अपना शहर चुनें

States

लव जिहाद के खिलाफ विधेयक आने से पहले विरोध शुरू, जमीयत उलेमा ए हिंद ने कहा- बदनाम न करें!

जमीयत उलेमा ए हिंद ने कहा-ये समुदाय विशेष को बदनाम करने की साज़िश है.
जमीयत उलेमा ए हिंद ने कहा-ये समुदाय विशेष को बदनाम करने की साज़िश है.

मप्र जमीयत उलेमा ए हिंद के अध्यक्ष हाजी हारून ने कहा लव जिहाद (Love jihad) के नाम पर प्रॉपेगंडा किया जा रहा है. उसे रोका जाना चाहिए.

  • Share this:
भोपाल.लव जिहाद (Love jihad) के खिलाफ कानून बनाने की घोषणा होते ही मध्यप्रदेश (MP) में इसका विरोध शुरू हो गया है. प्रदेश में जमीयत उलेमा ए हिंद ने इसका विरोध शुरू कर दिया है. उसकी सरकार से मांग की है कि इस तरह का विधेयक नहीं लाया जाए. पहले से ही इस तरह के तमाम कानून हैं. ऐसे में प्रॉपेगंडा कर किसी समुदाय विशेष को बदनाम करने की साजिश और नफरत फैलाने का काम नहीं किया जाए.

लव जिहाद के खिलाफ विधान सभा सदन के पटल पर विधेयक आने से पहले ही उसके विरोध में लोग उठ खड़े हुए हैं. प्रदेश सरकार ने एक दिन पहले ही घोषणा की है कि विधान सभा के अगले सत्र में लव जिहाद के खिलाफ एक विधेयक लाया जाएगा. सरकार इस विधेयक को सत्र में पास कराने के बाद कानून बनाने के लिए राष्ट्रपति के पास भेजेगी.

कांग्रेस भी विरोध में
कांग्रेस पहले ही सरकार की इस घोषणा पर विरोध जता चुकी है. उसका कहना है कि मध्यप्रदेश में महिला अपराध बढ़ रहे हैं सरकार पहले उस ओर ध्यान दे. इस विधेयक की जगह सरकार को महिला अपराध रोकने के लिए कोई विधेयक लाना चाहिए.
जमीयत उलेमा ए हिंद को एतराज़


मप्र  जमीयत उलेमा ए हिंद के अध्यक्ष हाजी हारून ने कहा लव जिहाद के नाम पर प्रॉपेगंडा किया जा रहा है. उसे रोका जाना चाहिए.उन्होंने कहा समाज में एक अलग किस्म की नफरत फैलाने की कोशिश की जा रही है. हम इसकी घोर निंदा करते हैं.ऐसा कानून बनाना संविधान के खिलाफ है. नकारात्मक बात की जा रही है. एक तरफा बदनाम करने की कोशिश की जा रही है. इस पर भारत सरकार मध्य प्रदेश सरकार को गौर करना चाहिए.

लव, जिहाद का मतलब बताया
हाजी हारून ने लव और जिहाद का मतलब बताया. उनका कहना है लव एक अलग चीज है. प्यार किसी को किसी से हो सकता है.  जिहाद का प्यार से कोई ताल्लुक नहीं है. जिहाद का मतलब होता किसी अच्छे काम के लिए कोशिश करना. बुराई को दूर करना यानि जिहाद. विधेयक को लेकर बीजेपी नेता पंकज चतुर्वेदी का कहना है सरकार कोई भी काम करती है तो सोच समझ कर करती है. हम इस विधेयक को सत्र में लेकर आएंगे. इस कानून की प्रदेश को जरूरत है. कांग्रेस को विरोध प्रदर्शन करना है तो वह करती रहे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज