प्रदेश कार्यालय में भूरिया का शानदार स्‍वागत, बोले- खाली नहीं है PCC चीफ की कुर्सी

जनता की सेवा करता रहूंगा- कांतिलाल भूरिया
जनता की सेवा करता रहूंगा- कांतिलाल भूरिया

झाबुआ विधानसभा उपचुनाव (Jhabua Assembly by-election) में भाजपा (BJP) के भानू भूरिया को हरा कर अपना दबदबा कायम करने के बाद कांतिलाल भूरिया (Kantilal Bhuria) पहली बार प्रदेश कांग्रेस कार्यालय पहुंचे. इस दौरान कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्‍वगात किया. जबकि भूरिया ने इस जीत का श्रेय मुख्‍यमंत्री कमलनाथ (Chief Minister Kamal Nath) की रणनीति और जनता को दिया है.

  • Share this:
भोपाल. झाबुआ विधानसभा उपचुनाव (Jhabua Assembly by-election) में भाजपा ( BJP) के भानू भूरिया को हराकर अपना दबदबा कायम करने वाले कांग्रेस के नवनिर्वाचित विधायक कांतिलाल भूरिया (Kantilal Bhuria) जीत के बाद पहली बार प्रदेश कांग्रेस कार्यालय पहुंचे. भोपाल में उनका कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्‍वागत किया. जबकि कांग्रेस के दिग्‍गज नेता भूरिया ने इस जीत को जनता को समर्पित बताया है. साथ ही उन्‍होंने झाबुआ की हाई-प्रोफाइल सीट पर कांग्रेस को मिली जीत को मुख्‍यमंत्री कमलनाथ (Chief Minister Kamal Nath) की रणनीति की जीत करार दिया है. वहींं भूरिया ने प्रदेश अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी पर कहा कि अभी अध्यक्ष की कुर्सी खाली नहीं है.

सीएम के कुशल नेतृत्व में जीत की है हासिल
झाबुआ में जीत पर कांतिलाल भूरिया का कहना है कि ये तो जनता का प्रेम है. लंबे समय से मध्य प्रदेश में रहा हूं और दिल्ली में भी सक्रिय रहा हूं. मैंने अपने क्षेत्र की जनता की सेवा भी की है. इसीलिए ऐतिहासिक जीत हुई है. यकीनन हमने सीएम कमलनाथ के कुशल नेतृत्व में जीत हासिल की है. भारतीय जनता पार्टी ने जो काम 15 सालों में नहीं किया है, वो काम कमलनाथ ने मुख्यमंत्री बनते ही कुछ महीनों में कर दिखाया है.

प्रदेश अध्यक्ष का फैसला पार्टी हाईकमान का
झाबुआ के नवनिर्वाचित विधायक कांतिलाल भूरिया ने प्रदेश अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी पर कहा कि अभी प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी खाली नहीं है. मुख्यमंत्री कमलनाथ के पास ही ये जिम्मेदारी है. वहीं मैं तो बस कार्यकर्ता हूं. झाबुआ के मतदाताओं ने ही मुझे जीत दिलाई है. जीत दिलाकर ही विधायक बनाया है. विधायक की हैसियत से विकास का काम करूंगा. हम तो कार्यकर्ता है. जबकि प्रदेश अध्यक्ष पद हाईकमान की पसंद से तय होगा. कांग्रेस की राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष सोनिया गांधी, सांसद राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और सीएम कमलनाथ का फैसला होगा. उनके बिना कोई काम नहीं होता है. मुझे जो जिम्मेदारी झाबुआ के मतदाताओं ने दी है, उसे में पूरी जिम्मेदारी के साथ निभाऊंगा.



मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने उठाई थी मांग
पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने झाबुआ सीट से जीत दर्ज कराते ही कांतिलाल भूरिया को प्रदेश अध्यक्ष बनाने की मांग उठाई थी. वर्मा ने कहा कि भूरिया पहले भी इस पद पर रह चुके हैं. इससे सत्ता और संगठन के बीच समन्वय बेहतर ढंग से होगा. सारे लोगों से सांमजस्य बैठाकर कार्य करने की कांतिलाल भूरिया की अनोखी शैली है.

ये भी पढ़ें-
इंदौर एयरपोर्ट को लेकर BJP-कांग्रेस में घमासान, MP शंकर लालवानी बोले-जनता के हित में फैसला

कमलनाथ सरकार उम्रदराज़ जहाज बेचकर खरीदेगी 60 करोड़ का नया हेलिकॉप्टर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज