• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • BJP ज्वाइन करते ही सिंधिया को मिला तोहफा, कुछ घंटों में बने राज्यसभा उम्मीदवार

BJP ज्वाइन करते ही सिंधिया को मिला तोहफा, कुछ घंटों में बने राज्यसभा उम्मीदवार

सिंधिया ने बुधवार को बीजेपी ज्वाइन की है. (फाइल फोटो)

सिंधिया ने बुधवार को बीजेपी ज्वाइन की है. (फाइल फोटो)

कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया को बीजेपी ने इनाम दिया. बुधवार में दोपहर 2.30 बजे वह बीजेपी में शामिल हुए और कुछ ही घंटों में पार्टी ने उन्‍हें अपना राज्‍यसभा उम्‍मीदवार बना दिया.

  • Share this:
    नई दिल्ली. कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया को बीजेपी ने इनाम दिया. बुधवार में दोपहर 2.30 बजे वह बीजेपी में शामिल हुए और कुछ ही घंटों में पार्टी ने उन्‍हें अपना राज्‍यसभा उम्‍मीदवार बना दिया. बीजेपी ने अभी सिर्फ सिंधिया का नाम ही घोषित किया है. दूसरे उम्‍मीदवार का नाम घोषित किया जाना बाकी है. पहले हर्ष चौहान दूसरे उम्‍मीदवार बताए जा रहे थे, लेकिन उनका नाम लिस्‍ट में नहीं आया.

    बता दें, कांग्रेस में रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आधिकारिक तौर पर बीजेपी की की सदस्यता ले ली है. उन्होंने बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा की मौजूदगी में भगवा पटका पहना.

    पीएम मोदी और शाह का जताया आभार
    इस दौरान बीजेपी अध्यक्ष नड्डा ने उनका बीजेपी में स्वागत किय़ा. बीजेपी में आने के बाद सिंधिया ने राष्ट्रीय अध्यक्ष नड्डा के साथ पीएम नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह का आभार व्यक्त किया. माना जा रहा है कि उन्हें बीजेपी राज्यसभा में भेज सकती है. साथ ही केंद्र सरकार में मंत्री भी बनाया जा सकता है.

    बदले हुए नजर आए तेवर
    बीजेपी में शामिल होने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया के तेवर बदले हुए नजर आ रहे थे. इस दौरान सिंधिया ने मध्य प्रदेश में किसान और नौजवानों के बेबस होने की बात कही. उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश में रोजगार कम हुआ और करप्शन भी बढ़ा है. उन्होंने अपनी व्यथा भी बताई.

    किसान ऋण नहीं हुआ माफ
    इस दौरान वो उन्होंने कमलनाथ सरकार पर कई आरोप लगाए. उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में सरकार बने 18 महीने होने हो चुके हैं. इससे पहले हमने एक सपना संजोया था, लेकिन किसानों का ऋण माफ नहीं हुआ. 18 महीने में सपने बिखर गए.

    कांग्रेस में रह कर नहीं हो सकती देश सेवा
    इस दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि मेरे जीवन में दो तारीखें बहुत महत्वपूर्ण है. एक 30 सितंबर 2001 जब मैं अपने पिता (माधव राव सिंधिया) को खोया और  दूसरा 10 मार्च 2020 जब मेरे जीवन का नया दौर शुरू हुआ है. उन्होंने कहा कि देश की सेवा कांग्रेस पार्टी में रह कर नहीं की जा सकती थी.

    नड्डा ने राजमाता को किया याद
    वहीं इस मौके पर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि आज हमारे लिए बहुत खुशी का विषय है. इस दौरान नड्डा ने बीजेपी की नेता स्वर्गीय राजमाता सिंधिया को भी याद किया. बता दें, जनसंघ और बीजेपी की स्थापना और विचारधारा के प्रचार प्रसार में इस परिवार का बड़ा योगदान है.



    ये भी पढ़ें: 

    बीजेपी में शामिल होने के बाद बोले ज्योतिरादित्य सिंधिया-मेरा मन दुखी है और व्यथित भी


    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज