Home /News /madhya-pradesh /

ladki hun lad sakti hun setback the results of up elections congress will not run this campaign in mp mpsg

प्रियंका गांधी के अभियान को मध्य प्रदेश महिला कांग्रेस ने किया डंप, नाम लेने से भी परहेज

MP Political Samachar. प्रियंका गांधी ने महिलाओं के वोट को रिझाने के लिए लड़की हूं लड़ सकती हूं अभियान को जोर-शोर के साथ चलाया. इस अभियान को 2023 के चुनाव से पहले कांग्रेस ने पूरे एमपी में चलाने का फैसला किया था.

MP Political Samachar. प्रियंका गांधी ने महिलाओं के वोट को रिझाने के लिए लड़की हूं लड़ सकती हूं अभियान को जोर-शोर के साथ चलाया. इस अभियान को 2023 के चुनाव से पहले कांग्रेस ने पूरे एमपी में चलाने का फैसला किया था.

Ladki hun lad sakti hun : उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव प्रचार में कांग्रेस की कमान पूरी तरह से कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के हाथों में थी. प्रियंका गांधी ने महिलाओं के वोट को रिझाने के लिए लड़की हूं लड़ सकती हूं अभियान को जोर-शोर के साथ चलाया और इस अभियान को 2023 के चुनाव से पहले कांग्रेस ने पूरे एमपी में चलाने का फैसला किया था. लेकिन यूपी चुनाव में कांग्रेस मुंह के बल गिर पड़ी. उसकी सीटें 7 से घटकर सिर्फ 2 रह गयीं. इसके बाद मध्य प्रदेश कांग्रेस का भी जोश ठंडा पड़ गया. कांग्रेस को अब एक वर्ग विशेष को छोड़ सभी को साथ लेकर चलाने वाले अभियान की तलाश है.

अधिक पढ़ें ...

भोपाल. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Congress General Secretary Priyanka Gandhi) के महत्वाकांक्षी अभियान- लड़की हूं लड़ सकती हूं (Ladki hun lad sakti hun) , को मध्य प्रदेश कांग्रेस ने डंप कर दिया है. यहां ये अभियान नहीं चलाया जाएगा. उत्तर प्रदेश के चुनाव परिणाम से घबरायी मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी इसका नाम भी लेने से कतरा रही है.

उत्तर प्रदेश के चुनाव में जोर-शोर के साथ चलाए गए कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी के लड़की हूं लड़ सकती हूं अभियान के फ्लॉप शो के बाद मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने भी अभियान से अपने हाथ पीछे खींच लिए है. इस अभियान के जरिए यूपी के चुनाव में आधी आबादी को साधने की कोशिश कांग्रेस पार्टी ने की थी. यूपी में अभियान को मिल रहे समर्थन से उत्साहित होकर मध्य प्रदेश में भी महिला कांग्रेस ने इसे अपनाने का प्लान बना लिया था. नजर थी 2023 के चुनाव से पहले बड़ी आबादी पर. लेकिन दो बड़े झटकों के बाद एमपी महिला कांग्रेस ने अब इस अभियान से हाथ पीछे खींच लिए हैं. यूपी में प्रियंका गांधी के अभियान का नतीजा यह निकला कि पार्टी को सिर्फ 2 सीटें हासिल हुईं.

धरातल पर नजर नहीं आ रहा अभियान
एमपी में महिला कांग्रेस की तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष अर्चना जायसवाल ने इस अभियान की शुरुआत की थी. लेकिन प्रदेश महिला कांग्रेस कार्यकारिणी भंग हो जाने के बाद अभियान लगभग खत्म हो गया है. अब एमपी महिला कांग्रेस की कमान विभा पटेल के हाथ में है और महिला कांग्रेस इस अभियान से दूरी बनाती हुई नजर आ रही है. एमपी महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष विभा पटेल ने कहा जिस महिला ने जिंदगी में संघर्ष करके मुकाम हासिल किया है ऐसी महिलाओं को जोड़ने के लिए अभियान चलाया जा रहा है. लेकिन अभियान कहीं नजर नहीं आ रहा इस सवाल पर विभा पटेल साफ तौर पर कुछ कहने से बचती हुई नजर आयीं.

ये भी पढ़ें- इन बिल्डर्स से न खरीदें जमीन या मकान, 4 पर FIR और 7 पर लगा दिया गया है बैन

नये अभियान की तलाश
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव प्रचार में कांग्रेस की कमान पूरी तरह से कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के हाथों में थी. प्रियंका गांधी ने महिलाओं के वोट को रिझाने के लिए लड़की हूं लड़ सकती हूं अभियान को जोर-शोर के साथ चलाया. इस अभियान को 2023 के चुनाव से पहले कांग्रेस ने पूरे एमपी में चलाने का फैसला किया था. लेकिन यूपी चुनाव में कांग्रेस मुंह के बल गिर पड़ी. उसकी सीटें 7 से घटकर सिर्फ 2 रह गयीं. इसके बाद मध्य प्रदेश कांग्रेस का भी जोश ठंडा पड़ गया. कांग्रेस को अब एक वर्ग विशेष को छोड़ सभी को साथ लेकर चलाने वाले अभियान की तलाश है. मतलब साफ है कि सिर्फ महिला वोटरों के सहारे नहीं पार्टी अपने पुराने नारे सबका साथ के साथ आगे बढ़ने की तरफ नजर आ रही है.

Tags: Kamal nath, Madhya pradesh latest news, MPCC, Priyanka gandhi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर