कमलनाथ सरकार को रास नहीं आया करगिल युद्ध, कॉलेज सिलेबस से हटाया गया अध्याय

बीजेपी ने आरोप लगाया है कि मध्‍य प्रदेश की कांग्रेस सरकार के इशारे पर कारगिल युद्ध से जुड़े चैप्‍टर को हटाया गया है.

Ranjana Dubey | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 16, 2019, 6:01 PM IST
Ranjana Dubey | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 16, 2019, 6:01 PM IST
करगिल युद्ध को भले ही भारतीय सेना के अदम्य साहस औऱ वीरता की गाथा के लिए याद रखा जाएगा, लेकिन मध्‍य प्रदेश में सरकार बदलते ही पाठ्यक्रम से इससे जुड़े अध्याय को भी बदल दिया गया है. कॉलेज सिलेबस से कारगिल युद्ध से जुड़े पाठ को हटा दिया गया है. इसके पीछे ऐसे तर्क दिए जा रहे हैं जो किसी के गले नहीं उतर रहे.

भोपाल का सबसे पुराना और बड़ा एमवीएम साइंस कॉलेज में सैन्य विभाग भी है. सरकार बदलते ही उसके सिलेबस में भी बदलाव कर दिया गया है. वर्ष 2019-20 के सिलेबस से करगिल वॉर का अध्याय हटा दिया गया है, जबकि 2017-18 के सेशन तक यह पाठ्यक्रम में शामिल था. कॉलेज ने 15 से 20 लोगों की टीम रिव्यू के लिए बनाई थी. इसी टीम ने कोर्स में बदलाव किया है. इसके पक्ष में ऐसे तर्क दिए जा रहे हैं, जो किसी के गले नहीं उतर रहा है. कहा जा रहा है कि करगिल युद्ध की किताबें न मिलने के कारण इसे कोर्स से हटाया गया है. करगिल वॉर पर अच्छे लेखकों की किताबें नहीं हैं. ये अलग बात है कि प्रॉक्सी वॉर के जरिए छात्र-छात्राओं को सारे युद्धों की जानकारी दी जा रही है.

तिलमिलाई बीजेपी
भारतीय सेना की इस विजय गाथा को कोर्स से हटाने पर सियासत भी गर्मा गई है. बीजेपी ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है. पार्टी का कहना है कांग्रेस सरकार के इशारे पर यह किया गया है, क्योंकि प्रदेश सरकार अटल बिहारी वायपेयी के शासनकाल में हुए इस युद्ध की परम वीर गाथा नई पीढ़ी को नहीं बताना चाहती है.

ये भी पढ़ें-सुर्ख़ियां : ताई बोलीं ग़लत था बल्लाकांड, MP में होगा बदलाव

PHOTOS : सिर पर मालवी पगड़ी सजाकर दुबई के लिए उड़ चले यात्री

ये भी पढ़ें-LIVE कवरेज देखने के लिए क्लिक करें न्यूज18 मध्य प्रदेशछत्तीसगढ़ लाइव टीवी
Loading...


News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 16, 2019, 12:10 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...