हिना कांवरे जिनके लिए कांग्रेस ने तोड़ी विधानसभा और पार्टी की परंपरा
Bhopal News in Hindi

हिना कांवरे जिनके लिए कांग्रेस ने तोड़ी विधानसभा और पार्टी की परंपरा
हिना कांवरे

हिना के सामने उपाध्यक्ष पद के लिए भाजपा से जगदीश देवड़ा थे. रोचक बात ये है जगदीश देव़ड़ा भी परिवहन मंत्री रह चुके हैं और उनके पिता लिखी राम भी परिवहन मंत्री थे.

  • Share this:
हिना कांवरे मध्य प्रदेश की 15 वीं विधानसभा की उपाध्यक्ष बनायी गयी हैं. उनके चुनाव के साथ ही विधान सभा और पार्टी की बरसों पुरानी परंपरा टूट गयी. उनके चुनाव के साथ ही विपक्ष की झोली में जाने वाला उपाध्यक्ष का पद सत्ता पक्ष के खाते में चला गया. साथ ही कांग्रेस ने पहली बार किसी महिला को उपाध्यक्ष बनाया है.

अब जानते हैं कि आख़िर हिना कांवरे हैं कौन? वो कांग्रेस के पूर्व नेता और मंत्री स्व.लिखीराम कांवरे की बेटी हैं. लिखीराम दिग्विजय सिंह सरकार में मंत्री थे. नक्सलियों ने उनकी हत्या कर दी थी. हिना अब अपने पिता की विरासत संभाल रही हैं. वो बालाघाट ज़िले की लांजी विधान सभा सीट से विधायक हैं. हिना इस सीट से दूसरी बार विधायक चुनी गयी हैं.

ये भी पढ़ें -बीजेपी ने कहा-ये लोकतंत्र के इतिहास का काला दिन, राष्ट्रपति से करेगी शिकायत



विधान सभा चुनाव में उन्होंने भाजपा के रमेश भटेरे को शिकस्त दी है. साल 2018 के विधानसभा चुनाव में हिना को स्वर्गीय पिता लिखीराम कांवरे की विरासत का लाभ भी मिला है. पार्टी के स्थानीय नेताओं के समर्थन के चलते ही हिना ने भाजपा नेता कड़ी टक्कर दी और ऐतिहासिक रूप से जीत हासिल की है.




हिना कांवरे का जन्म 12नवंबर 1984 को हुआ था. वो फिलॉसफी में डॉक्टरेट कर चुकी हैं. हिना कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की टीम की सदस्य हैं. वो पार्टी की प्रवक्ता भी रह चुकी हैं.हिना के सामने उपाध्यक्ष पद के लिए भाजपा से जगदीश देवड़ा थे. रोचक बात ये है जगदीश देव़ड़ा भी परिवहन मंत्री रह चुके हैं और उनके पिता लिखी राम भी परिवहन मंत्री थे.
LIVE




अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading