Assembly Banner 2021

# विधान सभा चुनाव : GGP और जयस मिला सकते हैं हाथ, 20 को होगा फैसला

जयस अध्यक्ष डॉ हीरालाल अलावा

जयस अध्यक्ष डॉ हीरालाल अलावा

जयस में फूट पड़ने की भी ख़बर है. जयस के अध्यक्ष डॉ हीरालाल अलावा कांग्रेस से टिकिट मांग रहे हैं जबकि अन्य पदाधिकारी गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के चिह्न पर लड़ना चाहते हैं.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के चुनावी अखाड़े में उतर रही जय आदिवासी युवा शक्ति संगठन यानि जयस को बड़ा झटका लगा है. उसे चुनाव चिन्ह नहीं मिला है. आचार संहिता लागू होने के कारण जयस को चुनाव चिन्ह एलॉट नहीं किया गया है. इस बीच ख़बर है कि जयस में फूट पड़ने की भी ख़बर है. एक धड़ा जीजीपी से हाथ मिला सकता है.

जयस में फूट पड़ने की ख़बर है. चुनाव चिन्ह ना मिलने पर जयस अध्यक्ष डॉ हीरालाल अलावा कांग्रेस से हाथ मिलाना चाहते हैं. लेकिन अन्य पदाधिकारी गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के चिह्न पर लड़ना चाहते हैं. कुछ ऐसे भी हैं जो निर्दलीय चुनाव लड़ने की इच्छा रखते हैं.

महाकौशल क्षेत्र के लिए जयस और गोंगपा के बीच गठबंधन हो सकता है. इस बारे में अंतिम और फायनल फैसला 20 अक्टूबर को होगा. इंदौर में जयस और गोंगपा की बैठक होगी. ख़बर है कि जयस के करीब 30 उम्मीदवार गोंगपा के चुनाव चिह्न पर लड़ सकते हैं.



ये भी पढ़ें - AIIMS का एक डॉक्टर, जिसकी वजह से बदल गया MP की 47 आदिवासी सीटों का गणित
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज