स्वतंत्रता दिवस समारोह में मीसाबंदियों को नहीं आमंत्रित करेगी कमलनाथ सरकार

सरकार के इस बदलाव से जिले के 61 मीसाबंदी प्रभावित होंगे. मंत्री पीसी शर्मा की माने तो स्वतंत्रता दिवस के मौके पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, कारगिल युद्ध में शहीद हुए सैनिकों के परिवार और अन्य गणमान्य व्यक्तियों को सरकार के द्वारा आमंत्रित और सम्मानित किया जाएगा.

News18 Madhya Pradesh
Updated: August 13, 2019, 10:54 AM IST
स्वतंत्रता दिवस समारोह में मीसाबंदियों को नहीं आमंत्रित करेगी कमलनाथ सरकार
स्वतंत्रता दिवस समारोह में मीसाबंदियों को नहीं आमंत्रित करेगी कमलनाथ सरकार
News18 Madhya Pradesh
Updated: August 13, 2019, 10:54 AM IST
मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है. इस बार स्वतंत्रता दिवस समारोह में आपातकाल के दौरान जेल में बंद रहे मीसाबंदियों (लोकतंत्र सेनानियों) को ना तो आमंत्रित नहीं किया जाएगा और ना ही सम्मानित किया जाएगा. सरकार के इस बदलाव से जिले के 61 मीसाबंदी प्रभावित होंगे. मंत्री पीसी शर्मा की माने तो स्वतंत्रता दिवस के मौके पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, कारगिल युद्ध में शहीद हुए सैनिकों के परिवार और अन्य गणमान्य व्यक्तियों को सरकार के द्वारा आमंत्रित और सम्मानित किया जाएगा. उन्होंने कहा कि मीसाबंदियों को स्वतंत्रता संग्राम या देश की किसी भी लड़ाई से कोई लेना देना नहीं है. सरकार ने इस बाबत सभी कलेक्टरों को निर्देश जारी कर दिया है.

मीसाबंदियों को स्वतंत्रता दिवास समारोह में नहीं बुलाएगी कांग्रेस सरकार

पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान के शासनकाल में राष्ट्रीय पर्वों पर आयोजित समारोहों में मीसाबंदियों को खासतौर पर आमंत्रित और सम्मानित किए जाने की व्यवस्था थी. वहीं कांग्रेस की कमलनाथ सरकार ने इस बार उनके सम्मान कार्यक्रम को टाल दिया है. बता दें कि इन्हें मिलने वाली पेशन को जांच के नाम पर रोक लगाने का काम सरकार पहले ही कर चुकी है. मीसाबंदियों को लेकर जीएडी द्वारा जारी किए जाने वाले निर्देशों में 8वें क्रम पर यह निर्देश पिछले साल तक जारी होता रहा है. लेकिन इस साल कलेक्टरों को भेजे गए स्वतंत्रता दिवस समारोह के निर्देश से मीसाबंदियों से संबंधित निर्देश हटा दिए गए हैं.

मीसाबंदियों को स्वतंत्रता संग्राम या देश की किसी भी लड़ाई से कोई लेना देना नहीं है, इसलिए उन्हें कार्यक्रम में नहीं बुलाया जाएगा.


सामान्य प्रशासन विभाग ने जारी किया निर्देश

सामान्य प्रशासन विभाग की ओर से जारी किए निर्देश में मुख्य कार्यक्रम में स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, कारगिल युद्ध में शहीद हुए सैनिकों के परिवारों एवं गणमान्य व्यक्तियों को विशेष रूप से आमंत्रित किया जाएगा. स्वतंत्रता दिवस समारोह में मीसाबंदियों को आमंत्रित नहीं किए जाने पर बीजेपी के पूर्व विधायक और मीसाबंदी शंकरलाल तिवारी ने कहा कि यह कांग्रेस सरकार की ओछी राजनीति है. कमलनाथ सरकार पहले भी पेंशन बंद करवा कर भद् पिटवा चुकी है.

ये भी पढ़ें- मध्य प्रदेश में ख़त्म किए जाएंगे 50 से ज़्यादा कानून!
Loading...

ये भी पढ़ें- चिदंबरम जैसे लोग ही कांग्रेस को और डुबो रहे हैं: शिवराज सिंह
First published: August 13, 2019, 10:47 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...