जितिन प्रसाद ने थामा 'कमल' का साथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया बोले- छोटे भाई का स्वागत है

जितिन प्रसाद के बीजेपी में शामिल होने पर ज्योतिरादित्य सिंधिया का बड़ा बयान.

जितिन प्रसाद के बीजेपी में शामिल होने पर ज्योतिरादित्य सिंधिया का बड़ा बयान.

Jitin Prasad Join BJP: जितिन प्रसाद (Jitin Prasad ) के बीजेपी में शामिल होने के बाद अब ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने एक बड़ा बयान दिया है.

  • Share this:

भोपाल. कांग्रेस के मिशन उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) को आज एक करारा झटका लगा. यूपी की सियासत के कद्दावर नेता और युवा चेहरों में से एक जितिन प्रसाद (Jitin Prasad) बीजेपी में शामिल हो गए. जितिन प्रसाद  के बीजेपी में शामिल होने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने एक बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि वे मेरे छोटे भाई जैसे हैं. मैं उनका भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में स्वागत करता हूं और बधाई देता हूं.  जितिन प्रसाद का नाम कांग्रेस के दिग्गज नेताओं में शुमार रहा है. अभी तक कांग्रेस को यूपी में जिन्दा करने की कवायद में जुटे जितिन प्रसाद उस बीजेपी खेमे में खड़े हो गये हैं, जिसने कांग्रेस मुक्त भारत का सपना देखा है. राजनीति शायद इसी को कहते हैं. जितिन प्रसाद यूपी की ब्राह्मण राजनीति के खेवनहार माने जाते रहे हैं. पिछले एक साल से उन्होंने ब्राह्मणों को गोलबन्द करने के लिए कड़ी मशक्कत की है.

हालांकि, उनका कांग्रेस छोड़ने का फैसला बहुत चौंंकाने वाला नहीं है. प्रियंका गांधी वाड्रा के यूपी में सक्रिय होने के समय से ही जितिन प्रसाद पार्टी लाइन से कुछ कटे-कटे नजर आ रहे थे. पिछले साल जुलाई में तो यह हवा जोरों की उड़ी थी कि जितिन कांग्रेस छोड़ रहे हैं. उस समय राजस्थान में सचिन पायलट और अशोक गहलोत की तनातनी चरम पर थी. जितिन ने सचिन पायलट के लिए बहुत हमदर्दी दिखाई थी. हालांकि, तब उन्होंने पार्टी छोड़ने की अटकलों का खंडन कर दिया था, लेकिन आखिरकार वही हुआ जिसकी चर्चा थी. अब जितिन भगवा झंडा उठायेंगे.

सीएम योगी ने किया ट्वीट

जितिन प्रसाद के बीजेपी की सदस्यता ग्रहण करने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने उनका स्वागत किया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस छोड़कर भारतीय जनता पार्टी के वृहद परिवार में शामिल होने पर जितिन प्रसाद जी का स्वागत है. सीएम योगी ने कहा कि जितिन प्रसाद के भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने से उत्तर प्रदेश में पार्टी को अवश्य मजबूती मिलेगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज