• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • लोकसभा चुनाव से पहले कमलनाथ सरकार का ‘प्लान सिक्सर’, कर्जमाफी के जरिए करेगी ब्रांडिंग

लोकसभा चुनाव से पहले कमलनाथ सरकार का ‘प्लान सिक्सर’, कर्जमाफी के जरिए करेगी ब्रांडिंग

‘प्लान सिक्सर’ के तहत कमल नाथ सरकार लोकसभा चुनाव से पहले अपने फैसलों का प्रचार करेगी. इसके अलावा तहसीलवार सम्मेलन और किसानों को कर्जमाफी के ताम्रपत्र बांटकर वोट बैंक को साधने की कोशिश की जाएगी.

  • Share this:
लोकसभा चुनाव से पहले बड़े वोट बैंक को साधने के लिए मध्यप्रदेश की कमल नाथ सरकार ने ‘प्लान सिक्सर’ तैयार किया है. इस प्लान के तहत सरकार छह दिन में एक बड़ी आबादी को साधने की योजना तैयार की है. इस योजना की शुरूआत 25 फरवरी से होने जा रही है. ‘प्लान सिक्सर’ के तहत कमल नाथ सरकार लोकसभा चुनाव से पहले अपने फैसलों का प्रचार करेगी. इसके अलावा तहसीलवार सम्मेलन और किसानों को कर्जमाफी के ताम्रपत्र बांटकर वोट बैंक को साधने की कोशिश की जाएगी.

मध्यप्रदेश में अपने वायदों को पूरा करने का फैसला लेने के बाद अब कमल नाथ सरकार वायदों को अमल में लाने के लिए सिक्स डे प्लान में जुटने जा रही है. मुख्यमंत्री कमल नाथ ने अपने मंत्रियों को सिक्स डे प्लान में पूरी ताकत झोंकने के निर्देश जारी कर दिए हैं. दरअसल, 22 फरवरी से कांग्रेस सरकार किसानों के खातो में कर्जमाफी की राशि देने जा रही है, लेकिन इसका प्रचार सरकार 25 फरवरी से करेगी.

यह भी पढ़ें-  इंदौर में पाकिस्तानियों को 100 रुपये में मिल रही है भारत की नागरिकता !

मुख्यमंत्री ने मंत्रियों को 25 फरवरी से अपने प्रभार और गृहजिले की हर तहसील में किसान सम्मेलन आयोजित कर किसानों को प्रमाण पत्र देकर कर्जमाफी का प्रचार करने के लिए कहा है. इसके साथ ही मुख्यमंत्री के निर्देश है कि हर मंत्री को अपने जिलेवार किसान सम्मेलन की जानकारी सरकार को देनी होगी. लोकसभा चुनाव की आचार-संहिता लगने से पहले सरकार की कोशिश है कि दो मार्च तक ज्यादा से ज्यादा किसानों के बीच पहुंचकर सरकार की योजना का प्रचार किया जा सके और इसके लिए पूरे छह दिन का टारगेट मंत्रियों को दिया गया है.

यह भी पढ़ें-  शाजापुर के युवक ने फेसबुक पर लिखा ’पाकिस्तान जिंदाबाद’, पुलिस ने किया गिरफ्तार

लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस सरकार के सिक्स डे प्लान पर विपक्ष ने हमला बोला है. नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने वायदा किया था. इस दिन में किसानों का कर्जमाफ होगा, लेकिन दो महीने बाद भी सरकार सिर्फ प्लान बनाने में जुटी है. बहरहाल, राज्य सरकार लोकसभा चुनाव की आचार संहित के पहले पच्चीस लाख किसानों के घर तक पहुंचने के प्लान में जुटी है. कर्जमाफी के प्रमाण-पत्र के जरिए सरकार किसानों को अहसास कराएगी कि अब कमल नाथ सरकार में किसानों के अच्छे दिनों की शुरूआत हो रही है.

यह भी पढ़ें-  पुलवामा हमला: जीवाजी में कश्मीरी छात्रों के खिलाफ ABVP-NSUI का प्रदर्शन

यह भी पढ़ें-  सुर्खियां: उद्योगपतियों से मिलेंगे कमलनाथ, छिंदवाड़ा से लड़ेंगे सीएम

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज