लाइव टीवी

Ayodhya Verdict: दिग्विजय सिंह ने दी केंद्र को सलाह, मंदिर निर्माण से राजनीतिक दलों के लोगों को दूर रखें

Ashraf Kazmi | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 9, 2019, 7:24 PM IST
Ayodhya Verdict: दिग्विजय सिंह ने दी केंद्र को सलाह, मंदिर निर्माण से राजनीतिक दलों के लोगों को दूर रखें
दिग्विजय सिंह ने कहा कि मंदिर का निर्माण उसके नाम पर जमा धनराशि से हो

अयोध्या मामले (Ayodhya) पर सर्वोच्च अदालत के फैसले के पर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay singh) का बयान आया है. उन्होंने कहा कि वो फैसले का सम्मान करते हैं. उन्होंने इस मामले को लेकर केंद्र सरकार को सलाह दी है.

  • Share this:
नई दिल्ली. अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले को लेकर कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) का रिएक्शन आया है. उन्होंने कहा कि 30 साल पुराना विवाद जो पहले राजनीतिक (Political) नहीं था, उसे राजनीतिक बनाया गया, अब उसका पटाक्षेप हो गया है. उन्होंने कहा कि वो सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं.

दिग्विजय ने दी सलाह
दिग्विजय सिंह ने केंद्र सरकार को सलाह देते हुए कहा कि मंदिर निर्माण से राजनीतिक दलों के लोगों को दूर रखें. उन्होंने कहा कि सरकार, मंदिर के निर्माण में पांचों पीठों के शंकराचार्यों को शामिल करें. दिग्विजय सिंह ने कहा कि राम मंदिर निर्माण के नाम पर जमा हुई धनराशि को सरकारी खजाने में जमाकर उससे ही मंदिर का निर्माण कार्य कराया जाए.

उल्लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में पूरी विवादित जमीन पर रामलला विराजमान का हक माना है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि विवादित जमीन पर रामलला का दावा मान्य है. इस जमीन पर मंदिर निर्माण की रूपरेखा तैयार करने के लिए केंद्र सरकार को तीन महीने में ट्रस्ट बनाने का आदेश दिया गया है. केंद्र सरकार ही ट्रस्ट के सदस्यों का नाम निर्धारित करेगी.

ये भी पढ़ें -
Ayodhya Verdict: सुप्रीम कोर्ट ने रामलला को दी जमीन, हिंदू पक्ष के ये 3 दावे हुए खारिज

Ayodhya Verdict: मायावती ने कहा- आम सहमति से दिए गए ऐतिहासिक फैसले का हो सम्मान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 9, 2019, 6:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...