमपी इंटेजिलेंस (MP Intelligence) अलर्ट पर है. इंटेलिजेंस ने प्रदेश के सभी एसपी को अलर्ट (Alert) जारी किया है. सभी को सीसीटीवी कैमरों में कैद आरोपियों की तस्वीरें और जानकारियों को बताया गया है. साथ ही आर्मी इंटेलिजेंस के साथ दूसरी सुरक्षा और खुफिया एजेंसियों से भी जानकारी साझा की गई है. इंटेलिजेंस आतंकी एंगल पर भी जांच कर रही है.

आंतकी कनेक्शन की जांच कर रही इंटेलिजेंस
इंटेलिजेंस डीआईजी मनोज शर्मा ने न्यूज 18 से बातचीत करते हुए कहा कि अज्ञात आरोपी की लास्ट लोकेशन पिपरिया स्टेशन के पास मिली है. आरोपी ट्रेन से गया है या फिर सड़क मार्ग से, इसको लेकर जांच की जा रही है. शर्मा ने बताया कि वरिष्ठ अधिकारियों ने मामले को गंभीरता से लिया है. पूरे एमपी में आरोपी की तलाश के लिए सर्चिंग ऑपरेशन चलाए जा रहे हैं. साथ ही सेना के इंटेलिजेंस के साथ दूसरी सुरक्षा और खुफिया एजेंसियों से भी जानकारियों को भी साझा किया गया है.

क्रिकेट बैग में ले गए रायफल

संदिग्ध पिपरिया से टैक्सी के जरिए आर्मी कैंप पहुंचे थे. वहां से राइफल चोरी करने के बाद पिपरिया रेलवे स्टेशन लौट आए. तत्काल की गई नाकेबंदी और तलाशी के बाद भी आरोपियों का कहीं सुराग नहीं लगा है. पुलिस ने उस टैक्सी ड्राइवर को जरूर पकड़ लिया है, जो दोनों संदिग्धों को पचमढ़ी लेकर गया और वापस पिपरिया लेकर आया था. टैक्सी ड्राइवर ने पुलिस को बताया है कि दोनों शख्स पंजाबी में बात कर रहे थे, जिनके पास जाते वक्त तो बंदूक जैसा कुछ नहीं था, लेकिन लौटते समय क्रिकेट बैट रखने वाला बैग उनके पास था.

जबलपुर भागने की संभावना
ड्राइवर ने इन लोगों को पिपरिया स्टेशन छोड़ा, जहां श्रीधाम एक्सप्रेस आने वाली थी. श्रीधाम एक्सप्रेस की वजह से आरोपियों के जबलपुर भागने की संभावना थी. जबलपुर स्टेशन के सीसीटीवी फुटेज देखे जा रहे हैं. पुलिस को आर्मी कैंप और पिपरिया स्टेशन पर सीसीटीवी कैमरे नहीं मिले हैं.ये भी पढ़ें -
यूरिया को लेकर सागर में बीजेपी का जंगी प्रदर्शन, शिवराज-गोपाल भार्गव ने दी गिरफ्तारी
MP के मंत्री ने की हैदराबाद पुलिस की तारीफ, प्रहलाद लोधी मामले पर सरकार को दी ये नसीहत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जबलपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 6, 2019, 8:08 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर