Home /News /madhya-pradesh /

kamal nath will apply prashant kishor formula in mp 2023 assembly election mpsg

कांग्रेस में नहीं आए प्रशांत किशोर लेकिन उनके फॉर्मूले को इस राज्य में अपनाएगी पार्टी, एजेंडा तैयार

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2023 की तैयारी में कांग्रेस विभिन्न कमेटी बना रही है.

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2023 की तैयारी में कांग्रेस विभिन्न कमेटी बना रही है.

MP Political News. प्रशांत किशोर भले ही कांग्रेस में ना आए हों लेकिन उन्होंने पार्टी की मजबूती के लिए जो टिप्स दिए हैं, कमलनाथ के नेतृत्व में प्रदेश कांग्रेस उसे अपनाने के लिए तैयार है. इसकी शुरुआत कमेटी बनाकर की जा रही है. इनमें समन्वय समिति, प्रचार प्रसार समिति, स्ट्रेटेजी समिति के साथ डैमेज कंट्रोल के लिए एक अलग से कमेटी बनायी जा रही है. कांग्रेस की ये कमेटी माइक्रो लेवल पर काम करेंगी. कौन सी कमेटी चुनाव से पहले पार्टी का मास्टर कार्ड बनेंगी. इन कमेटियों के सहारे पार्टी ने अपने नेताओं को साधने की रणनीति तैयार की है. सवाल ये है कि कांग्रेस की इन कमेटियों से क्या उसकी नैया पार हो पाएगी.

अधिक पढ़ें ...

भोपाल. राजनीतिक गलियारों में चर्चित हस्ती प्रशांत किशोर कांग्रेस में भले ही शामिल न हुए हों लेकिन क्या उनके दिए फॉर्मूले की पहली प्रयोगशाला मध्य प्रदेश होने जा रहा है. प्रशांत किशोर ने कांग्रेस में कम्युनिकेशन मज़बूत करने के जो टिप्स दिए हैं क्या उन पर पहले अमल एमपी में लाया जाएगा. क्या वजह है कि 2023 के विधानसभा चुनाव से पहले एमपी में कांग्रेस एक दर्जन कमेटी बना रही है. खास बात ये है कि हर जिले में अलग अलग कमेटी बनायी जाएंगी.

प्रशांत किशोर के टिप्स मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी अपनाने की तैयारी में है. नजर विधानसभा चुनाव पर है और मंजिल सत्ता है. 2018 में चुनाव जीत चुकी कांग्रेस का आत्म विश्वास बढ़ा हुआ है. वो जानती है कि अगर एकजुट हो जाएं, संगठन मजबूत हो और थोड़ी मेहनत कर ली जाए तो सत्ता में वापसी से कोई नहीं रोक सकता. इसलिए पार्टी हर संभव उपाय और सुझाव सलाह मान रही है. ताजा मामला प्रशांत किशोर का है. उन्होंने कांग्रेस की मजबूती के लिए जो टिप्स दिए हैं कमलनाथ के नेतृत्व में प्रदेश कांग्रेस उसे अपनाने के लिए तैयार है. इसकी शुरुआत कमेटी बनाकर की जा रही है. इनमें समन्वय समिति, प्रचार प्रसार समिति, स्ट्रेटेजी समिति के साथ डैमेज कंट्रोल के लिए एक अलग से कमेटी बनायी जा रही है.

क्या है खास
कांग्रेस की ये कमेटी माइक्रो लेवल पर काम करेंगी. कौन सी कमेटी चुनाव से पहले पार्टी का मास्टर कार्ड बनेंगी. इन कमेटियों के सहारे पार्टी ने अपने नेताओं को साधने की रणनीति तैयार की है. सवाल ये है कि कांग्रेस की इन कमेटियों से क्या उसकी नैया पार हो पाएगी. प्रशांत किशोर कांग्रेस के लिए जो प्रजेंटेशन और फॉर्मूला देकर गए हैं क्या उसे अमल में लाने की शुरुआत एमपी से होने जा रही है.

ये भी पढ़ें- कोरोना में जवान बेटे को खो चुके माता पिता ने कन्यादान कर दोबारा बसाया बहू का घर

पीके की नजर में कांग्रेस में दो खामी...
क्या कांग्रेस में 2023 के विधानसभा चुनाव के पहले बनायी जा रहीं एक दर्जन कमेटी पीके के फॉर्मूले पर ही अमल हैं. प्रशांत किशोर की निगाह में कांग्रेस में कॉर्डिनेशन और कम्युनिकेशन दो कमज़ोर कड़ियां रही हैं. पार्टी में उसी मजबूती के लिए समन्वय और प्रचार प्रसार समिति बनाई गई है. स्ट्रेटेजी समिति की वर्किंग क्या होगी. डैमेज कंट्रोल कमेटी पार्टी के भीतर के डैमेज संभालेगी या बाहर के. पार्टी वचन पत्र सलाहकार समिति, प्रशासनिक अत्याचार विरोधी समिति का गठन कर चुकी है.

ये भी पढ़ें- MP में राजद्रोह के 10 केस : सबसे ज्यादा नीमच में, SC के आदेश के बाद हरकत में गृह विभाग

नयी कमेटी नया मर्ज न बन जाएं
उधर बीजेपी सवाल कर रही है कि ये दर्जन भर कमेटी पार्टी के नेताओं के एडजस्टमेंट के लिए हैं क्या. पार्टी ने चुनावी नैया पार लगाने जो कमेटी बनाई हैं वो पार्टी में चुनाव से पहले बवाल का सबब ना बन जाएं. इसमें दो राय नहीं कि कांग्रेस संगठन की मजबूती के लिए और अलग अलग विषयों की संभाल के लिए कमेटियों का गठन जरूरी है. लेकिन कांग्रेस की जो रवायत रही है उसमें ये कमेटियां ही नया मर्ज न बन जाएं.

Tags: Kamal nath, Madhya Pradesh Congress, Prashant Kishore

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर