• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • MP से जुड़ा जम्मू कश्मीर फर्जी शस्त्र लाइसेंस रैकेट का कनेक्शन, CBI का भिंड में छापा

MP से जुड़ा जम्मू कश्मीर फर्जी शस्त्र लाइसेंस रैकेट का कनेक्शन, CBI का भिंड में छापा

CBI RAID. भिंड जिले में बड़ी संख्या में लोगों के फर्जी शस्त्र लाइसेंस जम्मू कश्मीर में बने हैं. सीबीआई पहले भी कई बार प्रमोद शर्मा से पूछताछ कर चुकी है. प्रमोद पर जम्मू कश्मीर में तैनाती के दौरान फर्जी शस्त्र लाइसेंस बनाने का आरोप है.

CBI RAID. भिंड जिले में बड़ी संख्या में लोगों के फर्जी शस्त्र लाइसेंस जम्मू कश्मीर में बने हैं. सीबीआई पहले भी कई बार प्रमोद शर्मा से पूछताछ कर चुकी है. प्रमोद पर जम्मू कश्मीर में तैनाती के दौरान फर्जी शस्त्र लाइसेंस बनाने का आरोप है.

CBI RAID. भिंड जिले में बड़ी संख्या में लोगों के फर्जी शस्त्र लाइसेंस जम्मू कश्मीर में बने हैं. सीबीआई पहले भी कई बार प्रमोद शर्मा से पूछताछ कर चुकी है. प्रमोद पर जम्मू कश्मीर में तैनाती के दौरान फर्जी शस्त्र लाइसेंस बनाने का आरोप है.

  • Share this:

भोपाल. देश के बहुचर्चित जम्मू कश्मीर फर्जी शस्त्र लाइसेंस रैकेट (Jammu and Kashmir fake arms license racket) के तार अब मध्यप्रदेश के भिंड (Bhind) से जुड़ रहे हैं. सीबीआई (CBI) ने भिंड में पूर्व BSF जवान प्रमोद शर्मा सहित देश भर में 48 ठिकानों पर छापा मारा. इस दौरान मामले से जुड़े कई महत्वपूर्ण दस्तावेज जब्त किये गए.

सीबीआई की टीम ने भिंड में गोरमी के कचनाव कलां गांव में रहने वाले BSF के पूर्व जवान प्रमोद शर्मा के घर छापा मारा. घर में फर्जी शस्त्र लाइसेंस से जुड़े दस्तावेजों को खंगाला गया. इस दौरान कई महत्वपूर्ण दस्तावेज जब्त किए गए.

एमपी के नेटवर्क की पड़ताल
भिंड में छापा मार कार्रवाई के बाद अब CBI की टीम मध्य प्रदेश के नेटवर्क की भी जांच पड़ताल कर रही है. जानकारी के अनुसार भिंड जिले में बड़ी संख्या में लोगों के फर्जी शस्त्र लाइसेंस जम्मू कश्मीर में बने हैं. सीबीआई पहले भी कई बार प्रमोद शर्मा से पूछताछ कर चुकी है. प्रमोद पर जम्मू कश्मीर में तैनाती के दौरान फर्जी शस्त्र लाइसेंस बनाने का आरोप है.

ये भी पढ़ें- Navratri 2021 : Bhopal में एक ऐसा मंदिर जहां देवी को अर्पित किये जाते हैं जूते चप्पल

ये है पूरा मामला
यह मामला 2 लाख 78 हजार फर्जी लायसेंस का है. इतनी बड़ी संख्या में फर्जी लायसेंस जम्मू कश्मीर से 2012-2016 के बीच में जारी किए गए थे. 2017 में जम्मू कश्मीर में फर्जी शस्त्र लाइसेंस का खुलासा राजस्थान ATS ने किया था. इस दौरान एटीएस ने 50 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया था. इस केस की सीबीआई 2019 से जांच कर रही है. सीबीआई की प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार छापा मारने के बाद भी जांच जारी है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज