INCOME TAX RAID: मिशन सीक्रेट रखने के लिए IT अफसरों ने किराए पर ली थीं गाड़ियां
Indore News in Hindi

INCOME TAX RAID: मिशन सीक्रेट रखने के लिए IT अफसरों ने किराए पर ली थीं गाड़ियां
छापेमारी के दौरान प्रयोग में लाई गई गाड़ियां

फिल्मी स्टाइल में आईटी अफसरों ने इंदौर के अलग-अलग ऑपरेटरों से किराए पर टूरिस्ट टैक्सियां ली थीं. बाद में इन्हीं गाड़ियों से वे छापामारी करने पहुंचे. इस इनकम टैक्स रेड का खाका इस तरह बनाया गया था कि सीेएम कमलनाथ को भी इसकी भनक दो घंटे बाद लगी.

  • Share this:
मध्य प्रदेश में सीएम कमलनाथ के करीबियों पर आयकर विभाग की ताबड़तोड़ छापामार कार्रवाई से सियासी पारा चढ़ गया है. आयकर विभाग के अधिकारियों ने बेहद गोपनीय तरीके से इस रेड को अंजाम दिया. फिल्मी स्टाइल में आईटी अफसरों ने इंदौर के अलग-अलग ऑपरेटरों से किराए पर टूरिस्ट टैक्सियां ली थीं. बाद में इन्हीं गाड़ियों से वे छापेमारी करने पहुंचे. इस इनकम टैक्स रेड का खाका  इस तरह बुना गया था कि सीेएम कमलनाथ को भी इसकी भनक दो घंटे बाद लगी. आयकर विभाग के इस छापे में करीब 300 अफसरों- कर्मचारियों ने अपनी भूमिका निभाई. जिन्हें सीआरपीएफ के करीब 300 जवानों और अफसरों वाली टीम ने सुरक्षा प्रदान की.

रेड से पहले किसी को कानोकान खबर नहीं हुई. आयकर अधिकारियों ने आम आदमी की तरह टूर ऑपरेटरों से संपर्क साधा और दर्जनों गाड़ियां किराए पर लीं. इस दौरान टूर ऑपरेटरों को भनक भी नहीं लगी कि उनकी गाड़ियां कौन किराए पर ले रहा है. टूर ऑपरेटरों के होश उस वक्त उड़े जब गाड़ी ड्राइवरों ने फोन कर बताया कि उन्हें छापेमारी के लिए लाया गया है.

ये भी पढ़ें- स्पेशल 26' की तर्ज पर IT अफसरों की रेड, CM कमलनाथ के करीबियों पर ऐसे कसा शिकंजा



दिल्ली से आए इनकम टैक्स के अधिकारी राजधानी भोपाल में छापामार कार्रवाई से पहले टूरिस्ट बनकर शहर में घूमते रहे.  अधिकारियों ने ऐसा इसलिए किया ताकि लोकल इंटेलिजेंस को छापे की भनक न लगे.
बता दें कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के निजी सचिव प्रवीण कक्कड़ के दिल्ली, इंदौर और भोपाल स्थित आवास पर आयकर विभाग ने छापेमारी की है. आईटी विभाग ने सीएम के भांजे रातुल पुरी, सलाहकार आरके मिगलानी, कक्कड़ के करीबी प्रतीक जोशी और अश्विन शर्मा के करीब 50 ठिकानों पर रेड डाली गई है. इस दौरान कार्रवाई में करीब 281 करोड़ रुपये मिलने का अनुमान है.

ये भी पढ़ें- MP: कांग्रेस के विज्ञापनों पर चुनाव आयोग सख्त, 6 में संशोधन करने का दिया निर्देश

जानकारी के मुताबिक इस छापे की तैयारी पिछले 15 दिन से चल रही थी. इस दौरान कई अधिकारी दिल्ली से इंदौर आए और संदिग्धों पर नजर बनाए रखी. जब आयकर विभाग के अधिकारियों ने पूरी इनपुट जुटा ली तब 'स्पेशल 26' की तर्ज पर इस कार्रवाई का फुल प्रूफ प्लान बनाया और इसे अंजाम दिया.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading