Home /News /madhya-pradesh /

विभाग बंटवारे की माथापच्ची के बीच ज्योतिरादित्य सिंधिया ने CM कमलनाथ को लिखी चिट्टी

विभाग बंटवारे की माथापच्ची के बीच ज्योतिरादित्य सिंधिया ने CM कमलनाथ को लिखी चिट्टी

कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया. फाइल फोटो

कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया. फाइल फोटो

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सीएम कमलनाथ से मांग की है कि व्यापार मेले में शामिल होने वाले ऑटोमोबाइल सेक्टर में बिकने वाली गाड़ियों पर रोड टैक्स में 50 फीसदी छूट की मांग की है.

    ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सीएम कमलनाथ से ग्वालियर व्यापार मेले में फिर से टैक्स में छूट की मांग की है. उन्होंने इस संबंध में कमलनाथ को चिट्टी लिखी है. उन्होंने मेले में बिकने वाली गाड़ियों पर रोड टैक्स में 50% छूट देने की मांग उनसे की है. ज्योतिरादित्य ने आगे लिखा है कि 2003 में सरकार बदलते ही सत्ता में आयी बीजेपी ने ग्वालियर व्यापार मेले को मिलने वाली ये सुविधा ख़त्म कर दी. इसका नतीजा ये हुआ कि मेले में धंधा नुक़सान में चला गया. टर्न ओवर 500 से घटकर 100 करोड़ रुपए पर जा पहुंचा.

    ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सीएम कमलनाथ से  व्यापार मेले में शामिल होने वाले ऑटोमोबाइल सेक्टर में बिकने वाली गाड़ियों पर रोड टैक्स में 50 फीसदी छूट की मांग की है. सिंधिया ने लिखा है कि अगर ऐसा हुआ तो फिर से ग्वालियर व्यापार मेले की लोकप्रियता और बिज़नेस बढ़ेगा.

    अपने पत्र में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ग्वालियर व्यापार मेले के इतिहास का ज़िक्र किया है. उन्होंने लिखा है कि ग्वालियर व्यापार मेला 100 साल से भी ज़्यादा पुराना है. इसकी ख़्याति देशभर में है. यही वजह है कि इस मेले के लिए अलग से ग्वालियर व्यापार मेला प्राधिकरण बनाया गया था. मेले में पूरे देश के कोने-कोने से व्यापारी और ख़रीददार आते हैं. सरकार पहले यहां बिकने वाले सामान पर व्यापारियों को वाणिज्यिक कर में छूट देती थी. लोगों को सस्ते में अच्छा सामान और व्यापारियों को कर से राहत मिलती थी. इसलिए ये मेला बहुत लोकप्रिय था. इसका टर्न ओवर 500 करोड़ रुपए तक जा पहुंचा था.
    LIVE




    Tags: Gwalior news, Jyotiraditya Madhavrao Scindia, Kamal nath, Sales Tax Department, Tax benefit

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर