Home /News /madhya-pradesh /

ज़रा याद करो कुर्बानी : पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुआ था जबलपुर का लाल अश्विनी कुमार काछी

ज़रा याद करो कुर्बानी : पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुआ था जबलपुर का लाल अश्विनी कुमार काछी

शहीद अश्विनी कुमार काछी

शहीद अश्विनी कुमार काछी

बेटे की शहादत के बाद उनके पिता ने कहा था कि गांव के हर युवा को सेना में जाना चाहिए. भाई ने मांग की थी कि सरकार खून का जवाब खून से दे.

    जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों में मध्यप्रदेश के जबलपुर का लाल भी शामिल था. जबलपुल के खुड़ावल  गांव का अश्विनी  कुमार काछी उस हमले में शहीद हुआ था. अश्विनी 30 साल के थे. वो शादी के लिए अप्रैल में गांव आने वाले थे. आज भारत ने सर्जिकल स्ट्राइक 2 कर भारत ने उनकी शहादत का बदला ले लिया है.

    शहीद अश्विनी अपने परिवार में सबसे छोटे थे. घर में  उनके माता-पिता औऱ पांच भाई-बहन हैं. अश्विनी कुमार के पिता का सुकरी काछी है. बेटे की शहादत के बाद उनके पिता ने कहा था कि गांव के हर युवा को सेना में जाना चाहिए. भाई ने  मांग की थी कि सरकार खून का जवाब खून से दे.

    इसी महीने 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमला हुआ था.  20 साल में ये सबसे बड़ा आतंकी हमला था. पुलवामा के अवंतीपोरा के गोरीपोरा इलाके में सीआपीएफ के काफिले पर फिदायीन हमला हुआ था. फिदायीन ने विस्फोटकों से भरी गाड़ी सीआरपीएफ की बस से टकरा दी थी. बस में जवान सवार थे. उस हमले में सीआरपीएए के 40 जवान शहीद हुए थे

    जैश ए मोहम्मद ने उस हमले की जिम्मेदारी ली थी.  सीआरपीएफ काफिले पर फिदायीन हमला करने से पहले आतंकी आदिल उर्फ वकास का एक वीडियो जारी किया था. वीडियो में दक्षिण कश्मीर के काकपोरा के रहने वाले वकास जैश के झंडे के साथ बैठा हुआ है और उसके आगे ग्रेनेड एवं राइफलें रखी हुई है. वीडियो की शुरूआत में वह कहता है कि ‘जब तक यह वीडियो आप लोगों तक पहुंचेगा, उस समय मैं जन्नत में मजे लूट रहा होउंगा. मैने जैश ए मोहम्मद में आतंकी के रूप में एक साल बिताया है और यह मेरा कश्मीर के लोगों के लिए आखिरी मैसेज है’.

    यह भी पढ़ें-  जम्मू-कश्मीर: सबसे बड़ा आतंकी हमला, CRPF के 42 जवान शहीद, यहां पढ़ें घटना की 10 बड़ी बातें

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

    Tags: CRPF, Madhya pradesh news, Pulwama, Pulwama attack, Terrorist attack

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर