MP कांग्रेस की बैठक में छाया रहा 'अनुशासन' का मुद्दा, सिंधिया पर बावरिया ने साधी चुप्पी

समन्वय समिति की बैठक में अन्य मुद्दों पर हावी रहा अनुशासन
समन्वय समिति की बैठक में अन्य मुद्दों पर हावी रहा अनुशासन

मध्य प्रदेश कांग्रेस समन्वय समिति (MP Congress Coordination Committee) की बैठक में संगठन और सरकार में आई दूरियों को खत्म करने जोर दिया गया, साथ ही केंद्र के रवैये, किसान कर्ज माफी और भूमाफिया अभियान पर आगे की रणनीति बनाई गई है. समिति की अगली बैठक भोपाल में होगी.

  • Share this:
नई दिल्ली. करीब दो घंटे तक सीएम कमलनाथ (cm Kamalnath) के घर चली बैठक में प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया (Deepak Babaria), दिग्विजय सिंह (Digvijay singh), ज्योतिरादित्य सिंधिया, जीतू पटवारी, अरुण यादव मौजूद थे. बैठक के बाद दीपक बावरिया ने कहा कि संगठन और सरकार में आई दूरी को खत्म करने, बेहतर समन्वय पर जोर दिया गया है. अगले सप्ताह भोपाल में समिति के सदस्य जीतू पटवारी, अरुण यादव के साथ वह खुद बैठक भी करेंगे. उन्होंने बताया कि प्रस्तावित बैठक में मंत्रिमंडल के सदस्य और संगठन के कुछ पदाधिकारी भी रहेंगे. समन्वय कैसे बने इसका फॉर्मूला भी बैठक में तय करेंगे. प्रदेश प्रभारी ने बताया कि पंचायत और निकाय चुनाव को लेकर भी चर्चा हुई है.

सिंधिया पर बोलने से बचते रहे बावरिया
दीपक बावरिया ने बताया कि पार्टी प्लेटफार्म को छोड़कर बाहर बयानबाजी और अनुशासनहीनता पर भी आज की बैठक में चर्चा हुई है. प्रदेश की कमेटी अगले सप्ताह बैठक में इस पर रुख साफ होगा. उन्होंने बताया कि ज्योतिरादित्य सिंधिया की पहले से बैठक तय थी इसलिए वो कुछ जल्दी चले गए. सिंधिया ने पहले क्या बयान दिया, किस परिप्रेक्ष्य में दिया, आज उस पर कुछ नहीं कह सकते हैं.

'बैठक की रिपोर्ट पार्टी अध्यक्ष को देंगे'
दीपक बावरिया ने बताया कि बैठक की रिपोर्ट पार्टी अध्यक्ष को देंगे, लेकिन यह काम लगातार होता रहता है इसमें कुछ नया नहीं है. उन्होंने बताया कि पंचायत और निकाय चुनाव को लेकर भी चर्चा हुई है. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री कमलनाथ अगले हफ्ते तक फीड बैक ले रहे है, उसके बाद आगे का रोड मैप तैयार होगा.



निकाय और पंचायत चुनावों पर भी हुई बात
मंत्री जीतू पटवारी ने बताया कि निकाय और पंचायत चुनावों पर चर्चा हुई है, साथ ही रोजगार, कृषि, कर्ज माफ़ी और कार्यकर्ताओं को सरकार के साथ जोड़ने पर भी चर्चा की गई है. उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ ने जो बातें कहीं वो राज्य को समृद्ध बनाने मददगार साबित होंगी. उन्होंने बताया कि घोषणा पत्र 5 साल का है इसपर अमल किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें -
शिवाजी महाराज की प्रतिमा पर तेज हुई सियासत, सौंसर में मार्च करेंगे शिवराज
विष्णु दत्त शर्मा मध्य प्रदेश बीजेपी के नए अध्यक्ष नियुक्त
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज