सीता माता की ‘किडनैपिंग’ की जांच कराएगी कमलनाथ सरकार: शिवराज सिंह चौहान

राम मंदिर को लेकर चल रही बहस के बीच अब प्रदेश की सियासत में सीता मंदिर को लेकर बहस शुरू हो गई है.

News18 Madhya Pradesh
Updated: July 17, 2019, 3:02 PM IST
News18 Madhya Pradesh
Updated: July 17, 2019, 3:02 PM IST
राम मंदिर को लेकर चल रही बहस के बीच अब प्रदेश की सियासत में सीता मंदिर को लेकर बहस शुरू हो गई है. राम मंदिर निर्माण  को लेकर देश में झिड़ी बहस में अब श्रीलंका के दिवूरमपोला में सीता मंदिर बनाने का मामला सामने आ रहा है.  मध्यप्रदेश में इन दिनों कांग्रेस और बेजीपी के नेताओं में राम मंदिर बनाने के लेकर जुबानी जंग झिड़ी हुई है. इसी के चलते मध्यप्रदेश में श्रीलंका में सीता मंदिर बनाने के मुद्दे को लेकर प्रदेश के पी सी शर्मा ने भी मुद्दे को उठाया है. साथ ही शिवराज सिंह ने भी इस मुद्दे को लेकर कई ट्वीट किए.

श्रीलंका भेजकर जांच कराएगी कमलनाथ सरकार

पी सी शर्मा ने कहा कि कहा कि कमलनाथ सरकार एक अधिकारी को श्रीलंका भेजकर इसकी जांच कराई जाएगी कि वहां मंदिर बनाया जाना चाहिए या नहीं. गौरतलब है कि राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने कार्यकाल के दौरान साल 2010 में श्रीलंका में मां सीता का मंदिर बनाने की घोषणा की थी. घोषणा के मुताबिक रावण ने श्रीलंका में जिस स्थान पर मां सीता को रखा था, वहां उनका मंदिर बनाने की बात कही गई थी.

शिवराज सिंह ने सीता मंदिर को लेकर किया था ट्वीट

कांग्रेस नेता पीसी शर्मा को जवाब देते हुए पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को एक ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने लिखा था कि सारा देश, सारी दुनिया जानती है कि सीताजी लंका में अशोक वाटिका में रखी गईं थी और उन्होंने अग्नि-परीक्षा भी दी थी.



सीता मंदिर पर शिवराज सिंह ने कमलाथ सरकार पर साधा निशाना

कांग्रेस नेता पी सी शर्मा के जवाब में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार (17 जुलाई) को ट्वीट कर लिखा, ‘सारा देश, सारी दुनिया जानती है कि सीताजी लंका में अशोक वाटिका में रखी गईं थी और उन्होंने अग्नि-परीक्षा भी दी थी और श्रीलंका में सीता मंदिर का भव्य मंदिर का निर्माण होना चाहिए.

कमलनाथ सरकार ने लोगों की भावनाओं को पहुंचाई ठेस



शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि कमलनाथ सरकार के अफसर श्रीलंका जाकर ”सर्वे” करा कर वेरिफाई करेंगे कि माता सीता का अपहरण हुआ था या नहीं, इससे ज्यादा बड़ा  हास्यास्पद कुछ हो सकता है क्या?. शिवराज सिंह ने कहा कि कमलनाथ सरकार के इस फैसले ने करोड़ों लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है.

यह भी पढ़ें- राहुल के इस्तीफे पर शिवराज का तंज- हारकर मैदान नहीं छोड़े जाते

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 17, 2019, 1:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...