लाइव टीवी

कॉस्मेटिक माफियाओं पर सरकार की टेड़ी नजर, अब करेगी ये काम

Puja Mathur | News18 Madhya Pradesh
Updated: January 14, 2020, 6:37 PM IST
कॉस्मेटिक माफियाओं पर सरकार की टेड़ी नजर, अब करेगी ये काम
कॉस्मेटिक माफियाओं पर कमलनाथ सरकार लेगी एक्‍शन.

प्रदेश में 'शुद्ध के लिए युद्ध' के तहत कमलनाथ सरकार (Kamalnath Government) की कार्रवाई जारी है. जबकि स्वास्थ्य विभाग (Health Department) का छापा अब खाद्य और ड्रग के बाद कॉस्मेटिक सेलर्स पर भी पड़ने को तैयार है.

  • Share this:
भोपाल. मध्‍य प्रदेश में 'शुद्ध के लिए युद्ध' सरकार हर स्तर पर कर रही है. ऐसे में चाहे किसी भी क्षेत्र का माफिया हो कमलनाथ सरकार (Kamalnath Government) उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के मूड में आ चुकी है. स्वास्थ्य विभाग (Health Department) का छापा अब खाद्य और ड्रग के बाद कॉस्मेटिक सेलर्स पर भी पड़ने को तैयार है. सुंदरता बढ़ाने के लिए इस्तेमाल में लाए जाने वाले कॉस्मेटिक प्रोडक्ट (Cosmetic Products) बेचने वालों पर अब खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग अपने कड़ी नजर रखने वाला है. विभाग के अधिकारी अब इन कॉस्मेटिक उत्पादों में हानिकारक रसायनों के मिलावट की जांच करेंगे.

जांच के बाद होगी कार्रवाई
इनके सैंपल लेकर लैब में जांच की जाएगी और मिलावट करने वालों पर शिकंजा कसा जाएगा. स्वास्त्य विभाग को शिकायत मिली है कि कॉस्मेटिक उत्पादों में हानिकारक रसायनों के मिलावट पर प्रभावी नियंत्रण नहीं हो पा रहा है. सस्ते के चक्कर में प्रदेश में मिलावटी नेल पॉलिश, लिपिस्टिक, फेशियल क्रीम जैसे प्रोडक्टस धड़ल्ले से बिक रहे हैं. इसे प्रदेशवासी खरीद तो लेते हैं, लेकिन बाद में इसका खामियाजा भी भुगतते हैं. मिलावटी कॉस्मेटिक लोगों का चेहरा खराब कर रहा है. इन प्रोडक्टस से त्वचा रोग होता है. रोग होने पर चेहरे पर लाल चकत्ते पड़ जाते हैं. दवा करने पर ये लाल चकत्ते तो सही हो जाते हैं लेकिन चेहरा काला हो जाता है. ऐसे में तमाम मरीज ओपीडी में आते हैं, क्योंकि इससे एलर्जी और दूसरे त्वचा रोग के साथ-साथ जाता है. जबकि स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री तुलसी सिलावट भी खासे मुस्‍तैद दिखाई दे रहे हैं.

Bhopal, cosmetic mafia, Tulsi Silawat, भोपाल, कॉस्मेटिक माफिया, तुलसी सिलावट
अस्पतालों से मिली शिकायत पर जागा स्वास्थ्य विभाग.


सरकारी अस्पतालों में बढ़े त्वचा रोग के मरीज
हमीदिया अस्पताल के अधीक्षक अरूण श्रीवास्तव ने बताया कि अस्पताल में इन दिनों त्वचा रोग के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. ये वो मरीज हैं जो मिलावटी कॉस्मेटिक के कारण अपने स्कीन से परेशान हैं. इलाज के लिए आने वाले लोग वो मरीज़ है जिनका मिलावटी कॉस्मेटिक से चेहरा खराब हो गया है. खराब कॉस्मेटिक के इस्तेमाल से त्वचा रोग के पहले चरण में पहले चेहरे पर लाल चकत्ते पड़ जाते हैं,दवा करने पर ये लाल चकत्ते तो सही हो जाते हैं, लेकिन चेहरा काला हो जाता है. मरीजों की लिस्ट में तो कई रोगी ऐसे हैं जिनके फेस पर रिएक्शन इस कदर हावी हुआ की सही समय पर अगर उनको ट्रीटमेंट नहीं मिलता तो उनको कैंसर तक होने का खतरा बढ़ जाता. अस्पताल प्रशासन ने जब ऐसे मरीजों के बारे में स्वास्थ्य विभाग को सूचना दी तो सरकार का अब अगला टारगेट कॉस्मेटिक माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करने का सेट हुआ है.

 ये भी पढ़ें-

'मिस्टर नटवरलाल' का शिकार होने से बचे MLA आकाश विजयवर्गीय, ये है पूरा मामला

 

MP प्रज्ञा ठाकुर लेटर मामले में पुलिस का बड़ा खुलासा, पाकिस्‍तान के इस संगठन ने दी धमकी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 14, 2020, 6:30 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर