लाइव टीवी

ट्विटर पर कमलनाथ : 'आज उम्मीद और विश्वास की हार हुई, लोभी-प्रलोभी जीत गए'
Bhopal News in Hindi

News18 Madhya Pradesh
Updated: March 20, 2020, 3:38 PM IST
ट्विटर पर कमलनाथ : 'आज उम्मीद और विश्वास की हार हुई, लोभी-प्रलोभी जीत गए'
ट्विटर पर सीएम कमलनाथ

कमलनाथ ने इस्तीफा देने के बाद ट्वीट कर प्रदेश की जनता को शुक्रिया कहा. उन्होंने लिखा मैं प्रदेश की जनता का धन्यवाद और आभार मानता हूं. जिसने इन 15 महिनों में मुझे पूरा सहयोग दिया. जनता के स्नेह और सहयोग की वजह से ही सरकार ने इन 15 माह में प्रदेश की तस्वीर बदली.

  • Share this:
भोपाल. भारी राजनीतिक तनाव और भागम-भाग के बीच एक तरफ सरकार बचाने की कवायद थी और दूसरी तरफ अपनी बात जनता तक पहुंचाने की फिक्र. कमलनाथ (kamalnath) राजनीतिक मैदान के साथ-साथ सोशल मीडिया पर भी लगातार सक्रिय रहे. जैसे-जैसे राजनीतिक घटनाक्रम आगे बढ़ रहा था वो हर कदम पर अपनी बात ट्विटर पर ज़ाहिर कर रहे थे. इस्तीफा देने के बाद उन्होंने प्रदेश की जनता का शुक्रिया भी अदा किया.

आज इस्तीफा देने के बाद कमलनाथ ने ट्वीट किया- आज मध्यप्रदेश की उम्मीदों और विश्वास की हार हुई है. लोभी और प्रलोभी जीत गए हैं.मध्यप्रदेश के आत्मसम्मान को हराकर कोई नहीं जीत सकता.मैं पूरी इच्छाशक्ति से मध्यप्रदेश के विकास के लिए काम करता रहूंगा.



जनता का धन्यवाद
कमलनाथ ने इस्तीफा देने के बाद ट्वीट कर प्रदेश की जनता को शुक्रिया कहा. उन्होंने लिखा मैं प्रदेश की जनता का धन्यवाद और आभार मानता हूं. जिसने इन 15 महिनों में मुझे पूरा सहयोग दिया. जनता के स्नेह और सहयोग की वजह से ही सरकार ने इन 15 माह में प्रदेश की तस्वीर बदली.



सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर प्रतिक्रिया
इससे पहले गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने फ्लोर टेस्ट का आदेश दिया था. उसके बाद कमलनाथ ने टवीट किया था कि-हम आदेश का और इसके हर पहलू का अध्ययन करेंगे.विधि विशेषज्ञों से चर्चा और सलाह लेकर आगे फैसला करेंगे.

न भाजपा के पास बहुमत, न शिवराज नेता
सत्ता के लिए जारी लड़ाई के बीच कमलनाथ बीजेपी और शिवराज पर तंज कसना भी नहीं भूले. उन्होंने लिखा था, ना अभी भाजपा के पास बहुमत है , ना शिवराज सिंह को भाजपा विधायक दल ने अपना नेता चुना है.लेकिन शिवराज सिंह चौहान की मुख्यमंत्री बनने के लिये हड़बड़ाहट, बेचैनी पूरा प्रदेश देख रहा है.किस प्रकार वो सत्ता के लिये बेचैन हो रहे हैं. उन्हें नींद नहीं आ रही है. दिन में भी मुख्यमंत्री पद के सपने देख रहे हैं.

बेंगलुरू घटना को तानाशाही बताया
इस राजनीतिक घटनाक्रम के दौरान बेंगलुरू में बादी विधायकों से मिलने गए दिग्विजय सिंह की गिरफ्तारी को कमलनाथ ने अभद्र, तानाशाही और हिटलर शाही बताया था. उन्होंने लिखा था पूरा देश आज देख रहा है कि एक चुनी हुई सरकार को अस्थिर करने के लिये किस प्रकार से भाजपा द्वारा लोकतांत्रिक मूल्यों की हत्या की जा रही है.क्यों हमें विधायकों से मिलने नहीं दिया जा रहा है,आख़िर किस बात का डर भाजपा को है ?भाजपा एक गंदा खेल प्रदेश में खेल रही है. लोकतांत्रिक मूल्यों , संवैधानिक मूल्यों व अधिकारो का दमन किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें-

कमलनाथ बोले-आज के बाद कल भी आएगा...यहां पढ़िए प्रेस कॉन्फ्रेंस की प्रमुख बातें

ट्वविटर पर वार-सिंधिया बोले-जनता की जीत, कांग्रेस ने कहा-'बधाई हो माफिया राज'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 20, 2020, 3:38 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर