लाइव टीवी

MP: जैन-गुजराती समाज ने महिलाओं की डांस ट्रेनिंग और प्री-वेडिंग फोटोग्राफी पर लगाया बैन

News18 Madhya Pradesh
Updated: December 11, 2019, 1:18 PM IST
MP: जैन-गुजराती समाज ने महिलाओं की डांस ट्रेनिंग और प्री-वेडिंग फोटोग्राफी पर लगाया बैन
जैन और गुजराती समाज के संगठनों ने प्री-वेडिंग फोटो-शूट महिलाओं की डांस-ट्रेनिंग पर प्रतिबंध लगा दिया है. (फोटोः एएनआई)

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में जैन (Jain) और गुजराती (Gujarati) समाज से जुड़े संगठनों ने परंपरा और संस्कृति बचाने को 'अनोखा फैसला' लिया है. इसके तहत शादियों से पहले प्री-वेडिंग फोटोग्राफी (Pre-wedding Photoshoot) पर प्रतिबंध लगा दिया है.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में रहने वाले जैन या गुजराती समुदाय के शादी समारोहों में अब आपको प्री-वेडिंग फोटो-शूट (Pre-wedding Photoshoot) जैसा कोई कार्यक्रम होता नहीं दिखेगा. साथ ही संगीत-समारोह या बारात में नाचने के लिए किसी पुरुष डांस- ट्रेनर (male choreographers) से प्रशिक्षण लेती महिलाएं भी नजर नहीं आएंगी. शादी-विवाह के मौसम में ये पढ़ना या सुनना आपको अजीब लग रहा होगा, लेकिन यह सच है. दरअसल, मध्य प्रदेश के जैन (Jain) और गुजराती (Gujarati) समाज से जुड़े संगठनों ने अपनी संस्कृति और परम्परा की रक्षा के लिए यह अनोखा फैसला लिया है. इसके तहत शादियों से पहले प्री-वेडिंग फोटोग्राफी और महिलाओं को डांस सिखाने वाले पुरुष प्रशिक्षकों के चलन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. संगठनों का कहना है कि समाज से जुड़े लोगों ने अगर इन फैसलों की अनदेखी की, तो उनका बहिष्कार किया जाएगा.

गुजराती समाज को मानने होंगे निर्देश
भोपाल गुजरात समाज के अध्यक्ष और गुजराती समाज के राष्ट्रीय महासचिव संजय पटेल ने एएनआई से बातचीत में कहा कि प्री-वेडिंग फोटो-शूट का चलन रोकने के लिए हम निर्देश जारी कर रहे हैं. साथ ही समाज से जुड़े लोगों को इस बाबत पत्र भी भेजा जाएगा. हम समाज से जुड़े सदस्यों से यह आग्रह भी करेंगे कि वे महिलाओं के नृत्य कार्यक्रम में डांस-ट्रेनर को न बुलाएं. उन्होंने इन निर्देशों के माने जाने के सवाल पर चेतावनी दी, 'गुजराती समाज से जुड़े सभी सदस्यों को संगठन का निर्देश मानना होगा. अगर किसी सदस्य ने नियम नहीं माना तो समाज उसका बहिष्कार करेगा.' संजय पटेल ने कहा कि उन्हें भरोसा है कि देश के अलग-अलग इलाकों में रहने वाले गुजराती समाज से जुड़े लोग इस फैसले का स्वागत करेंगे.



जैन गुरुओं की सलाह पर हुआ फैसला
गुजराती समाज की तर्ज पर जैनियों के संगठन ने भी ऐसा ही निर्णय अपने समाज के सदस्यों के लिए लागू किया है. भोपाल जैन समाज के अध्यक्ष प्रमोद हिमांशु जैन ने बताया, 'हमारे धार्मिक गुरु अक्सर अपने प्रवचनों में प्री-वेडिंग फोटो-शूट और डांस प्रशिक्षण को लेकर आपत्ति जताते रहे हैं. गुरुओं ने इसे अभद्रता माना है. इसी को लेकर जैन समाज ने भी इन दोनों चीजों पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है. अब जैन समाज में न तो प्री-वेडिंग फोटो-शूट होंगे और न ही किसी पुरुष डांस-ट्रेनर को महिलाओं के कार्यक्रम में भाग लेने की अनुमति मिलेगी.' गुजराती और जैन समाज के इस निर्णय को सिंधी समाज ने भी अपना समर्थन दिया है. भोपाल सिंधी पंचायत के प्रेसिडेंट भवन देव इसरानी ने कहा कि हम लोग भी इस तरह का निर्णय लेने के लिए जल्द ही समाज की बैठक करेंगे.

विरोध के स्वर भी उठेजैन और गुजराती समाज के संगठनों ने प्री-वेडिंग फोटो-शूट और महिलाओं को डांस-ट्रेनिंग देने पर रोक लगाने का फैसला भले ले लिया हो, लेकिन इसका विरोध भी शुरू हो गया है. खासकर युवावर्ग में इस फैसले की आलोचना हो रही है. युवाओं का मानना है कि यह निजी सोच का मामला है, इसमें संगठनों को दखल नहीं देना चाहिए. जैन समाज से जुड़ी एक सदस्य ने कहा कि प्री-वेडिंग फोटो दरअसल स्मृतियों को संजोने का तरीका है. इसमें किसी तरह की अभद्रता नहीं होती. यह लोगों की मानसिक सोच का मामला है, इस पर प्रतिबंध लगाना सही नहीं है. वहीं, एक अन्य व्यक्ति ने कहा कि शादी समारोहों का आयोजन निजी मामला है. हर व्यक्ति अपने तरीके से इसे मना सकता है. लोगों पर इस तरह के फैसले नहीं थोपने चाहिए.

ये भी पढ़ें -

भोपालः सरकारी स्कूल से युवक की लाश बरामद, गले में जंजीर बांध जलाने की आशंका

पचमढ़ी आर्मी कैंप से इंसास राइफल और कारतूस चुराने वाले 2 आरोपी पंजाब में गिरफ़्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 10, 2019, 3:34 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर