चुनावी साल में BJP के मंत्रियों को याद आए भगवान

गांव हो या शहर, कहीं नेताओं की अगुवाई में धार्मिक यात्रा निकाली जा रही है तो कहीं नेता रामायण और भागवत कथा के रंग में रंगे हुए हैं.

Anurag Shrivastava | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: February 13, 2018, 4:43 PM IST
चुनावी साल में BJP के मंत्रियों को याद आए भगवान
बीजेपी और कांग्रेस नेता खुद की हिंदुत्व छवि को चमकाने की कवायद में जुटे हैं
Anurag Shrivastava | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: February 13, 2018, 4:43 PM IST
मध्य प्रदेश में होंने वाले विधानसभा चुनाव से पहले खुद को हिंदू ब्रांड बताने की कवायद तेज हो गई है. बीजेपी और कांग्रेस नेता खुद की हिंदुत्व छवि को चमकाने की कवायद में जुटे हैं. गांव हो या शहर कहीं नेताओं की अगुवाई में धार्मिक यात्रा निकाली जा रही है तो कहीं नेता रामायण और भागवत कथा के रंग में रंगे हुए हैं.

प्रदेश के मंत्री उमाशंकर गुप्ता सिर पर कलश रख पैदल यात्रा कर रहे हैं. अपने विधानसभा क्षेत्र में हो रहे धार्मिक आयोजनों में मंत्री आम श्रद्धालु की तरह इन दिनों नजर आ रहे है. कहीं शिवकथा का आयोजन, कहीं भागवत कथा और कहीं कलश यात्रा मंत्री भक्तों की भीड़ में झूमते नाचते नजर आ रहे हैं.

ये हाल अकेले मंत्री उमाशंकर गुप्ता का नहीं है. शिवराज सरकार के ज्यादातर मंत्री इन दिनों किसी न किसी धार्मिक आयोजन में व्यस्त है. मंत्री गौरीशंकर बिसेन बालाघाट में भागवत कथा करा रहे हैं तो भोपाल में मंत्री विश्वास सारंग अपनी विधानसभा के धार्मिक आयोजनों में व्यस्त है.

मंत्री गोपाल भार्गव शिव अभिषेक में लीन है है तो उच्च शिक्षा मंत्री जयभान सिंह पवैया 17 फरवरी से राष्ट्रीय रामायण मेला की तैयारियों में व्यस्त हैं. वहीं प्रदेश के मुखिया शिवराज भी पूजा-पाठ करते दिख रहे हैं. हर कोई अपने क्षेत्र में बड़े धार्मिक आयोजनों के जरिए खुद को हिंदु ब्रांड बताने और अपनी हिंदुत्व छवि को चमकाने में जुटा है.

बीजेपी नेता धार्मिक आयोजनों में व्यस्त है तो कांग्रेस भी पीछे नहीं है. गुजरात में साफ्ट हिंदुत्व के जरिए बीजेपी की मुश्किलें बढ़ाने वाली कांग्रेस खुलकर राम के जयकारे लगा रही है, तो नेता भी खुद को बीजेपी से बड़े हिंदुत्व ब्रांड पेश करने में जुट गये हैं.

प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में हिंदुत्व एक बड़ा मुद्दा बनना तय है और गुजरात चुनाव में 27 मंदिरों के दर्शन कर राहुल गांधी अंदाज़ कांग्रेस बयां कर चुके हैं. ऐसे में अब चुनावी समर में कूदने से पहले बीजेपी और कांग्रेस के नेता खुद को हिंदु ब्रांड बताने में जुट गये हैं.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर