कमलनाथ सरकार ने किया प्रदेश भर के डॉग स्क्वाड का ट्रांसफर

मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री कमलनाथ के नेतृत्व वाली सरकार ने प्रदेश भर के कुत्तों का ट्रांसफर आदेश निकाला है.

News18 Madhya Pradesh
Updated: July 13, 2019, 4:45 PM IST
कमलनाथ सरकार ने किया प्रदेश भर के डॉग स्क्वाड का ट्रांसफर
कुत्ते को प्र्शिक्षण देता उसका हैंडलर पुलिसकर्मी
News18 Madhya Pradesh
Updated: July 13, 2019, 4:45 PM IST
मध्य प्रदेश में कांग्रेस की नई सरकार ने अधिकारियों और कर्मचारियों का तबादला करने के बाद अब पूरे प्रदेश से कुत्तों का भी ट्रांसफर कर दिया है. सरकार ने पूरे राज्य  से 46 कुत्तों और उनके हैंडलर्स को ट्रांसफर करने का आदेश जारी किया है. इस आदेश में डॉग स्क्वाड की 23वीं बटालियन के ट्रैकर (खोजी), स्नीफर्स (सूंघकर पता लगाने वाले ) और नार्को (मादक पदार्थों का पता लगाने वाले) कुत्तों के हैंडलर्स को नए जिले में अपने कुत्तों के साथ तत्काल योगदान करने का निर्देश दिया है. इस नए तबादला आदेश में छिंदवाड़ा, सतना और बैतूल से एक-एक यानी कुल स्नीफर्स को मुख्यमंत्री आवास पर योगदान करने का निर्देश दिया गया है.

तबादला आदेश जारी होने के बाद कुत्तों को एक जिले से दूसरे जिले ले जाने की तैयारी




बीजेपी ने की तीखी आलोचना
डॉग स्क्वाड के इस ताजा तबादला आदेश पर विपक्षी दल भाजपा को सरकार की तीखी आलोचना करने का मौका मिल गया है. बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लूनावत ने इस प्रकरण पर ट्वीट किया है- कमलनाथ की महान सरकार ने ट्रांसफर बिजनेस में कुत्तों को भी नहीं छोड़ा है. प्रदेश में डॉग स्क्वाड का ट्रांसफर किया गया है.कुत्तों के तबादले पर बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा ने हिन्दी में किए ट्वीट में कहा है कि पुलिस विभाग ने सामूहिक रूप से कुत्तों का ट्रांसफर किया है. सरकार को कम से कम कुत्तों को छोड़ देना चाहिए था. कमलनाथ सरकार के लिए यदि संभव हो और कोई जमीन और आसमान की कीमत देने को तैयार हो तो वह उसका भी ट्रांसफर कर दे.

कुत्तों के साथ पुलिस विभाग ने किया उनके हैंडलर्स का भी तबादला


पंचायत सचिव की जगह सरपंच का किया तबादला
सरकार ने गलती से शुक्रवार को पंचायत सचिव की जगह सरपंच का दबादला कर दिया था. रीवा जिला पंचायत से जुड़े पांच जुलाई के आदेश का हवाला देते हुए देवतलाब के बीजेपी विधायक ने कहा कि शिवपुरा की प्रभारी विभा द्विवेदी की तबादले की जगह सरपंच बिहारी लाल का ट्रांसफर कर दिया गया. उल्लेखनीय है कि सरपंच निर्वाचित पद होता है. बीजेपी इससे पहले मुख्यमंत्री कमलनाथ सरकार के तरत ट्रांसफर रैकेट के फलने-फूलने का आरोप लगा चुकी है.
Loading...

ये भी पढ़ें- MP गजब है: सचिव की जगह कर दिया सरपंच का तबादला, BJP ने घेरा

मध्यप्रदेश में लागू हुआ बच्चों के बस्ते के वजन का नियम
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...