Home /News /madhya-pradesh /

विजयलक्ष्मी साधौ : डॉक्टरी की पढ़ाई की और फिर राजनीति में दिलचस्पी ने नेता बना दिया

विजयलक्ष्मी साधौ : डॉक्टरी की पढ़ाई की और फिर राजनीति में दिलचस्पी ने नेता बना दिया

विजयलक्ष्मी साधौ

विजयलक्ष्मी साधौ

2010 में साधौ मध्यप्रदेश से राज्यसभा सांसद चुनी गयीं. वो लगातार 2016 तक इस पद पर रहीं. अपने अब तक के राजनीतिक करियर में वो तमाम सरकारी और विधानसभा समितियों की सदस्य रहीं.

    डॉ विजयलक्ष्मी साधौ का जीवन परिचय कुछ ऐसा ही है. वो एमबीबीएस डॉक्टर हैं. भोपाल के गांधी मेडिकल कॉलेज से उन्होंने एमबीबीएस की डिग्री ली थी. साधौ महेश्वर सीट से चुनकर फिर से विधानसभा पहुंची हैं.

    महेश्वर डॉ विजयलक्ष्मी की जन्मस्थली भी है. 13 नवंबर 1955 को उनका जन्म हुआ था. प्राइमरी और हायर एजुकेशन के बाद वो पीएमटी में सलेक्ट हुईं और भोपाल के गांधी मेडिकल कॉलेज में उन्हें एडमिशन मिला. यहां से उन्होंने एमबीबीएस की डिग्री ली. लेकिन राजनीति में रुचि होने के कारण उन्होंने अपने पेशे की दिशा बदल दी. साधौ 1985 में पहली बार यूथ कांग्रेस की मध्य प्रदेश इकाई की महासचिव बनीं. इस पद पर वो 1992 तक रहीं.

    विजय लक्ष्मी साधौ पहली बार विधानसभा चुनाव के लिए महेश्वर से मैदान में उतरीं और जीत भी गयीं. वो 1985-90, 1993-98, 1998-2003 and 2008-2010 तक लगातार विधानसभा की सदस्य रहीं. 1993 से 1998 तक वो दिग्विज सिंह सरकार में पर्यटन और संस्कृति मंत्री रहीं. 1998 से 2003 तक दिग्विजय सरकार में उन्हें फिर जगह मिली. इस बार वो चिकित्सा शिक्षा, नर्मदा घाटी विकास और समाज कल्याण जैसे विभाग उन्हें दिए गए.

    2010 में साधौ मध्यप्रदेश से राज्यसभा सांसद चुनी गयीं. वो लगातार 2016 तक इस पद पर रहीं. अपने अब तक के राजनीतिक करियर में वो तमाम सरकारी और विधानसभा समितियों की सदस्य रहीं.
    LIVE



    Tags: Kamal nath, Know Your Leader, Madhya Pradesh Assembly, Madhya pradesh news, Senior congress leader

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर