Home /News /madhya-pradesh /

सुर्खियां: कमलनाथ ने शुरू किया नया वर्किंग कल्चर, एमपी में जानलेवा बनी सर्दी

सुर्खियां: कमलनाथ ने शुरू किया नया वर्किंग कल्चर, एमपी में जानलेवा बनी सर्दी

मुख्यमंत्री कमलनाथ (File Photo)

मुख्यमंत्री कमलनाथ (File Photo)

मध्य प्रदेश में पड़ रही कड़ाके की ठंड को भी अखबारों ने प्रमुखता दी है. 12 से ज्यादा शहरों में तापमान चार डिग्री के नीचे है

    मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने नए वर्किंग कल्चर की शुरुआत की है. दरअसल, मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार छिंदवाड़ा पहुंचे कमलनाथ ने जन सभा संबोधित करते हुए ऐलान किया कि अब से मुख्यमंत्री और मंत्री नहीं बल्कि अधिकारी सरकारी योजनाओं की घोषणा करेंगे. घोषणाएं समय से पूरी न होने पर अधिकारी जवाबदेह होंगे. इतना ही नहीं छिंदवाड़ा में कलेक्टर ने मंच पर 200 करोड़ से ज्यादा के विकास कार्यों की घोषणा की.

    'कमलनाथ ने छिंदवाड़ा से की नए वर्किंग कल्चर की शुरुआत' शीर्षक से दैनिक भास्कर लिखता है मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार अपने गृह नगर छिंदवाड़ा पहुंचे कमलनाथ ने कहा कि मैं अब कोई घोषणा नहीं करूंगा. अफसर ही काम की घोषणाएं करेंगे और वे ही उसे पूरा करने के लिए जिम्मेदार होंगे. अपने करीब 20 मिनट भाषण दिया लेकिन एक भी घोषणा नहीं की. उनकी मौजूदगी में कलेक्टर श्रीनिवास शर्मा ने 268 करोड़ की लागत से होने वाले 33 विकास कार्यों का वचन दिया.

    वहीं मध्य प्रदेश में पड़ रही कड़ाके की ठंड को भी अखबारों ने प्रमुखता दी है. 12 से ज्यादा शहरों में तापमान चार डिग्री के नीचे है. खरगोन और अशोकपुर में ठंड से दो लोगों की मौत हो गई. शनिवार रात को पचमढ़ी में पारा माइनस दो डिग्री रिकॉर्ड हुआ.

    नईदुनिया का पहला शीर्षक है, भोपाल सहित दस जिलों में पाला. इसमें जिक्र है कि मध्य प्रदेश में तापमान गिरने से पाला पड़ने लगा है. रविवार को प्रदेश के 19 स्थानों पर न्यूनतम तापमान पांच डिग्री से कम दर्ज किया गया. सबसे कम तापमान एक डिग्री से कम उमरिया और खजुराहो में रिकॉर्ड किया गया. वहीं ठंड से बचने के लिए मौसम वैज्ञानिक किसानों को विशेष उपाय बता रहे हैं.

    अखबार ने भय्यू महाराज के सेवादार विनायक के हवाले से एक खबर छापी है जिसमें लिखा है कि विनायक ने कबूला महराज के कहने पर करता था करोड़ो रुपए इधर उधर. इसमें जिक्र है कि पुलिस से पूछताछ में उसने यह बात कबूली है.विनायक ने पुलिस को बताया कि महाराज के पास अलग अलग से करोड़ो रूपए आते थे.

    भोपाल से प्रकाशित पत्रिका का भी मुख्य शीर्षक है 'अब मुख्यमंत्री और मंत्री नहीं अफसर करेंगे घोषणाएं. इसमें कमलनाथ का यह बयान प्रमुखता से छापा गया है कि मध्य प्रदेश की जनता घोषणाओं से थक चुकी है. वे प्रदेश के मुखिया के रूप में कोई घोषणाएं नहीं करेंगे. अब अधिकारी ही नई घोषणाएं करेंगे और वे ही उसे पूरा करेंगे.

    यह पढ़ें- कमलनाथ का ऐलान- सीएम और मंत्री नहीं, अधिकारी करेंगे सरकारी योजनाओं की घोषणा

    आपके शहर से (भोपाल)

    भोपाल
    भोपाल

    Tags: Bhopal news, Indore news, Madhya pradesh news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर