• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • MP का सियासी घमासान: फ्लोर टेस्ट से पहले नरेंद्र तोमर के आवास पर जुटे दिग्‍गज, सॉलिसिटर जनरल से की मुलाकात

MP का सियासी घमासान: फ्लोर टेस्ट से पहले नरेंद्र तोमर के आवास पर जुटे दिग्‍गज, सॉलिसिटर जनरल से की मुलाकात

केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) के आवास पर हुई बैठक में मध्‍य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, धर्मेंद्र प्रधान और ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) जैसे दिग्‍गज नेता शामिल हुए.

केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) के आवास पर हुई बैठक में मध्‍य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, धर्मेंद्र प्रधान और ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) जैसे दिग्‍गज नेता शामिल हुए.

केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) के आवास पर हुई बैठक में मध्‍य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, धर्मेंद्र प्रधान और ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) जैसे दिग्‍गज नेता शामिल हुए.

  • Share this:
    भोपाल. मध्य प्रदेश में जारी सियासी उठापटक के बीच बीजेपी ने फ्लोर टेस्ट की तैयारी शुरू कर दी है. केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) के आवास पर विधानसभा में कमलनाथ सरकार (Kamal Nath Government) के फ्लोर टेस्ट को लेकर महत्वपूर्ण बैठक हुई. इसमें पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, धर्मेंद्र प्रधान और ज्योतिरादित्य सिंधिया जैसे दिग्‍गज नेता शामिल हुए. जानकारी के मुताबिक, बैठक के बाद सभी नेताओं ने सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता से मिलने उनके आवास पर भी गए.

    बैठक के बाद बीजेपी के सभी वरिष्‍ठ नेता सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता के आवास पर भी गए. बताया जाता है कि मध्‍य प्रदेश के मौजूदा सियासी संकट पर कोई भी कदम उठाने से पहले बीजेपी नेतृतव सभी कानूनी पहलुओं पर विचार करना चाहती है. इसी सिलसिले में बैठक के बाद सभी नेता सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता से सलाह-मशविरा करने पहुंचे.

    बीजेपी का दावा, अल्पमत में है कांग्रेस सरकार
    इससे पहले मध्य प्रदेश में सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस के विधायकों की खरीद-फरोख्त के आरोप के बाद पार्टी के कुछ विधायकों को अचानक गुरुग्राम पहुंचा दिया गया था. इसके बाद ज्योतिरादित्य माधवराव सिंधिया बीजेपी में शामिल हो गए. यही वजह है कि प्रदेश में कमलनाथ की सरकार पर पूरे देश के लोगों की नजरें टिकी हुई हैं. मध्य प्रदेश बीजेपी के नेता इन घटनाओं के बाद से यह दावा कर रहे हैं कि कांग्रेस सरकार अल्पमत में है और वह बहुमत परीक्षण कराने पर जोर दे रही है.




    16 मार्च को होगा कमलनाथ सरकार का फ्लोर टेस्ट
    मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बीते शुक्रवार को राज्यपाल लालजी टंडन (Lalji Tandon) से मुलाकात की थी. सीएम ने राज्यपाल से मुलाकात के दौरान फ्लोर टेस्ट कराने पर बात की. राज्यपाल ने विधानसभा स्पीकर से कहा है कि सदन में सोमवार को बहुमत परीक्षण कराया जाए. मध्य प्रदेश की सरकार को 16 मार्च को फ्लोर टेस्ट यानी बहुमत परीक्षण से गुजरना होगा.

    राज्यपाल के अभिभाषण के बाद होगा फ्लोर टेस्ट
    राज्यपाल लालजी टंडन ने बहुमत परीक्षण के लिए पत्र लिखकर निर्देश जारी कर दिए हैं. इस पत्र में कहा गया है कि मध्य प्रदेश विधानसभा का सत्र 16 मार्च 2020 को प्रातः 11 बजे से प्रारंभ होगा और मेरे अभिभाषण के तत्काल बाद एकमात्र कार्य विश्वास प्रस्ताव पर मतदान होगा. विश्वासमत, मत विभाजन के आधार पर बटन दबाकर ही होगा और अन्य किसी तरीके से नहीं कराया जाएगा.

    ये भी पढ़ें - 

    जयपुर से भोपाल पहुंचे कांग्रेस के 92 विधायक, एयरपोर्ट से सीधे गए होटल

    बुलेट प्रूफ फाइबर मंदिर पहुंचा राम जन्मभूमि, 25 मार्च को विराजमान होंगे रामलला

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज