Rajya Sabha Election: भाजपा की तरफ से सिंधिया और सोलंकी ने मारी बाजी, दिग्विजय इतने वोट से जीते
Bhopal News in Hindi

Rajya Sabha Election: भाजपा की तरफ से सिंधिया और सोलंकी ने मारी बाजी, दिग्विजय इतने वोट से जीते
तीन में भाजपा को दो तो कांग्रेस को मिली एक सीट. (फाइल फोटो)

मध्‍य प्रदेश की तीन राज्‍यसभा सीटों के लिए हुए चुनाव में भाजपा की तरफ से ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) और सुमेर सिंह सोलंकी (Sumer Singh Solanki) ने बाजी मारी है, तो कांग्रेस की तरफ से पहले उम्मीदवार दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने जीत हासिल की है.

  • Share this:
भोपाल. मध्‍य प्रदेश में तीन सीटों के लिए हुए राज्‍यसभा चुनाव का रिजल्‍ट आ गया है. भाजपा की तरफ से ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) और सुमेर सिंह सोलंकी (Sumer Singh Solanki) राज्यसभा चुनाव जीत गये हैं. जबकि कांग्रेस की तरफ से पहले उम्मीदवार दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने जीत हासिल की है. वहीं, कांग्रेस के दूसरे उम्‍मीदवार फूलसिंह बरैया चुनाव हार गये हैं. दिग्विजय लगातार दूसरी बार मध्य प्रदेश से राज्यसभा के लिए निर्वाचित हुए हैं. यही नहीं, जीत के बाद सिंधिया ने भारतीय जनता पार्टी के सम्मानीय विधायकों और पार्टी के शीर्ष नेतृत्व का हृदय से आभार जताया है.

मध्‍य प्रदेश की तीन सीटों पर थे चार उम्‍मीदवार
मध्‍य प्रदेश की तीन राज्‍यसभा सीटों के लिए सत्‍तारूढ़ भाजपा और कांग्रेस में दिलचस्‍प लड़ाई दिख रही थी. हालांकि तीन में से दो पर बीजेपी की जीत पक्की मानी जा रही थी, लेकिन कांग्रेस ने दो उम्‍मीदवार उतार कर मामला पेचीदा बना दिया था. खैर, राज्यसभा चुनाव के लिए बीजेपी और कांग्रेस ने अपने-अपने विधायकों को व्हिप जारी किया और 206 विधायकों ने वोटिंग की.

भाजपा के ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 56 और सुमेर सिंह सोलंकी ने 55 वोट के साथ जीत हासिल की है, तो कांग्रेस के दिग्‍गज नेता दिग्विजय सिंह ने 57 के साथ राज्‍यसभा का टिकट हासिल किया है. जबकि कांग्रेस के दूसरे उम्‍मीदवार फूलसिंह बरैया को सिर्फ 36 वोट मिले और वह चौथे नंबर पर रहे. प्रदेश में इससे पहले दिग्विजय सिंह, प्रभात झा और सत्यनारायण जटिया का कार्यकाल 9 अप्रैल को खत्म हुआ था. उसके बाद ही तीनों सीटें खाली हुई थीं.
राज्यसभा में बीजेपी को 2 वोट का नुकसान : सूत्र


गौरतलब है कि कांग्रेस के पास वर्तमान में 92 विधायक हैं. इनमें से 54 विधायकों को पार्टी के पहली वरीयता वाले उम्मीदवार दिग्विजय सिंह को मतदान करने को कहा गया था. मध्य प्रदेश विधानसभा में कुल 230 सीटें हैं और फिलहाल 24 सीटें रिक्त होने की वजह से विधानसभा की प्रभावी संख्या 206 है. इसमें भाजपा के 107, कांग्रेस के 92, बसपा के दो, सपा का एक और चार निर्दलीय विधायक हैं. इस स्थिति में राज्यसभा में निर्वाचन के लिए किसी भी उम्मीदवार को 52 मतों की जरूरत थी. सूत्रों के मुताबिक राज्‍यसभा चुनाव के दौरान भाजपा को दो वोट को नुकसान हुआ है. विधायक गोपीलाल जाटव ने की क्रॉस वोटिंग की,तो एक अन्‍य विधायक जुगल किशोर बागरी का वोट निरस्त हुआ.



ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जताया पीएम और सीएम का आभार
सिंधिया ने भारतीय जनता पार्टी के सम्मानीय विधायकों और पार्टी के शीर्ष नेतृत्व का हृदय से आभार जताया है. उन्‍होंने कहा कि आपने मुझे मेरे गृह प्रदेश से राज्यसभा के लिए चुनकर जो जिम्मेदारी सौपीं है, मैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मजबूत नेतृत्व, गृह मंत्री अमित शाह और राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के मार्गदर्शन में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ मिलकर मध्य प्रदेश की प्रगति और विकास के लिए अपने पूरे सामर्थ्य से निभाऊंगा. पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को भी धन्यवाद. साथ ही कहा कि कोविड पॉजिटिव होने के कारण मैं आपके समक्ष उपस्थित नहीं हो पाया हूं, लेकिन शीघ्र ही आपके बीच आऊंगा. ईश्वर से कामना है कि आप सभी सुरक्षित रहें, परिवार को भी सुरक्षित रखें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज