लाइव टीवी

नाराज़ कांग्रेस MLA को मनाने पहुंचे मंत्री पीसी शर्मा और गोविंद सिंह, चाय पर की चर्चा

Sharad Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: January 18, 2020, 5:29 PM IST
नाराज़ कांग्रेस MLA को मनाने पहुंचे मंत्री पीसी शर्मा और गोविंद सिंह, चाय पर की चर्चा
डैमेज़ कंट्रोल की कवायद शुरू, नाराज़ विधायक से मिले कमलनाथ सरकार के मंत्री

कांग्रेस विधायक मुन्नालाल गोयल (Munnalal Goyal) की नाराजगी पर अब सरकार ने डैमेज कंट्रोल की कवायद शुरु कर दी है. सरकार के दो मंत्री पीसी शर्मा और डॉक्टर गोविंद सिंह विधायक मुन्नालाल गोयल को मनाने में जुट गए हैं.

  • Share this:
भोपाल. विधानसभा के बाहर धरने के बाद नाराज़ कांग्रेस विधायक मुन्नालाल गोयल को मनाने की कवायद शुरू हो गई है. कमलनाथ सरकार के मंत्री पीसी शर्मा (PC sharma) और डॉक्टर गोविंद सिंह (Dr Govind Singh) उन्हें मनाने जुट गए हैं. जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा के बंगले पर हुई इस मुलाकात में तीनों ने साथ बैठकर पहले चाय पर चर्चा की और फिर गिले शिकवे दूर करने की कोशिश की गई.

'वचन पत्र के वायदे याद दिलाए'
इस दौरान न्यूज़ 18 से खास बातचीत करते हुए विधायक मुन्नालाल गोयल ने कहा कि उनकी नाराजगी किसी से नहीं है. कांग्रेस पार्टी में लोकतंत्र है लिहाजा मैंने गांधीवादी तरीके से अपना विरोध दर्ज कराया. मैंने धरना सरकार के खिलाफ नहीं बल्कि वचन पत्र के वायदों को याद दिलाने के लिए दिया था.

'कांग्रेस विधायकों को बोलने का अधिकार है'

वहीं जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि कांग्रेस विधायकों को बोलने का अधिकार है. अगर कोई अधिकारी किसी विधायक की नहीं सुनेगा तो उसके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा. सरकार से विधायक की नाराजगी जैसी कोई बात नहीं है.

बता दें कि ग्वालियर पूर्व से कांग्रेस विधायक मुन्नालाल गोयल पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के करीबी माने जाते हैं.

ये है MLA गोयल की नाराज़गी का कारण कांग्रेस विधायक मुन्नालाल गोयल इससे पहले शनिवार सुबह 11 बजे विधानसभा पहुंचे. उन्होंने वहां महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया और धरने पर बैठ गए. मुन्नालाल गोयल इस बात से नाराज थे कि सरकार में विधायकों की सुनवाई नहीं हो रही और उनके विधानसभा क्षेत्र में गरीबों पर कड़ाके की ठंड में बुलडोजर चलाए जा रहे हैं. गोयल ने भूमिहीन गरीबों को पट्टे देने के कांग्रेस के वचन की भी चिट्ठी लिखकर सीएम कमलनाथ को याद दिलाई थी. गोयल एडीएम अनूप सिंह द्वारा कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ अभद्र व्यवहार करने से भी नाराज हैं.



MLA मुन्नालाल गोयल ने लिखी थी सीएम को चिट्ठी

18 जनवरी को विधानसभा के बाहर धरना देने से पहले कांग्रेस विधायक मुन्नालाल गोयल ने 17 जनवरी को अपना विरोध दर्ज कराते हुए विधानसभा की कार्यवाही का बहिष्कार कर दिया था. गोयल ने सीएम कमलनाथ को लिखी चिट्ठी में अपनी नाराजगी जाहिर की थी.

ये भी पढ़ें -
BJP सांसद प्रज्ञा ठाकुर को संदिग्ध लिफाफा भेजने के मामले में महाराष्ट्र का डॉक्टर गिरफ्तार
मुंह काला करने की धमकी दी तो पुलिस ने NSUI प्रदेश सचिव को पुराने मामले में जेल भेज दिया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ग्वालियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 18, 2020, 4:17 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर