कमलनाथ सरकार का पेंशनर्स को तोहफा- 12 फीसदी किया महंगाई भत्ता

कमलनाथ (Kamal Nath) सरकार मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के रिटायर्ड सरकारी कर्मचारियों को 12 फीसदी महंगाई भत्ता (DA) देगी. बढ़ा हुआ भत्ता 1 जनवरी 2019 से दिया जाएगा.

Jitender Sharma | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 26, 2019, 8:44 PM IST
कमलनाथ सरकार का पेंशनर्स को तोहफा- 12 फीसदी किया महंगाई भत्ता
कमलनाथ सरकार ने पेंशनर्स का महंगाई भत्ता 3 फीसदी बढाया
Jitender Sharma | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 26, 2019, 8:44 PM IST
मध्‍यप्रदेश (Madhya Pradesh) के सेवानिवृत्‍त सरकारी कर्मचारियों (पेंशनर्स) को कमलनाथ सरकार (Kamal Nath) ने बड़ी सौगात दी है. पेंशनर्स का महंगाई भत्ता (DA) 3 फीसदी बढ़ा दिया गया है. इसे मिलाकर अब पेंशनर्स का महंगाई भत्ता बढ़कर 12 फीसदी हो गया. प्रदेश के 4 लाख 67 हजार पेंशनर्स को इसका लाभ मिलेगा. एक जनवरी 2018 से 3 प्रतिशत और एक जुलाई 2018 से डीए में 6 प्रतिशत की वृद्धि की गई है.

कमलनाथ सरकार प्रदेश के रिटायर्ड सरकारी कर्मचारियों को 12 फीसदी महंगाई भत्ता देगी. बढ़ा हुआ भत्ता 1 जनवरी 2019 से दिया जाएगा. सरकार ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं. आदेश के अनुसार, सातवें वेतनमान में 3 प्रतिशत महंगाई राहत का इजाफा किया गया है. एक जनवरी 2019 से पेंशनधारकों को 12 फीसदी की दर से महंगाई राहत मिलेगी. वहीं छठे वेतनमान में यह 15 प्रतिशत रहेगी. छठे वेतनमान में महंगाई राहत में वृद्धि दर 6 प्रतिशत और सातवें वेतनमान में 3 प्रतिशत होगी.

बता दें, जनवरी 2018 से पेंशनर्स का डीए पेंडिंग था. पेंशनर्स का डीए बढ़ाने के बाद राज्य सरकार पर हर साल करीब ढाई सौ करोड़ का भार आएगा. सरकार इससे पहले सरकारी कर्मचारियों को 9% डीए देने का ऐलान पहले ही कर चुकी है.

राज्य सरकार ने छठा वेतनमान पाने वाले पेंशनरों और परिवार पेंशनर्स का डीए भी बढ़ा दिया है. एक जनवरी 2018 से 3 प्रतिशत और एक जुलाई 2018 से डीए में 6 प्रतिशत की वृद्धि की गई है.

ये भी पढ़ें- 

प्रज्ञा ठाकुर बोलीं- जादू-टोने से हो रहा BJP नेताओं का निधन!
प्रज्ञा के बयान पर कांग्रेस की सलाह-मंदिर संभालें साध्वी!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 26, 2019, 7:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...