लाइव टीवी

पूरा हुआ 'सीधा संवाद' : एक तीर से कई निशाने साध गए ज्योतिरादित्य सिंधिया
Bhopal News in Hindi

Anurag Shrivastav | News18 Madhya Pradesh
Updated: January 17, 2020, 5:04 PM IST
पूरा हुआ 'सीधा संवाद' : एक तीर से कई निशाने साध गए ज्योतिरादित्य सिंधिया
ज्योतिरादित्य सिंधिया भोपाल दौरा पूरा कर विदिशा रवाना

ज्योतिरादित्य सिंधिया (jyotiraditya scindia) सीधा संवाद करने जब पीसीसी दफ्तर (pcc office) पहुंचें,तो वहां उनके समर्थकों की भारी भीड़ थी. सिंधिया को अपना चेहरा दिखाने की होड़ में कार्यकर्ताओं के बीच जमकर धक्का-मुक्की हुई. इसमें पीसीसी हॉल का दरवाजा डैमेज हो गया

  • Share this:
भोपाल. कांग्रेस महासचिव (Congress General Secretary ) ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) का दो दिन का भोपाल (bhopal) दौरा पूरा हो गया. भारी गहमागहमी और मेल-मुलाक़ातों के साथ वो फिर मध्य प्रदेश (madhya pradesh) की राजनीति में अपने क़द का अहसास अपनों और विरोधियों को करा गए. उनके दौरे के दौरान सियासत के गंभीर क्षण भी थे और शादी-ब्याह, टी-पार्टी और डिनर का ज़ायका लेते फुरसत के हल्के-फुल्के पल भी. सीधा संवाद करने वाले ज्योतिरादित्य एक तीर से कई निशाने साध गए.

ज्योतिरादित्य सिंधिया ज़ुबां से से भले ही खुद को राजनेता नहीं जनसेवक कहें, लेकिन उनके इस बेहद तूफानी दौरे के हर पल और उनके हर भाव ने ज़ाहिर कर दिया कि नेता वहीं हैं कल के. वो बता गए कि जनता के मुद्दों के लिए आवाज उठाते रहेंगे.कभी पत्रों के ज़रिए अपनी ही सरकार को कठघरे में खड़े करने वाले सिंधिया ने यह भी जता दिया कि अब राजनीति में उनके बाल भी सफेद होने लगे हैं.और अब उनकी जिम्मेदारी प्रदेश के विकास को लेकर है.सिंधिया ने अपनी ही सरकार के कामकाज के सवाल पर कहा जिन मुद्दों पर प्रदेश में सरकार बनी है उन मुद्दों पर खरा उतरने की चुनौती है. ज्योतिरादित्य ने साफ संकेत दिया कि सत्ता और संगठन में उनका दखल पहले से ज्यादा होगा.

मेरे बाल भी सफेद
ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा राजनीति में अब मेंरे बाल सफेद हो रहे हैं.मैंने कभी अपने लिए कोई मांग नहीं रखी.मेरी जि़म्मेदारी है कि प्रदेश में विकास हो और जिस विश्वास के साथ कांग्रेस ने सरकार बनाई है उस पर खरा उतरना होगा. मैंने जनता की मांग को सदैव उठाया है.

सबसे मेल-जोल
ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस दौरे की ख़ास बात ये रही कि उन्होंने अपनों के साथ विरोधियों को भी शामिल करने की कोशिश की.वो अपने समर्थक गोविंद राजपूत के घर डिनर पर गए और फिर कमलनाथ खेमे के मंत्री सुखदेव पांसे के घर चाय पर भी पहुंचे. इस बार विरोधी खेमा भी उनके साथ नज़र आया.खुलकर तो किसी ने नहीं बोला...लेकिन हर कोई समझ गया कि सिंधिया के पार्टी कद को कम नहीं आंका जा सकता.

साथ आगे बढ़ेंगेमंत्री जीतू पटवारी ने कहा ज्योतिरादित्य सिंधिया पार्टी के नेता हैं और सभी साथ आगे बढ़ेंगे.मंत्री सुखदेव पांसे ने कहा सिंधिया पारिवारिक रिश्तों के कारण आए ये हमारे लिए गर्व की बात है. समर्थक मंत्री तुलसीराम सिलावट ने कहा सिंधिया का दौरा पारिवारिक था. दूसरे समर्थक मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर बोले सिंधिया पार्टी के सर्वमान्य नेता हैं. सबसे मेल मिलाप उनकी पकड़ को बताता है.

विरोधियों से बेहतर रिश्ते
बहरहाल ज्योतिरादित्य सिंधिया लंबे समय बाद पीसीसी दफ्तर भी पहुंचे और अध्यक्ष कमलनाथ के कमरे में कार्यकर्ताओं से मुलाकात की.सिंधिया के राजधानी में सक्रिय होने पर कार्यकर्ता भी खासे उत्साहित दिखे और उन्हें पीसीसी चीफ बनाने के लिए नारेबाज़ी की. दोपहर बाद सिंधिया विदिशा के लिए रवाना हो गए. लेकिन वो एक तीर से कई निशाने साध गए.मसलन अपनों के साथ विरोधियों से भी बेहतर रिश्ते और पीसीसी चीफ के साथ राज्यसभा जाने के लिए भी मज़बूत दावेदारी.

PCC में धक्का-मुक्की
ज्योतिरादित्य सिंधिया सीधा संवाद करने जब पीसीसी दफ्तर पहुंचें,तो वहां उनके समर्थकों की भारी भीड़ थी. कार्यकर्ता काफी उत्साहित थे. उन्होंने ज़ोरदार नारेबाज़ी की. सिंधिया को अपना चेहरा दिखाने की होड़ में कार्यकर्ताओं के बीच जमकर धक्का-मुक्की हुई. इसमें पीसीसी चीफ कमलनाथ के कमरे से लगे हॉल का दरवाजा डैमेज हो गया जिसे बाद में वहां हटाय़ा गया.

ये भी पढ़ें-ऑपरेशन क्लीन : इंदौर में महज़ 10 सेकंड में ढहा दी गई 3 मंज़िला अवैध इमारत

जेल भर्ती घोटालाः MP के पूर्व ADG राजेंद्र चतुर्वेदी को 5 साल की सज़ा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 17, 2020, 5:04 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर